शहीद मंगल पांडे राजकीय महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय में 21वां वार्षिकोत्सव एवं पुरस्कार वितरण समारोह आयोजित

शि.वा.ब्यूरो, मेरठ। शहीद मंगल पांडे राजकीय महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय में 21 वां वार्षिकोत्सव एवं पुरस्कार वितरण समारोह हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। पुरस्कार मिलते ही छात्राओं के चेहरे खिल उठे। कार्यक्रम का शुभारंभ बतौर मुख्य अतिथि विधायक डॉ. सोमेंद्र तोमर, विशिष्ट अतिथि सेवानिवृत्त प्राचार्य प्रो. अश्वनी गोयल, कार्यक्रम अध्यक्ष प्राचार्य प्रो. दिनेश चन्द एवं समारोहक डा. लता कुमार, सांस्कृतिक सचिव डा. राधा रानी ने ज्ञान की देवी मां सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलन व छात्राओं ने सरस्वती वंदना करके किया। तत्पश्चात अतिथियों का पौधा देकर और बैज लगाकर सम्मान किया गया। संगीत विभाग द्वारा स्वागत गान प्रस्तुत किया गया। समारोहक डा. लता कुमार द्वारा वार्षिक आख्या का वाचन किया गया। इसी क्रम में आज महाविद्यालय की वार्षिक पत्रिका ‘जागृति’ का विमोचन भी किया गया।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि विधायक डॉ. सोमेंद्र तोमर ने वर्षभर आयोजित किये गए महाविद्यालय स्तरीय प्रतियोगिता के विजेताओं, सड़क सुरक्षा, मिशन शक्ति, और स्वच्छता पखवाड़े के दौरान आयोजित प्रतियोगिताओं, सर्वाधिक अंक प्राप्त छात्राओं, सर्वश्रेष्ठ रेंजर्स, सर्वश्रेष्ठ कैडेट्स, सर्वश्रेष्ठ एन एस एस स्वयं सेविकाओं, क्रीड़ा चैम्पियन, विश्वविद्यालय टॉपर आदि छात्राओं को पुरस्कृत किया। पुरस्कार वितरण कार्यक्रम का संचालन डॉ. भारती शर्मा ने किया। पुरस्कार प्राप्त करने वाली छात्राओं को शुभकामनाएं प्रेषित करते हुए डॉ. सोमेंद्र तोमर ने कहा कि हमारा देश नारी शक्ति के सामने नतमस्तक है। उन्होंने कहा किसी भी शुभ कार्य का प्रारंभ कन्या के हाथ से कराने की परंपरा है। उन्होंने कहा कि प्रतिभा किसी की बपौती नहीं है। साधारण परिवार में जन्मे लोगों ने महान कार्य कर देश को आगे बढ़ाने का कार्य किया है। विधायक सोमेंद्र तोमर ने कहा कि आज आप दौलत अनेक विश्व में रहकर कमा सकते हैं किंतु सम्मान कमाने के लिए आपको शिक्षक के रूप में आना होगा।
बतौर विशिष्ट अतिथि प्रीतीश कुमार सिंह ने कहा कि जब कोई महिला सम्मान ग्रहण करती है तो उसके साथ-साथ उसके माता-पिता भी गौरवान्वित होते हैं। महाविद्यालय के पूर्व प्राचार्य एवं विशिष्ट अतिथि डॉ. अश्वनी कुमार गोयल ने पुरस्कृत छात्राओं को बधाई दी और उन्हें उनके भविष्य में ऊंचाइयां हासिल करने का आह्वान किया। महाविद्यालय प्राचार्य डॉ. दिनेश चंद ने सभी सम्मानित अतिथियों मुख्य अतिथि विशिष्ट अतिथि गण एवं महाविद्यालय परिवार का धन्यवाद देते हुए कहा कि आप सब के सहयोग से महाविद्यालय उत्तरोत्तर उन्नति के पथ पर बढ़ता जाएगा। प्राचार्य ने कहा कि महाविद्यालय में अध्ययनरत लगभग 2000 छात्राएं उनकी बेटियां हैं और बेटियों की कामयाबी पर हर पिता गौरवान्वित होता है। ट्रॉफी देकर पुरस्कृत किया गया प पुरस्कार वितरण के पश्चात सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया, जिसमें भूमिका द्वारा शिव तांडव नृत्य, शिवानी द्वारा मोहे रंग दो लाल, नेहा शर्मा द्वारा नगाड़े संग ढोल बाजे, अलीजा द्वारा झीना झीना-झीना उड़ा गुलाल पर एकल नृत्य, एनसीसी कैडेट्स द्वारा एक तेरा नाम साँचा गीत पृ देशभक्ति नृत्य, समाजशास्त्र विभाग की छात्राओं द्वारा डा. गीता चौधरी के निर्देशन में देशभक्ति आधारित नृत्य नाटिका, बीएड विभाग की छात्राओं द्वारा महिला सशक्तिकरण पर नृत्य नाटिका, संगीत विभाग की छात्राओं द्वारा होलिया में उड़े रे गुलाल गीत पर समूह नृत्य की प्रस्तुति की गई।
मुख्य अतिथि द्वारा सभी सांस्कृतिक कार्यों की सराहना की गई। महाविद्यालय परिवार द्वारा अभिनंदन पत्र और स्मृति चिन्ह के साथ मुख्य अतिथि का सम्मान किया गया। सांस्कृतिक कार्यक्रमों तथा  समारोह का संचालन समारोहक डॉ. लता कुमार ने किया। धन्यवाद ज्ञापन डॉ. अनीता गोस्वामी ने किया। कार्यक्रम में महाविद्यालय के परिवार के सभी सदस्यों डॉ. अनुजा गर्ग, डॉ मंजू रानी, डॉ. शालिनी वर्मा, डा. अमर ज्योति,डा. गीता चौधरी, डा. उमा शंकर प्रसाद, डॉ. आशीष सिंह, डॉ. वैभव शर्मा, डॉक्टर पूनम भंडारी, डॉ. सुधा रानी सिंह समेत सभी प्राध्यापकों और कर्मचारियों ने सहयोग कर सफल बनाने में अपना संपूर्ण योगदान दिया।

Related posts

Leave a Comment