काश! आठवीं सन्तान लड़की होती, पुस्तक का विमोचन

शि.वा.ब्यूरो, प्रयागराज। जनपद अमेठी के एक छोटे से गांव में जन्में डॉ. रमाकान्त द्वारा रचित पुस्तक का विमोचन प्रयागराज में मां गंगा-यमुना की उपस्थिति में मां सरस्वती के कर कमलों द्वारा लेखक की माता भानुमती तिवारी के हाथों सभी देवी-देवताओं और तीर्थ राज प्रयाग की अध्यक्षता में नाव रूपी मंच पर संगम की बहती जलधारा के ऊपर संगम (प्रयागराज) मे “काश ! आठवीं सन्तान लड़की होती…” नामक पुस्तक का विमोचन किया गया। संगम की धारा में हुए पुस्तक का विमोचन कौतूहल का विषय बना रहा। पुस्तक विमोचन के अवसर पर…

परिषदीय विद्यालय में मनाया गया ग्लोबल हैंडवाशिंग डे समापन सप्ताह

शि.वा.ब्यूरो, कौशाम्बी। विकास खण्ड कड़ा के उच्च प्राथमिक विद्यालय सौरई बुजुर्ग में प्रधानाध्यापक अजय कुमार साहू के नेतृत्व में ग्लोबल हैंडवाशिंग समापन सप्ताह मनाया गया। इस दौरान सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक डॉ. नीरज सिंह व डॉ. हसनैन ने विद्यालय के बच्चों को हाँथ धुलने के तरीके व उनके फायदों से सम्बंधित जानकारी दी। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक डॉ. नीरज सिंह ने बच्चों को हाथ धोते समय सुमन के नामक फार्मूला याद रखने की सलाह दी है। उन्होंने बताया कि इसका अर्थ है, S- सीधा, U- उलटा, M-मुट्ठी,  A-…

ओबीसी जातिगत जनगणना कराए जाने के संबंध में राष्ट्रपति को पत्र लिखा

शि.वा.ब्यूरो, प्रयागराज। ओबीसी जातिगत जनगणना कराए जाने के संबंध में राष्ट्रपति को लिखे पत्र मैं कहा गया है कि ओबीसी वर्ग वर्षों से सामाजिक अन्याय एवं वंचना का शिकार रहा है। ऐसी स्थिति में उसे मुख्यधारा में लाने के लिए सर्वप्रथम उसकी वास्तविक स्थिति का अध्ययन किया जाना अति आवश्यक है। यह अध्ययन ओबीसी की वास्तविक संख्या, सामाजिक, आर्थिक और शैक्षिक स्थिति से संबंधित होना चाहिए। यदि वास्तविक स्थिति का पता नहीं होगा तो ओबीसी के उत्थान हेतु नीति निर्माण कैसे संभव हो पाएगा? कोई भी देश सही अर्थों में…

मनचाहे जिले में नियुक्त होने पर भी अंतर्जनपदीय ट्रांसफर की मांग कर सकता है शारीरिक रूप से अक्षम शिक्षक

शि.वा.ब्यूरो, प्रयागराज। शिक्षकों के स्थानांतरण को लेकर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि शारीरिक रूप से अक्षम शिक्षक मनचाहे जिले में नियुक्त होने पर भी अंतर्जनपदीय ट्रांसफर की मांग कर सकता है। हाईकोर्ट ने कहा है कि 2 दिसम्बर 2019 के शासनादेश और सहायक अध्यापक सेवा नियमावली के नियम 8 (2) डी के तहत स्थानांतरण की मांग की जा सकती है। उच्च न्यायालय ने शारीरिक रूप से अक्षम शिक्षिका का मनचाहे जिले सोनभद्र से चित्रकूट ट्रांसफर करने के मामले में बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव को सहानुभूति…

गंगा एक्सप्रेसवे का शिलान्यास सितंबर में, मेरठ से प्रयागराज तक 120 किमी की रफ्तार से फर्राटा भरेंगे वाहन, 12 जनपदों से गुजरेगा

शि.वा.ब्यूरो, लखनऊ। विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश को एक और एक्सप्रेस वे की सौगात दे सकते हैं। वेस्ट यूपी के मेरठ से शुरू होकर प्रयागराज तक जाने वाले गंगा एक्सप्रेस वे का शिलान्यास सितंबर महीने में कराया जाएगा, इसके लिए तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। इस एक्सप्रेस वे के लिए 80 प्रतिशत से ज्यादा जमीन का अधिग्रहण किया जा चुका है। राज्य सरकार इस महत्वाकांक्षी परियोजना के शिलान्यास के बाद 26 महीने में पूरा कराने का डेडलाइन तय कर चुकी है। 594 किमी लंबे इस…

बँधुआ लोकतन्त्र

प्रभाकर सिंह, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। मसलन फटती साड़ियों, फूटते सरों, होते अपहरणों, लुटते मतों और बँधुआ होते लोकतंत्र की मार्मिक तस्वीरें, खबरें आती जा रही है। सरकारी मशीनरी की दुँदुभी ग़ज़ब बज रही है हुक्मरानों की ताल पर। नैतिकता नाम का पंछी उड़कर मानों पाकिस्तान कूच का एलान कर चुका हो। असली बात तो तब होगी, जब पुलिस पूछेगी कि सूती साड़ी काहे पहिन के गयी आप नामांकन करने। बनारसी पहनती वो भी भगवा तो कितना अच्छा होता और कितना सेफ़ होता। माने किसी कि हैसियत नहि होती फिर।…

मुकदमों की होगी फिजिकल फाइलिंग, काम होगा आसान

शि.वा.ब्यूरो, ​​​​​​​प्रयागराज। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अधिवक्ताओं और वादकारियों को बड़ी राहत दे दी है। अब हाईकोर्ट में मुकदमों की फिजिकल फाइिलंग की सुविधा दे दी है। इलाहाबाद हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार प्रोटोकॉल आशीष कुमार श्रीवास्तव ने हाईकोर्ट बार एसोसिएशन को जारी पत्र में कहा है कि मुख्य न्यायाधीश के आदेश पर सोमवार से मुकदमों की फिजिकल फाइलिंग शुरू करने का निर्णय लिया गया है। अब अधिवक्ताओं को मुकदमों की ई-फाइलिंग नहीं करनी होगी। जानकारों की माने तो कोर्ट ने अभी तक फिजिकल सुनवाई का आदेश नहीं जारी किया है। अभी तक…

इलाहाबाद हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश बने जस्टिस संजय यादव

शि.वा.ब्यूरो, प्रयागराज। भारत के राष्ट्रपति ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय के न्यायाधीश संजय यादव को उनके पदभार ग्रहण करने की तिथि से इलाहाबाद उच्च न्यायालय का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया है। न्यायमूर्ति संजय यादव एमए-एलएलबी हैं और उन्होंने 25 अगस्त 1986 को अधिवक्ता के रूप में अपना नामांकन करवाया था। न्यायमूर्ति संजय यादव ने जबलपुर में सिविल, संवैधानिक, श्रम और सेवा मामलों में 20 वर्षों तक अभ्यास किया और श्रम और सेवा मामलों में विशेषज्ञता हासिल की। उन्होंने मार्च 1999 से अक्टूबर 2005 तक सरकारी अधिवक्ता के रूप में काम किया…

अवैध निरूद्धि के दोषी अधिकारियो पर विभागीय कार्यवाही करने एवं पीडित को मुआवजा देने का आदेश

शि.वा.ब्यूरो, प्रयागराज। हाईकोर्ट ने किसी व्यक्ति को अवैध निरूद्धि के दोषी अधिकारियो पर विभागीय कार्यवाही करने एवं पीडित को मुआवजा देने की 23 मार्च 2021 की सरकारी नीति की सराहना की है और मुख्य सचिव व अपर मुख्य सचिव गृह को इस नीति का कड़ाई से पालन कराने का निर्देश दिया है। इस नीति मे सरकार ने स्पष्ट किया है कि आम लोगो के जीवन के  मूल अधिकार का हनन करने वाले दोषी अधिकारियो पर विभागीय कार्रवाई होगी। उत्पीडन व अवैध निरूद्धि की  शिकायत की जांच तीन माह मे पूरी…

लड़ना एक मजबूरी थी 

प्रभाकर सिंह, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र। पता नहीं क्या होगी नियति संग्राम की थक गये थे बोझिल अँधेरों में रहते हुये रोशनी की एक चाह थी चाह देख  लड़ गये बेहद घुटन थी सब कुछ वैसा ही स्वीकारने में खुली हवा के लिये लड़ गये हम चलो हार भी जायेंगे तो क्या हुआ पराजय भाग्य में थी तो क्या हुआ गर्व से कहूँगा मैं पराजित हूँ पर टूटा नहीं ख़ुद पर था भरोसा  मुझे जीतने का न सही शिद्दत से लड़ने का कहाँ है यह लिखा हुआ लड़ना है ज़रूरी…