कुपोषण का चक्र तोड़ने के लिए अच्छा स्वास्थ्य व अच्छी शिक्षा जरूरी

शि.वा.ब्यूरो, शामली। प्रदेश के गन्न मंत्री सुरेश राणा ने कहा कोई कुपोषित महिला माँ बनती है तो निश्चित रूप से वह कुपोषित बच्चे को जन्म देती है। यदि महिला किसी लड़की को जन्म देती है तो वह कुपोषित किशोरी बनेगी उसकी शादी होगी कुपोषित माँ होगी, कुपोषित बच्चे को जन्म देगी। कुपोषण का चक्र इसी प्रकार से चलता रहेगा। कुपोषण का चक्र तोड़ने के लिए अच्छा स्वास्थ्य व अच्छी शिक्षा देना आवश्यक है। प्रदेश सरकार द्वारा आंगनबाड़ी केन्द्र पर पंजीकृत बच्चों के लिए नई पोषाहार प्रणाली के अन्तर्गत चना, दाल, सोयाबीन का तेल, दलिया आदि वितरित किया जाएगा, जो बच्चों के विकास में अहम भूमिका निभाएगा। सुरेश राणा शनिवार को विकास खण्ड थानाभवन के ग्राम मुल्लापुर में मिशन शक्ति अभियान के तहत आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।
सुरेश राणा ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा मिशन शक्ति अभियान के अन्तर्गत सबला सलोनी कार्यक्रम पूरे जनपद में चलाया जा रहा है। मिशन शक्ति के माध्यम से महिलाओं एवं किशोरियों को सुरक्षा के प्रति जागरूक किया जा रहा है। प्रदेश सरकार ने मिशन शक्ति के माध्यम से महिलाओं एवं किशोरियों को होने वाले अपराधों के प्रति जागरूक किया है। यदि किसी भी महिला के साथ कोई भी आपराधिक घटना, छेड़छाड़, दहेज प्रताड़ना, घरेलू हिंसा आदि कोई भी घटना होती है तो महिलाओं को डटकर सामना करना चाहिए तथा कानूनी सहायता लेनी चाहिए, जिससे उनको न्याय मिल सके। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को धन्यवाद दिया कि उन्होंने महिलाएं, बालिकाएं और कमजोर वर्ग के लिए तमाम योजनाएं चलाईं। मिशन शक्ति के मुख्य उद्देश्य नारी सम्मान, नारी सुरक्षा, नारी स्वावलम्बन के लिए सरकार दिन रात कार्य कर रही है और सरकारी योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने के लिए जनप्रतिनिधि भी लगातार जन सम्पर्क कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में सरकार महिलाओं की सुरक्षा के प्रति प्रतिबद्ध है। वर्तमान सरकार में महिलाएं किसी भी समय कहीं भी जा सकती हैं। महिलाओं में भय का वातावरण समाप्त हो गया है। इस सरकार में महिलाओं का सम्मान बढ़ा है। उनमें सुरक्षा की भावना विकसित हुई है और निर्भय होकर अपना कार्य कर रही हैं। नारी स्वावलम्बन को बढ़ावा देने के लिए वर्तमान सरकार स्वयं सहायता समूह के माध्यम से महिलाओं के उत्थान के लिए लगातार प्रयास कर रही है। जनपद में आज महिलाएं समूह से जुड़कर अपनी आजीविका चला रही हैं, जो वास्तव में महिला सशक्तीकरण की एक मिसाल है।
इस दौरान मंत्री सुरेश राणा द्वारा कार्यक्रम में किशोरी बालिकाओं को सैनेटरी नेपकिन पेड, दूध-घी का वितरण किया तथा छह गर्भवती की गोइभराई की गयी एवं सात बच्चों का अन्नप्राशन कराया गया। सबला सलोनी कार्यक्रम के अन्तर्गत किशोरियों के लिए स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें 50 किशोरियों का स्वास्थ्य परीक्षण, हिमोग्लोबिन की जांच, वजन एवं लम्बाई की माप की गई। इस दौरान आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं एवं किशोरी बालिकाओं द्वारा रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में संतोष कुमार श्रीवास्तव जिला कार्यक्रम अधिकारी, शैलेन व्यास उपायुक्त स्वतः रोजगार, प्रभारी बाल विकास परियोजना अधिकारी थानाभवन गजेश सैनी, मुख्य सेविका विमला शर्मा एवं ग्राम मुल्लापुर की समस्त आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका मौजूद रहीं।

Related posts

Leave a Comment