Tag: #mznnews

योग

मन की बात

समाज में व्यवस्था रहे, कुछ नियम बनाये है, स्त्री के दायित्व हैं, पुरूषों को नियम बताये हैं। हैं समाज में ...

योग

योग

निज स्वास्थ्य हित, योग को अपनाइए, मानव कल्याण हो, योग को बतलाइए। सर्वे सन्तु निरामया, संस्कृति का आधार, स्वस्थ तन ...

वह दौर पुराना

रिश्तों की डोर

रिश्तों की डोर यदि कच्ची होगी, तन्हाई में याद कहाँ सच्ची होगी? पड़े सामने दिया उलाहना मीठी बातें, ऐसे लोगों ...

वह दौर पुराना

जीवन का सार

हम धनवान हों, सबको अच्छा लगता है, सीमाएँ क्या होंगी, कोई तो बतलाओ? धन से कितनी संतुष्टि, ख़ुशियाँ मिलती, धन ...

योग

जिंदगी

जिंदगी कभी बेरुखी नहीं दिखाती, समझने का अंदाज जुदा होता है, रोज जिंदगी मिलती मोहब्बत से, पहचानने का अंदाज जुदा ...

मिल्खा सिंह

कौन कहता है

कौन कहता है पत्थरों में गीत नहीं होता, कठोरता के बीच मधुर संगीत नहीं होता? होता है बहुत कुछ पत्थर ...

Page 1 of 143 1 2 143

Welcome Back!

Login to your account below

Retrieve your password

Please enter your username or email address to reset your password.