ईश्वर! मेरी मम्मी का ख़याल रखना

डॉक्टर मिली भाटिया, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। मदर डे टू मम्मी इन हेवन… इन लविंग मेमोरी ओफ़ यू मम्मी… आज शब्द ही नहीं कुछ… आपको खोने का दर्द… काग़ज़ पर नहीं उकेर पाऊँगी आज… आप होतीं आज तो बात ही कुछ और होती… हर ख़ुशी में ख़ालीपन नही होता… हर दर्द से डर नहीं लगता… ईश्वर मेरी मम्मी का ख़याल रखना…..!! रावतभाटा, राजस्थान

अप्रैल कूल महोत्सव पर पौधारोपण किया

शि.वा.ब्यूरो, रावतभाटा। राजस्थान परमाणु बिजली घर रावतभाटा से सेवानिवृत्त परमाणु वैज्ञानिक अधिकारी एवं गायत्री केंद्र बाल संस्कार शाला के सेवक दिलीप भाटिया ने अप्रैल कूल महोत्सव पर गायत्री केंद्र परिसर में पौधारोपण किया। दिलीप भाटिया नियमित रूप से पौधारोपण कर पर्यावरण संरक्षण के लिए समाज को कथनी नहीं बल्कि अपनी करनी द्वारा एक सकारात्मक संदेश देने का प्रयास करते रहते हैं।

कक्षा 3 में प्रोन्नत होने पर लिली ने शिक्षकों को कहा धन्यवाद

शि.वा.ब्यूरो, रावतभाटा (राजस्थान)। डॉक्टर मिली भाटिया आर्टिस्ट की बेटी लिली यादव द्वारा परमाणु ऊर्जा केन्द्रीय विद्यालय की कक्षा 2 में बेहतरीन पर्फॉमेन्स देने पर उसे क्लास 3 में प्रोन्नत किया गया है। कक्षा तीन में प्रवेश करने पर लिली ने वीके कौशिक, अनोरा ऐक्सिस, सुरभि पाण्डेय, विजय शर्मा, नितिन योगी व वाइस प्रिन्सिपल पी. नरसिमसम का धन्यवाद किया है।

होम वर्क कैसे करें…..?

दिलीप भाटिया, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय तमलाव में विद्यार्थियों को समय के सदुपयोग पर विचार प्रकट करने गया था। वार्ता के बाद एक छात्रा ने कहा कि दिलीप अंकल आपने पढ़ने के बाद पढ़े हुए को लिखने के लिए कहा, ताकि नोट्स बन जाएं, रिवीजन के समय काम आयेंगे। रटने की जरूरत नहीं पड़ेगी। अंकल! किताबें तो सरकार दे देती है, लेकिन हमारे पास कॉपी तो हैं ही नहीं, होम वर्क भी नहीं कर पाती। नोट्स बनाने का तो हम गांव के गरीब बच्चे सोच भी…

शिक्षाप्रद व मनोरंजक है प्रतिभा शर्मा का बाल कहानी संग्रह संस्कार आज भी हैं (पुस्तक समीक्षा)

दिलीप भाटिया, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। प्रतिभा आंटी नन्हे मुन्नों के लिए प्यारी प्यारी कहानियां लेकर आई हैं। अपने बेटे-बेटियों को उनके अगले जन्म दिन पर यह पुस्तक उपहार स्वरूप दीजिए। सृष्टि प्रकाशन चंडीगढ़ से प्रकाशित इस पुस्तक में 18 कहानियां हैं। सभी सरल शैली में हैं। प्रत्येक कहानी में सीख है। उपदेश लेख प्रवचन किसी को भी पसंद नहीं। कहानी एक ऐसा सशक्त माध्यम है, जिसे सुनने वाले चाव से सुनते हैं। मेरी बेटी की सात वर्षीया बेटी रोज मुझसे बचपन की कहानी सुनती है। जीवन में आगे बढ़ना…

नन्हीं लिली ने जीता चित्रकला में प्रथम व फैंसी ड्रेश शो में सांत्वना पुरस्कार

शि.वा.ब्यूरो, रावतभाटा। होनहार बिरवान के होत चिकने पात वाली कहावत को चरितार्थ करते हुए नन्हीं लिली ने एटाॅमिक एनर्जी सेंट्रल स्कूल में चित्रकला में प्रथम व फैंसी ड्रेश शो में सांत्वना पुरस्कार जीतकर खुद को साबित करना आरम्भ कर दिया है। कहते हैं कि मछली के बच्चे को कोई तैरना नहीं सिखाता, ठीक उसी प्रकार होनहार माता-पिता की संतान में उनके गुण स्वयं ही आ जाते हैं, इसका सटीक प्रमाण हैं नन्हीं लिली यादव, जिन्होंने चित्रकला में प्रथम व फैंसी ड्रेश शो में सांत्वना पुरस्कार प्राप्त किया है। एटाॅमिक एनर्जी…

डॉक्टर मिली भाटिया आर्टिस्ट ने 80 विद्यार्थियों को दिए बोर्ड की परीक्षा के लिए टिप्स

शि.वा.ब्यूरो, रावतभाटा। डॉक्टर मिली भाटिया आर्टिस्ट ने राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय-रावतभाटा में कक्षा 12 वीं के चित्रकला के 80 विद्यार्थियों को बोर्ड की परीक्षा के लिए प्रैक्टिकल और थयोरी के विषय में टिप्स दिए। डॉक्टर भाटिया ने प्रैक्टिकल में स्टिल लाइफ़ (वस्तु चित्रण) व प्राकृतिक द्रश्य सब्जेक्ट पर जानकारी दीं और चित्रकला की बारीकियों से अवगत कराया। डॉक्टर मिली ने स्टूडेंट्स को बोर्ड की परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने हेतु अपने सुझाव दिए, ताकि रावतभाटा का नाम रोशन हों। डॉक्टर भाटिया के साथ लैब इनचार्ज ओम् प्रकाश धाकर उपस्थित…

मैं मिली

डॉक्टर मिली भाटिया, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। मैं मिली मैं हवाओं से बातें करती हूँ सपनो की दुनिया में रंगो को भरती हूँ मैं मिली मैं खोई खोई सी रहती हूँ ज़िन्दगी से उलझती हूँ दिल की सुनती हूँ मैं मिली मैं आसमान से बातें करती हूँ फूलों की मुस्कुराहट को काग़ज़ पर उकेरती हूँ मैं मिली मैं चिड़िया सी चहकती हूँ चंचल-शोख़ सी थी कुछ खामोशी से अब बातें रखती हूँ मैं मिली मैं तारों से सुलझती हूँ बादलों सी बरसती हूँ काग़ज़ को कलम से सजाती हूँ मैं मिली…

राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में विदाई समारोह आयोजित

शि.वा.ब्यूरो, रावतभाटा। राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में कक्षा 12 की छात्राओं के विदाई समारोह में राजस्थान परमाणु बिजली घर से सेवानिवृत्त परमाणु वैज्ञानिक अधिकारी दिलीप भाटिया के कक्षा 12 की छात्रा को तिलक लगाकर मौली बांधकर दही पेड़ा खिलाकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कक्षा 12 की छात्राओं ने दिलीप भाटिया अंकल की ग्रीटिंग कार्ड व कलम देकर सम्मानित करते हुए कहा कि जरूरी नहीं, कि हर समय लबों पर खुदा का नाम आए। वो लम्हा भी इबादत का होता है जब इंसान किसी के काम आए। दिलीप भाटिया ने…

दिलीप भाटिया ने किया ‘अब मोबाइल नहीं, परिवार को सुनें’ का अनुसरण करने का आह्वान

शि.वा.ब्यूरो, रावतभाटा। गायत्री केंद्र संस्कार शाला के मोबाइल शिविर में दिलीप भाटिया ने दैनिक भास्कर अभियान अब मोबाइल नहीं, परिवार को सुनें का अनुसरण करने का संदेश दिया। सप्ताह में एक दिन रविवार को ब्रेकफास्ट लंच डिनर के समय मोबाइल फोन को बंद रखें एवं परिवार को समय दें। दिलीप भाटिया ने कहा कि इस अनुसरण से मोबाइल का नशामुक्ति अभियान सफल सार्थक होगा एवं परिवार में स्नेह प्यार अपनापन बढ़ेगा। उनके आह्वान पर नीता, कुसुम, राहुल, रजत, निशा, सुमन, हरीश, गौरव, गरिमा, सीमा, साधना, मीनाक्षी, मोनिका, लीला, जय आदि…