शिवपुराण से……. (300) गतांक से आगे…….रूद्र संहिता, द्वितीय (सती) खण्ड

संध्या की तपस्या, उसके द्वारा भगवान शिव की स्तुति तथा उससे संतुष्ठ हुए शिव का अभीष्ट वर दे मेधातिथि के यज्ञ में भेजना ……….. गतांक से आगे…………… संध्ये! जब तुम इस पर्वत पर चार युगों तक के लिए कठोर तपस्या कर रहीं थीं, उन्हीं दिनों उस चतुर्युगी का सत्ययुग बीत जाने पर त्रेता के प्रथम भाग में प्रजापति दक्ष के बहुत सी कन्याएं हुई। उन्होंने अपनी उन सुशीला कन्याओं का यथायोग्य वरों के साथ विवाह कर दिया। उनमें से सत्ताईस कन्याओं का विवाह उन्होंने चन्द्रमा के साथ किया। चन्द्रमा अन्य…

सुभाष चन्द्र बोस के साथी थे स्वतंत्रता संग्राम सेनानी कल्लूराम गवली

डॉ. दशरथ मसानिया, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। कल्लूराम पिता खूबाजी गवली कूमिया देवास के ही नही, वरन् देश के गौरव रहे है। ये बचपन से ही आर्थिक कठिनाइयों से जूझते रहे। गाय-भैस चराना इनका पैतृक धंधा था। कुश्ती लड़ना, नाल उठाना, मुक्केबाजी आदि इनके शौक थे। ग्वाला जाति होने से दूध-घी खाकर जाने माने पहलवान बन गए। जब देश आजादी के लिये वीर सैनिकों की बांट जौ रहा था, तब कल्लूराम सुभाष चन्द्र बोस के आव्हान पर आजाद हिन्द फौज में भर्ती हो गए। उस समय उनकी दादी भी उन्हें…

अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा के एकीकरण के लिए आॅनलाईन मीटिंग 21 जुलाई को

शि.वा.ब्यूरो, मुंबई। महासभा के एकीकरण करने के लिए आॅनलाईन गूगल मीट पर 21 जुलाई दिन बुधवार को संध्या 7.00 बजे से 8.30 बजे तक एक अति आवश्यक आॅनलाईन मीटिंग आयोजित की गई है। अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी कूर्मि कौशल किशोर आर्य ने सभी उक्त बैठक में समय से भाग लेने का आहवान किया है। भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी ने कहा है कि भारत में कूर्मि समाज के सबसे 127 वर्ष पुराने मातृ संगठन अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा की स्थापना सन…

हँसी

अ कीर्ति वर्द्धन, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। किस हँसी की बात करते हो ? बच्चों की हँसी मासूम लगती है, दुष्टों की हँसी नासूर बनती है। कुछ हँसते हैं फकत जलाने के वास्ते, क़ातिल की हँसी से दहशत उपजती है। देखा है हँसते हुए दरिंदों को यहाँ पर, नेताओं की हँसी से, शै-मात झलकती है। 53 महालक्ष्मी एंक्लेव मुजफ्फरनगर, उत्तर प्रदेश

शिवपुराण से……. (299) गतांक से आगे…….रूद्र संहिता, द्वितीय (सती) खण्ड

संध्या की तपस्या, उसके द्वारा भगवान शिव की स्तुति तथा उससे संतुष्ठ हुए शिव का अभीष्ट वर दे मेधातिथि के यज्ञ में भेजना ……….. गतांक से आगे…………… जिससे देहधारी जीव जन्म लेते ही कामासक्त न हो जायें। तुम भी इस लोक में वैसे दिव्य सतीभाव को प्राप्त करो, जैसा तीनों लोकोें में दूसरी किसी स्त्री के लिए सम्भव नहीं होगा। पाणिग्रहण करने वाले पति के सिवा जो कोई भी पुरूष सकाम होकर तुम्हारी ओर देखेगा, वह तत्काल नंपुसक होकर दुर्बलता को प्राप्त हो जायेगा। तुम्हारे पति महान् तपस्वी तथा दिव्यरूप…

अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा की 17-18 जुलाई को होने वाली आम सभा स्थगित

शि.वा.ब्यूरो, उन्नाव। अंग्रेजी में लिखे सोशल मीडिया पर प्रसारित आरएस कनौजिया के संदेश के अनुसार पूर्व निर्धारित 17-18 जुलाई 2021 को आयोजित होने वाली अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा की आम सभा को स्थगित कर दिया गया है। उक्त पर आने वाली प्रतिक्रियाओं के अनुसार अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा के कथित राष्ट्रीय महासचिव आरएस कनौजिया ने इस आम सभा को अपने खिलाफ चल रही अविश्वास प्रस्ताव के मुहिम से भयभीत होकर स्थगित किया है। इसके विपरीत आरएस कनौजिया ने आम सभा को स्थगित करने का कारण प्रशासन द्वारा अनुमति…

आबादी में विश्व गुरु बनेगा भारत!

आरपी तोमर, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। *केंद्र भी बना सकता है सख्त कानून *यू पी में फूट गया रोक का असली बम *बढ़ती जनसंख्या पर नियंत्रण बहुत जरूरी *सरकारी नोकरी व बर्खास्तगी का प्लान *नामी गिरामी नेताओं का बड़ा खानदान *विरोधी बताने लगे ऊपरवाले की देन विकास क्षेत्र में तो भारत भले ही विश्व गुरु न बन पाया हो, लेकिन जिस तरह से देश में “आबादी विस्फोट ” अर्थात जनसंख्या वृद्धि हो रही है, यदि इसे नियंत्रित नहीं किया गया तो भारत चीन को पछाड़कर दुनिया में सबसे अधिक आबादी…

शिवपुराण से……. (298) गतांक से आगे…….रूद्र संहिता, द्वितीय (सती) खण्ड

संध्या की तपस्या, उसके द्वारा भगवान शिव की स्तुति तथा उससे संतुष्ठ हुए शिव का अभीष्ट वर दे मेधातिथि के यज्ञ में भेजना ……….. गतांक से आगे…………… तुम्हारा कल्याण हो। मैं तुम्हारे व्रत-नियम से बहुत प्रसन्न हूं। प्रसन्नचित्त महेश्वर का यह वचन सुनकर अत्यन्त हर्ष से भरी हुई संध्या उन्हें बारंबार प्रणाम करके बोली-महेश्वर! यदि आप मुझे प्रसन्नतापूर्वक वर देना चाहते हैं, यदि मैं वर पाने के योग्य हूं, यदि पाप से शुद्ध हो गयी हूं तथा देव! यदि इस समय आप मेरी तपस्या से प्रसन्न हैं तो मेरा मांगा…

मंत्रिमंडल विस्तार या मंत्रिमंडल सुधार

डॉ नीलम महेंद्र, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। मोदी सरकार के मंत्रिमंडल का ताज़ा विस्तार जहां कई उम्मीदों को जगाता सा दिखता है, वहीं वो अपनी कई नाकामियों पर पर्दा डालता भी नज़र आता है, क्योंकि जिस प्रकार से भाजपा के कई दिग्गजों से स्तीफा लेकर नए चेहरों को सरकार में जगह दी गई है उससे इसे मंत्रिमंडल विस्तार न कहकर मंत्रिमंडल सुधार कहा जाए तो भी गलत नहीं होगा। इतना ही नहीं, मिनिमम गवर्नमेंट एंड मैक्सिमम गवर्नेन्स के मंत्र पर चलने वाले प्रधानमंत्री मोदी के इस मंत्रिमंडल विस्तार में 43…

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020: क्रियान्वयन हिन्दी और मातृभाषाएँ*

डाॅ. वाणी बरठाकुर “विभा”, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। शिक्षा मानव जीवन का एक अविच्छिन्न अंग है। शिक्षा ही मानव जीवन को संचालित करती है। प्रत्येक व्यक्ति तथा हर देश के आगे बढ़ने में शिक्षा महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। शिक्षा ही वह शक्ति है, जो जीवन को चलाने के लिए राह प्रदान करती है। प्रत्येक देश अपने देश की उन्नति के लिए एक निर्दिष्ट शिक्षा नीति ग्रहण अपनाता है। समय समय पर प्रयोजन के अनुसार हमारे देश की राष्ट्रीय शिक्षा नीति बदलती रहती है। 29 जुलाई 2020  को माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र…