साहित्य कला संवाद के कारवां के 466वें एपिसोड में अनुपम खेर ने साँझा की अनटोल्ड स्टोरी, कहा- मेरे बेहतरीन सालों की नींव शिमला की उर्वर भूमि में ही पड़ी थी

शि.वा.ब्यूरो, शिमला। कला संस्कृति भाषा अकादमी के साहित्य कला संवाद के कारवां के 466वें पड़ाव में इस बार अनुपम खेर से चर्चा की गई। उन्होंने कहा कि तरक्की चाहे मैंने शिमला के बाहर प्राप्त की हो, लेकिन उस तरक्की की बुनियाद शिमला में ही पड़ी थी। यहां के पहाड़ों इन वादियों ने उन्हें सपने देखना सिखाया। पहाड़ों ने उनके जीवन में दृढ़ता और स्थिरता का भाव पैदा किया। अनुपम ने कहा कि जीवन में उपलब्धियों के बाद भी सादगी होनी चाहिए, जो शिमला शहर और हिमाचल की आंचलिकता में रची…

विशेष ओलंपिक भारत की अध्यक्ष डाॅ. मल्लिका नड्डा का दो टूक: हिमाचल प्रदेश में क्लीनिकल साईकोलाॅजिस्ट और फिजियोथैरेपिस्ट की कमी को पूरा किया जाना आवश्यक

शि.वा.ब्यूरो, शिमला। हिमाचल प्रदेश में क्लीनिकल साईकोलाॅजिस्ट और फिजियोथैरेपिस्ट की कमी को पूरा किया जाना आवश्यक है ताकि दिव्यांगजनों को इनकी सेवाओं से वंचित न रहना पडे़। विशेष ओलंपिक भारत की अध्यक्ष डाॅ. मल्लिका नड्डा ने कला संस्कृति, भाषा अकादमी के साहित्य कला संवाद के दौरान चर्चा में यह विचार व्यक्त किए। डाॅ. मल्लिका नड्डा ने बताया कि विलम्बित दिव्यांग अधिकार कानून दिसम्बर, 2016 में लागू किया गया, जिसके तहत दिव्यांगजनों को आधारभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाने के प्रति बल दिया गया। इसके तहत 3 प्रतिशत से बढ़ाकर इनके लिए 4…

साहित्य कला संवाद की 443वीं कड़ी: काव्य के रंग, कुवैत में बसे भारतीय साहित्यकारों के संग

शि.वा.ब्यूरो, शिमला। साहित्य से जुड़े देश के विभिन्न प्रान्तों के भारतीय मूल के लोग साहित्य मंच कुवैत के माध्यम से कुवैत में अपनी संस्कृति संस्कार और भाषा की निरन्तरता व संचार को बनाए रखने के लिए कृत संकल्प है। हिमाचल प्रदेश भाषा, कला एवं संस्कृति अकादमी के साहित्य कला संवाद की 443वीं कड़ी (काव्य रंग कुवैत में भारतीय साहित्यकारों के संग) कवि सम्मेलन कार्यक्रम का संचालन करते हुए डाॅ. राधिका गुलेरी ने यह विचार व्यक्त किए। साहित्य कला संवाद की इस कड़ी में कुवैत में रह रहे भारतीय मूल के…

लेखकों कलाकारों के लिए समर्पित रहेगा साहित्य कला का संवाद कार्यक्रम

डॉ. कर्म सिंह, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी शिमला द्वारा कोरोना महामारी के चलते पिछले वर्ष 24 मई 2020 से साहित्य कला संवाद कार्यक्रम के प्रसारण की शुरुआत की गई थी। अकादमी का यह कार्यक्रम फेसबुक पेज और यूट्यूब चैनल पर रोजाना 7.00 बजे नियमित रूप से प्रसारित हो रहा है। साहित्य कला संवाद कार्यक्रम के अंतर्गत अभी तक लगभग 500 कार्यक्रम सफलतापूर्वक आयोजित किए जा चुके हैं, जिसमें प्रदेश, देश और विदेश से साहित्यकारों, कलाकारों का भरपूर योगदान, समर्थन, सहयोग और आशीर्वाद प्राप्त होता रहा…

युवाओं के लिए मार्गदर्शक रहा हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी शिमला का 431वां एपिसोड

हवलेश कुमार पटेल, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी शिमला के यूट्यूब चैनल साहित्य कला अकादमी व फेसबुक पेज HPCAC अकादमी पर लाईव प्रसारित लगभग डेढ़ घंटे के 431वें एपिसोड में युवाओं के आईकाॅन बने भारतीय राष्ट्रीय कबड्डी टीम के पूर्व कप्तान, पदमश्री अजय ठाकुर ने जिस बेबाकी से अपनी सफलता-असफलता के बारे में बताया और जिज्ञासुओं के सवालों के जवाब दिये, उससे ये बात तो साफ हो गयी कि अजय ठाकुर न केवल युवाओं के आईकाॅन हैं, बल्कि छोटे-छोटे बालक-बालिकाओं सहित प्रौढ़ युवाओं की भी पहली…

श्रीराम मंदिर से राष्ट्रमंदिर निर्माण

हितेन्द्र शर्मा, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र।  मंदिर हमारी धार्मिक आस्थाओं को सुरक्षित रखने के सबसे बड़े स्रोत हैं। मंदिरों से हमारी भावनाएं जुड़ी होती हैं। हम अपने ईश्वर को साक्षी मानते हैं और सर्वदा अपनी संस्कृति के अनुसार मनुष्य के श्रेष्ठ आचरणों को अपनाने के लिए सर्वदा संकल्पित रहते हैं। भारतीय संस्कृति में धर्म की अवधारणा मनुष्य को मनुष्य से जोड़ने की रही है। पूरा विश्व सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्वे सन्तु निरामयाः। सर्वे भद्राणि पश्यन्तु मा कश्चित् दुःख भाग्भवेत्।। इस अत्यंत पवित्र और उत्तम विचारधारा के समक्ष नतमस्तक होता है।…

शानदार रहा साहित्य कला संवाद का वार्षिक सफर

शि.वा.ब्यूरो, शिमला। हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी के फेसबुक, यू ट्यूब लाइव कार्यक्रम की वर्षगाँठ पर आयोजित क्या खोया क्या पाया जैसे विश्लेषण परक कार्यक्रम में उपस्थित प्रबुद्ध विचारकों ने एकमत से यह यथार्थ स्वीकार किया कि ‘साहित्य कला संवाद’ का यह वर्ष भर का कार्यक्रम सचमुच बेहद शानदार रहा।     आज के इस कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए अकादमी सचिव डा.कर्मसिंह ने सभी सहभागियों का स्वागत करते हुए अपनी आरम्भिक कठिनाइयों से रू-ब-रू कराते बताया कि 24 मई 2020 को आरम्भ हुआ यह नया प्रयोग सचमुच एक चेलैंज…

युवाओं के प्रेरणास्रोत बने किंगल के हितेन्द्र शर्मा (जन्मदिन 19 मई पर विशेष)

हवलेश कुमार पटेल, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। शिमला की तहसील कुमारसैन स्थित गांव किंगल निवासी हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी शिमला के सदस्य व साहित्य कला संवाद के सम्पादक हितेन्द्र शर्मा आज किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। स्वभाव व पेशे से पत्रकार, लेखक, कवि व किसान हितेन्द्र साहित्य कला संवाद के माध्यम से न केवल हिमाचली लोक कला, साहित्य व संस्कृति का पोषण एवं प्रचार-प्रसार कर रहे हैं, बल्कि समसामयिक सरोकारों के प्रति जनजागरण का काम भी बखूबी कर रहे हैं। समाजसेवी के रूप में हितेन्द्र शर्मा विभिन्न समाजिक…

हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी के तत्वाधान में युवा साहित्य कला संवाद आयोजित

राजीव डोगरा ‘विमल’, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी द्वारा रविवार 9 मई को ऑनलाइन युवा साहित्य कला संवाद का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता अकादमी के सचिव कर्म सिंह व रविता चौहान ने किया। कार्यक्रम का आयोजन युवा साहित्य कला संवाद के संपादक हितेन्द्र शर्मा ने किया। युवा साहित्य कला संवाद में हिमाचल के युवा कवि व कवित्रियों ने भाग लिया, जिसमें की रविता चौहान जिला सिरमौर, रेखा ठाकुर जिला शिमला, प्रियंका नेगी जिला किन्नौर, उत्तम सूर्यवंशी जिला चंबा और राजीव डोगरा जिला कांगड़ा से…

विशेष फल देता है नवरात्रि में सिद्धीदात्री मां तारा का पूजन

प्रीति शर्मा “असीम”, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। हिमाचल प्रदेश देवभूमि के नाम से जाना जाता है। हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले में नालागढ़ तहसील में पहाड़ी के ऊपर मां तारा देवी का कुदरत की वादियों में एक छोटा सा प्राचीन मंदिर है। जीवनदायिनी मनोकामनाएं पूर्ण करती मां तारा नालागढ़ शहर अपनी गोद में बिठाए विराजमान हैं। मां तारा ज्ञान और गुप्त विद्याओं की अधिष्ठात्री देवी है। आजकल गुप्त नवरात्रि चल रहे है। मां का पूजन करने वाले को बुद्धि विद्या और शत्रु का कभी भय  नहीं होता मां तारा का…