आईसीडीएस के लाभार्थियों को ड्राई राशन, देशी घी व स्किम्ड मिल्क पाउडर वितरण रोस्टर जारी

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। जिला कार्यक्रम अधिकारी ने बताया कि अपर मुख्य सचिव बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार के पत्र एवं उत्तर प्रदेश में स्वयं सहायता समूहों (एसएचजी) के माध्यम से आईसीडीएस के लाभार्थियों को ड्राई राशन, देशी घी व स्किम्ड मिल्क पाउडर वितरण हेतु मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) का निर्धारण करते हुये ड्राई राशन प्राप्ति एवं वितरण के संबंध में विभिन्न दिशा-निर्देश निर्गत किये गये है। उन्होने बताया कि जनपद की 06 बाल विकास परियोजनाओ जानसठ, पुरकाजी, सदर, बघरा, मोरना एवं शाहपुर में देशी घी, स्किम्ड मिल्क पाउडर, चना दाल एवं फोर्टीफाइड आयल की आपूर्ति पूर्ण हो चुकी है तथा प्राप्त देशी घी, स्किम्ड मिल्क पाउडर, चना दाल, फोर्टीफाइड आयल तथा पूर्व में अवशेष गेहूं एवं चावल का वितरण आंगनबाडी केन्द्रो पर पात्र लाभार्थियों को किया जा रहा है।
उन्होंने बताया कि आंगनबाडी केन्द्र जानसठ में 15, 17, 18, 19, 22, 23, 24 एवं 25 मार्च को पर देशी घी, स्किम्ड मिल्क पाउडर एवं पूर्व में अवशेष गेंहू एवं चावल के वितरण किया जाएगा। आंगनबाडी केन्द्र पुरकाजी में 15, 17, 18, 19 मार्च, 22, 23, 24 एवं 25 मार्च को पर देशी घी, स्किम्ड मिल्क पाउडर एवं पूर्व में अवशेष गेंहू एवं चावल के वितरण किया जाएगा। आंगनबाडी केन्द्र सदर में 15, 17, 18, 19, 22, 23, 24 एवं 25 मार्च को पर देशी घी, स्किम्ड मिल्क पाउडर एवं पूर्व में अवशेष गेंहू एवं चावल के वितरण किया जाएगा। आंगनबाडी केन्द्र बघरा में 15, 17, 18, 19, 22, 23, 24 एवं 25 मार्च को पर देशी घी, स्किम्ड मिल्क पाउडर एवं पूर्व में अवशेष गेंहू एवं चावल के वितरण किया जाएगा। आंगनबाडी केन्द्र मोरना में 15, 17, 18, 19, 22, 23, 24 एवं 25 मार्च को पर देशी घी, स्किम्ड मिल्क पाउडर एवं पूर्व में अवशेष गेंहू एवं चावल के वितरण किया जाएगा। आंगनबाडी केन्द्र शाहपुर में 15, 17, 18, 19, 22, 23, 24 एवं 25 मार्च को पर देशी घी, स्किम्ड मिल्क पाउडर एवं पूर्व में अवशेष गेंहू एवं चावल के वितरण किया जाएगा। इसके साथ ही शहर आंगनबाडी केन्द्र में 12, 15, 16, 19, 20, 22 एवं 23 मार्च को पर देशी घी, स्किम्ड मिल्क पाउडर एवं पूर्व में अवशेष गेंहू एवं चावल के वितरण किया जाएगा।
जिला कार्यक्रम अधिकारी वाणी वर्मा ने संबन्धित बाल विकास परियोजना अधिकारी, प्रभारी एवं मुख्य सेविकाओ को निर्देशित किया है कि आंगनबाडी केन्द्रवार निर्धारित रोस्टर के अनुसार स्वयं सहायता समूहों के सदस्यों तथा आंगनबाडी कार्यकत्रियों द्वारा लाभार्थियों को ड्राई राशन गर्भवती/धात्री महिलाओ, 03 से 06 वर्ष के बच्चो एवं 06 माह से 03 वर्ष के बच्चो एवं 06 माह से 06 वर्ष के अतिकुपोशित बच्चो को उपलब्ध करायेंगे। समस्त आंगनबाडी कार्यकत्रियां लाभार्थियो को अनिवार्य रूप से आधार कार्ड बनवाने हेतु प्रेरित करेंगी तथा आधार न होने की दशा में आधार हेतु आवेदन किये जाने की रसीद की छायाप्रति प्राप्त करेंगी। उन्होंने कहा कि निदेशालय बाल विकास सेवा एवं पुश्टाहार उ0प्र0 के अपर निदेशक प्रशासन के पत्र के साथ प्राप्त अधिसूचना के उपबन्धो का अनुपालन करते हुए बाल विकास परियोजना अधिकारी, प्रभारी पात्र लाभार्थियो में वितरण करायेंगे। उन्होंने बताया कि प्रस्तर 1 (1) के अनुसार आंगनबाड़ी केन्द्रों पर प्रदत्त अनुपूरक पोषाहार कार्यक्रम की उपलब्धता के लिये इच्छुक व्यक्तियों से आधार संख्या धारित करने के सबूत उपलब्ध कराने या आधार अभिप्रमाणन कराने की अपेेक्षा की जायेगी। प्रस्तर 1 (2) के अनुसार आंगनबाड़ी केन्द्रों पर प्रदत्त अनुपूरक पोषाहार कार्यक्रम की उपलब्धता के लिये इच्छुक किसी व्यक्ति, जो आधार संख्या धारित न करता हो अथवा अभी तक आधार के लिये नामाकंन न किया हो, से उक्त योजना हेतु रजिस्ट्रीकरण करने से पूर्व अपने माता-पिता या सरक्षक की सहमति के अघ्यधीन आधार नामाकंन हेतु आवेदन करने की अपेक्षा की जायेगी तथा पहचान से सम्बंधित दस्तावेज उपलब्ध कराने होंगें, जिनकी छाया प्रतियां आंगनबाडी कार्यकत्री द्वारा अपने पास रक्षित की जायेगी तथा मांगे जाने पर दिखानी होगी। बाल विकास परियोजना कार्यालय से ड्राई राशन का उठान स्वयं सहायता समूह अध्यक्ष द्वारा निर्धारित तिथि पर किया जायेगा। स्वयं सहायता समूह द्वारा वितरण दिवस पर खाद्यान्न कार्यकत्री को प्राप्त करवाकर अपनी उपस्थिति में पात्र लाभार्थियों को वितरण करवाया जायेगा।
जिला कार्यक्रम अधिकारी ने कहा है कि आंगनबाडी केन्द्रो पर ड्राई राशन को स्वयं सहायता समूहों के सदस्यों तथा आंगनबाडी कार्यकत्री द्वारा लाभार्थी को ड्राई राशन वितरण हेतु कोविड-19 से सम्बंधित समस्त आवश्यक सावधानियां एवं सोशल डिस्टेंन्सिग का पालन करते हुए पारदर्शिता बनाये रखते हुए उपरोक्तानुसार निर्धारित तिथियों में गर्भवती/धात्री महिलाओ एवं 06 माह से 06 वर्ष के बच्चो तथा 06 माह से 06 वर्ष के अतिकुपोषित बच्चों को नियमानुसार वितरण मानक प्रक्रिया के अनुसार किया जायेगा तथा वितरण के समय लाभार्थी या परिजनो के हस्ताक्षर प्राप्त किये जायेंगे। ड्राई राशन वितरण के उपरान्त लाभार्थी का नाम, लाभार्थी का आधार नम्बर व मोबाइल नम्बर तथा प्राप्तकर्ता (लाभार्थी/परिजन) का पूर्ण विवरण आंगनबाडी कार्यकत्री द्वारा अभिलेख में रक्षित किया जायेगा तथा पूरे विवरण की सूचना मुख्य सेविका के माध्यम से प्राप्त कर बाल विकास परियोजना अधिकारी एवं प्रभारी द्वारा जिला कार्यक्रम अधिकारी को अभिरक्षित किये जाने हेतु अनिवार्य रूप से वाटसएप के माध्यम से उपलब्ध कराया जाएगा एवं लाभार्थियों को वितरण का विवरण पोर्टल पर फीड कराया जायेगा। ड्राई राशन वितरण का सत्यापन ब्लाॅक निगरानी समिति, ग्राम निगरानी समिति तथा बाल विकास परियोजना अधिकारी एवं मुख्य सेविका के द्वारा अनिवार्य रूप से किया जायेगा तथा ड्राई राशन वितरण के फोटो प्रतिदिन वाटसएप के माध्यम से जिला कार्यक्रम अधिकारी को प्रेषित किये जायेंगे।
आंगनबाडी केन्द्रो पर ड्राई राशन प्राप्त होने के पश्चात जारी रोस्टर के अनुसार निर्धारित तिथि को वितरण व्यवस्था एवं कोविड-19 सम्बंधित सभी गाइड लाईन्स, जैसे-सोशल डिस्टेंन्सिग (जिसमें लाभार्थियों के बीच में कम से कम एक मीटर की दूरी रहे) का पालन किया जायेगा। आंगनबाडी कार्यकत्रियों एवं लाभार्थियों द्वारा मुंह ढंकने हेतु मास्क, दुपट्टे, गमछे का प्रयोग अनिवार्य रूप से किया जाएगा, प्रत्येक घण्टे मे कम से कम 20 सेकेण्ड तक साबुन से हाथ धोया जायेगा। इस दौरान आंख, नाक व मुंह को नही छुआ जाएगा। अनावश्यक भीड एकत्रित नही की जाएगी। ड्राई राशन वितरण के दौरान जो आंगनबाड़ी कार्यकत्री, सहायिका, एसएचजी सदस्य एवं लाभार्थी बीमार है, कोविड पोजिटिव है, कोविड पोजिटिव होने के लक्षण है, वह केन्द्र पर नहीं आयेगें।

Related posts

Leave a Comment