हमेशा के लिए विदा हो गया हर दिल अजीज, हंसमुख, मिलनसार, मस्तमोला मोती लाल जैन

शि.वा.ब्यूरो, देहरादून। हरदिल अजीज हंसमुख, मिलनसार और मस्तमोला एनआईएस कोच मोती लाल जैन के दुखद स्वर्गवास से खेल जगत में जो रिक्तता आई है, उसी क्षति पूर्ति होना सम्भव नहीं है, लेकिन सबर तो करना ही पडेगा। यह कहना है उत्तराखण्ड़ के नेशनल फुटबाॅल कोच, क्लास वन रैफरी व राष्ट्रीय-अन्तर्राष्ट्रीय अनेक अवार्ड से सम्मानित प्रख्यात् समाजसेवी वीरेन्द्र रावत का। श्री रावत ने बताया कि मोती लाल जैन आज हमारे बीच नहीं रहे, लेकिन उनकी यादे हमेशा बहुत लोगों के दिलों में जिन्दा रहेंगी। उन्होंने बताया कि श्री जैन के साथ…