लेखकों कलाकारों के लिए समर्पित रहेगा साहित्य कला का संवाद कार्यक्रम

डॉ. कर्म सिंह, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी शिमला द्वारा कोरोना महामारी के चलते पिछले वर्ष 24 मई 2020 से साहित्य कला संवाद कार्यक्रम के प्रसारण की शुरुआत की गई थी। अकादमी का यह कार्यक्रम फेसबुक पेज और यूट्यूब चैनल पर रोजाना 7.00 बजे नियमित रूप से प्रसारित हो रहा है। साहित्य कला संवाद कार्यक्रम के अंतर्गत अभी तक लगभग 500 कार्यक्रम सफलतापूर्वक आयोजित किए जा चुके हैं, जिसमें प्रदेश, देश और विदेश से साहित्यकारों, कलाकारों का भरपूर योगदान, समर्थन, सहयोग और आशीर्वाद प्राप्त होता रहा…

युवाओं के लिए मार्गदर्शक रहा हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी शिमला का 431वां एपिसोड

हवलेश कुमार पटेल, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी शिमला के यूट्यूब चैनल साहित्य कला अकादमी व फेसबुक पेज HPCAC अकादमी पर लाईव प्रसारित लगभग डेढ़ घंटे के 431वें एपिसोड में युवाओं के आईकाॅन बने भारतीय राष्ट्रीय कबड्डी टीम के पूर्व कप्तान, पदमश्री अजय ठाकुर ने जिस बेबाकी से अपनी सफलता-असफलता के बारे में बताया और जिज्ञासुओं के सवालों के जवाब दिये, उससे ये बात तो साफ हो गयी कि अजय ठाकुर न केवल युवाओं के आईकाॅन हैं, बल्कि छोटे-छोटे बालक-बालिकाओं सहित प्रौढ़ युवाओं की भी पहली…

मृत्यु

राजीव डोगरा ‘विमल’, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। मृत्यु क्षण-क्षण घूम रही दिखाकर ख़ौफ़ न जाने क्यों ? इस धरा को चूम रही। न जात देख रही है न धर्म देख रही है, बस हर किसी को अपनी क्रूर नज़रों से चूर कर रही है। किसी बिगड़े हुए आशिक की तरह, न किसी की सुनती है न किसी की मानती हैं। अपनी ही निगाहों से अपनी ही मर्जी से हर किसी को घूर रही हैं। युवा कवि, लेखक एवं भाषा अध्यापक गवर्नमेंट हाई स्कूल ठाकुरद्वारा (कांगड़ा) हिमाचल प्रदेश

युवाओं के प्रेरणास्रोत बने किंगल के हितेन्द्र शर्मा (जन्मदिन 19 मई पर विशेष)

हवलेश कुमार पटेल, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। शिमला की तहसील कुमारसैन स्थित गांव किंगल निवासी हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी शिमला के सदस्य व साहित्य कला संवाद के सम्पादक हितेन्द्र शर्मा आज किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। स्वभाव व पेशे से पत्रकार, लेखक, कवि व किसान हितेन्द्र साहित्य कला संवाद के माध्यम से न केवल हिमाचली लोक कला, साहित्य व संस्कृति का पोषण एवं प्रचार-प्रसार कर रहे हैं, बल्कि समसामयिक सरोकारों के प्रति जनजागरण का काम भी बखूबी कर रहे हैं। समाजसेवी के रूप में हितेन्द्र शर्मा विभिन्न समाजिक…

हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी के तत्वाधान में युवा साहित्य कला संवाद आयोजित

राजीव डोगरा ‘विमल’, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी द्वारा रविवार 9 मई को ऑनलाइन युवा साहित्य कला संवाद का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता अकादमी के सचिव कर्म सिंह व रविता चौहान ने किया। कार्यक्रम का आयोजन युवा साहित्य कला संवाद के संपादक हितेन्द्र शर्मा ने किया। युवा साहित्य कला संवाद में हिमाचल के युवा कवि व कवित्रियों ने भाग लिया, जिसमें की रविता चौहान जिला सिरमौर, रेखा ठाकुर जिला शिमला, प्रियंका नेगी जिला किन्नौर, उत्तम सूर्यवंशी जिला चंबा और राजीव डोगरा जिला कांगड़ा से…

विशेष फल देता है नवरात्रि में सिद्धीदात्री मां तारा का पूजन

प्रीति शर्मा “असीम”, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। हिमाचल प्रदेश देवभूमि के नाम से जाना जाता है। हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले में नालागढ़ तहसील में पहाड़ी के ऊपर मां तारा देवी का कुदरत की वादियों में एक छोटा सा प्राचीन मंदिर है। जीवनदायिनी मनोकामनाएं पूर्ण करती मां तारा नालागढ़ शहर अपनी गोद में बिठाए विराजमान हैं। मां तारा ज्ञान और गुप्त विद्याओं की अधिष्ठात्री देवी है। आजकल गुप्त नवरात्रि चल रहे है। मां का पूजन करने वाले को बुद्धि विद्या और शत्रु का कभी भय  नहीं होता मां तारा का…

मर्यादाओं के अवसान से उपजती हिंसक मानसिकता

डा. हिमेंद्र बाली ‘हिम’, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। समाज संस्कति और सभ्यता का समन्वित स्वरूप है। संस्कृति मानव चिंतन का वह प्रवाह है, जो युगों से पीढ़ी दर पीढ़ी धरोहर स्वरूप बहता रहा है। संस्कृति संस्कारों की वह बपौती है, जो संस्कारों से संवरती है और पूरे समाज को एक सूत्र में पिरोकर रखती है। सभ्यता मानव का बाहरी आवरण है, जो संस्कृति की प्राण वायु से जीवित रहती है। आज के द्रुतगामी भौतिक जगत में सामाजिक विघटन की विद्रूपता संस्कति के अवसान की आहट है। आज के तथाकथित विकासवादी…

अकेला सफर (लघु कथा)

डा हिमेन्द्र बाली “हिम”, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। दरवाजा खोला तो बेटा बहू सामने थे। पिता जी नौकर के साथ आत्मीय संवाद में मशगूल थे। चेहरे पर बरसों बाद चमक लौट आई थी। देखो बेटा! मजबूरी भी आदमी को क्या बना देती है। कभी इसके बाप दादाओं के बास सैकड़ों बीघा जमीन थी। कह रहा है कि हमारी जमीदारी मशहूर थी। ठाकुर लोग भी कतराते थे। समय का फेर है, आज न जमींदारी रही न रुतबा…..। पिता कहे जा रहे थे और बेटा बहू को उनका नौकर के साथ ऐसी…

नवरात्रि का शुभारंभ शनिवार 17 अक्टूबर से, शारदीय नवरात्रि में दुर्गा अश्व पर आरूढ़ होकर आएगी, हाथी पर होगा प्रस्थान

राज शर्मा, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। माँ दुर्गा का परम प्रिय महापर्व महोत्सव नवरात्रि का शुभारंभ इस वर्ष 17 अक्टूबर से होने जा रहा है। नवरात्र शब्द से तात्पर्य ‘नव अहोरात्र’ अर्थात विशेष रात्रियों के बोध का सूचक। माँ दुर्गा को समर्पित इन विशेष दिव्य रात्रियों में प्रकृति के बहुत सारे अवरोध अनायास ही नष्ट हो जाते हैं। व्यवहारिक दृष्टिकोण से भी अगर देखा जाए तो रात्रि के समय ध्यान करने से शून्य व्यापी तरंगे ब्रह्म का साक्षात्कार करवा देती है। नव रात्रियों में किए गए शुभ संकल्प सिद्ध होते…

क्या ढूंढ रहे हैं

प्रीति शर्मा “असीम”, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। जो जीवन की,साथर्कता बतलायें।मानव जीवन के ,सोपानों को,सिद्ध कर जायें ।नई सोच से,नई लग्न से,जीवन के आयाम बनायें । ऐसा ही कुछ ढूंढ रहे है। हर मुश्किल से जा टकरायें।हिम्मत बांध खडा हो जायें। झूठ के सौ पैर हुए,….तो क्या?सच के साथ अडिग रह जायें। सच्चा प्यार हो दिलों में,ढोंग न दिखावा हो । चेहरों के अनगिणत मुखौटों में,जो चेहरा एक चेहरे वाला हो। ऐसा ही कुछ ढूंढ़ रहें है। नालागढ़, हिमाचल प्रदेश