मिशन शक्ति अभियान 17 से 25 अक्टूबर तक, महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलम्बन बनाने के लिए होंगे कार्यक्रम

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने कहा कि शारदीय नवरात्र से शुरू होने वाले “मिशन शक्ति” अभियान के अंतर्गत महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलम्बन के लिए 17 अक्टूबर से 25 अक्टूबर, 2020 तक जन जागरूकता अभियान चलाया जायेंगा। उन्होंने कहा कि अभियान के अंतर्गत लैगिंग हिंसा की रोकथाम और महिलाओं को स्वावलम्बी बनाने तथा उनके दिये गये अधिकारों के बारे में जागरूक किया जाए। उन्होंने कहा कि ऐसी महिला उत्थान के लिए किए जा रहे कार्यों की जानकारी देने के साथ ही उनकी भागीदारी भी सुनिश्चित की जाए।
जिलाधिकारी कल 17 अक्टूबर से शुरू होने वाले “मिशन शक्ति” अभियान को सफल बनाने के लिये अधिकारियों के साथ बैठक कर रही थी। उन्होंने सभी सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये कि महिलाओं व बालिकाओं की सुरक्षा, सम्मान, स्वावलंबन, महिला अपराध के संबंध में जागरूकता पैदा करने के लिए प्रत्येक माह एक सप्ताह का विशेष कार्यक्रम भी आयोजित किये जाएंगे। उन्होने कहा कि सभी जनपदीय अधिकारी अपने-अपने विभागों में महिलाओं एवं बालिकाओं के लिए चलायी जा रही योजनाओं का प्रचार-प्रसार कर महिलाओं एवं बालिकाओं को योजनाओं से लाभान्वित भी कराएं। उन्होने जिला, तहसील, ब्लाक, न्याय पंचायत, ग्राम पंचायत स्तर पर भी विशेष जागरूकता शिविर आयोजित किये जाए। शिविरों में महिलओं को उनके अधिकािरों के बारे में जागरूक किया जाएं। उन्होंने कहा कि लैंगिक हिंसा की रोकथाम के लिए रोल माॅडल्स के साथ ही महिला ग्राम प्रधानों और शहरी स्थानीय निकाय, मलिन बस्तियों के निवासियों, किसानों, श्रमिकों को जागरूक किया जाए तथा पाॅक्सों कानून के अंतर्गत बच्चों का यौन हिंसा से बचाव, सहायता व पुनर्वास तथा हिंसा करने पर दण्ड़ के प्राविधानों से आम लोगों को जागरूक किया जाए। उन्होने अधिकारियों से कहा कि सभी विभाग इस अभियान के संबंध में आज ही अपनी कार्ययोजना उपलब्ध करा दें।
 मिशन शक्ति-‘‘नारी सुरक्षा, नारी सम्मान, नारी स्वालम्बन‘‘ कार्यक्रम के तहत 17 अक्टूबर को को मिशन शक्ति का किक स्टार्ट एवं पुलिस विभाग की कतिपय योजनाओं का लोकार्पण किया जायेगा। 18 अक्टूबर को ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में लैंगिक संवेदीकरण, महिला एवं बाल सुरक्षा हेतु संवेदनशीलता लाना, लैंगिक हिंसा की रोकथाम। 19 अक्टूबर को शक्ति परी, लैंगिक समानता, लैंगिक हिंसा की रोकथाम, पीड़िता को सामाजिक प्रतिष्ठा दिलाना। 20 अक्टूबर को  विद्यालयों में बच्चों की सुरक्षा, छात्रों व अध्यापकों के लिए जागरूकता कार्यक्रम, बाल मनोविज्ञान के सम्बन्ध में समझ विकसित करना। 21 अक्टूबर साइबर सुरक्षा के प्रति जागरूक करना, लैंगिक हिंसा की रोकथाम। 22 अक्टूबर को महिला यात्रियों के प्रति अच्छा व्यवहार करना, यात्रा के दौरान महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा। 23 अक्टूबर को कार्यस्थलों पर उत्पीड़न की रोकथाम, लैंगिक समानता और महिला कर्मचारियों की सुरक्षा। 24 अक्टूबर को कानून के प्रति जागरूकता व मित्र पुलिस तथा 25 अक्टूबर, 2020 को जनपद के सभी थानों पर हेल्प डेस्क स्थापित करने हेतु कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी आलोक यादव, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 प्रवीण चोपडा, प्रोबेशन अधिकारी सहित संबंधित विभागों के अधिकारीगण मौजूद रहे।

जिला कार्यक्रम अधिकारी वाणी वर्मा ने बताया मिशन शक्ति कार्यक्रम के तहत 17 अक्टूबर को महिलाओं तथा बच्चों की हिंसा से रोकथाम, 18 अक्टूबर को पॉक्सो (यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण करने संबंधी अधिनियम), 19 अक्टूबर को लैंगिक समानता, घरेलू हिंसा तथा दहेज कानून, 20 अक्टूबर को कन्या भ्रूण हत्या रोकथाम, 21 अक्टूबर को बाल-विवाह रोकथाम, 22 अक्टूबर को कोविड-19 के प्रति जागरूकता, 23 अक्टूबर को कल्याणकारी योजनाओं का प्रचार-प्रसार, 24 अक्टूबर को बैठकें, 25 अक्टूबर को सुरक्षा शपथ “योद्दाओं” का सम्मान आदि को लेकर कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इसमें निदेशक महिला कल्याण/नोडल अधिकारी, जिला प्रोबेशन अधिकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी, मुख्य सेविका, शक्ति योद्धा (आगंनबाड़ी सहायिका), और जिला कार्यक्रम अधिकारी आदि का सहयोग रहेगा। उन्होंने बताया कि लोगों को हेल्प लाइन नंबरों जैसे 112 इमरजेंसी, 181 वूमन हेल्प लाइन, 1090 वूमन पावर लाइन, 1098 चाइल्ड लाइन की उपयोगिता के बारे में जानकारी दी जाएगी।

मिशन शक्ति के सिद्धांत

सुरक्षा, सम्मान, समानता, गोपनीयता मिशन शक्ति के मुख्य सिद्धांत होंगे। मिशन के सफल संचालन के लिए महिलाओं तथा बच्चों की सुरक्षा, उनकी गरिमा का सम्मान, उनकी पहचान की गोपनीयता व चाहे वह किसी भी लिंग, जाति, धर्म से हो। उन्हें समानता पूर्ण वातावरण प्रदान करना, इस मिशन का आधार होगा। प्रदेश में मिशन का संचालन विभिन्न विभागों द्वारा सम्मिलित कार्य योजना के आधार पर किया जाएगा।

मिशन शक्ति के उद्देश्य

उत्तर प्रदेश में महिलाओं व बच्चों के विरुद्ध अपराधों में संलिप्त अभियुक्तों के विरुद्ध मिशन व कार्रवाई।महिलाओं तथा बच्चों की सुरक्षा से संबधित कानूनों, पॉक्सो एक्ट, घरेलू हिंसा अधिनियम व महिलाओं संबंधित कानून व प्रावधानों का प्रचार-प्रसार करना। महिलाओं तथा बच्चों की सुरक्षा व अपराधों की रोकथाम, हिंसा के प्रकरण में दंड के प्रावधानों के संबध में जागरूकता, संबंधित हेल्प लाइन नंबर तथा कल्याणकारी योजनाओं व सुविधाओं का प्रचार-प्रसार करना। महिलाओं तथा बच्चों की सुरक्षा के लिए प्रदेश के विभिन्न विभागों के मध्य समन्वय तथा कार्यरत अधिकारियों व कर्मियों को महिलाओं तथा बच्चों के मुद्दों के प्रति संवेदित करना।

Related posts

Leave a Comment