चित्रकूट में 20-22 नवम्बर 2020 को प्रस्तावित कूर्मि महासभा की कार्यकारिणी समिति की बैठक को असंवैधानिक और अवैध बताया

कूर्मि कौशल किशोर आर्य, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र।

अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा की सभी समितियां भंग है ऐसे में कार्यकारिणी समिति की बैठक आयोजित करना असंवैधानिक और मनमानी करना है। आरोप है कि कुछ लोग अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा में विगत लगभग 30 वर्षों से राष्ट्रीय अध्यक्ष, महासचिव, कोषाध्यक्ष समेत सभी प्रमुख पदों पर कब्जा जमाकर बैठे हैं और अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा के 126 वर्ष के गौरवशाली इतिहास को खंडित करके बर्बाद करने पर तुले हुए हैं।

बता दें कि वर्ष 2008 को हैदराबाद में हुए अधिवेशन के चुनाव में एलपी पटेल को राष्ट्रीय अध्यक्ष और आरएस कनौजिया को राष्ट्रीय महासचिव चुने जाने के बावजूद कार्यभार नहीं सौपकर उमाशंकर कटियार दूसरा गुट बनाकर खुद उसके राष्ट्रीय अध्यक्ष बन गये थे और जीवन पर्यन्त राष्ट्रीय अध्यक्ष बने रहे थे। उनके निधन के बाद परिवारवाद जारी है। जानकारों की मानें तो 20-23 अगस्त 2020 के महासभा के राष्ट्रीय और प्रदेश स्तर के पदाधिकारियों ने ऑनलाईन मीटिंग में विचार-विमर्श करने के बाद सभी राष्ट्रीय और प्रदेश स्तर के कमिटी को भंग करके सर्वसम्मति से छतीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पिता नन्दकुमार बघेल रायपुर को महासभा का कार्यवाहक राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोनीत किया था। इसके बाद बिना राष्ट्रीय अध्यक्ष की अनुमति के 20-22 नवम्बर 2020 को यूपी के बांदा जिले के चित्रकुट में अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा की कार्यकारिणी समिति की बैठक आयोजित करना पूरी तरह से गलत, असंवैधानिक और अवैध है, क्योंकि जब महासभा की राष्ट्रीय स्तर की और प्रदेश स्तर की समितियां भंग की जा चुकी है, ऐसे में बिना राष्ट्रीय अध्यक्ष की अनुमति कार्यकारिणी समिति की बैठक असंवैधानिक होगी।
        कोरोना के शांत होते ही अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा के लोकतांत्रिक संवैधानिक तरीके से पूरे पारदर्शिता के साथ चुनाव कराने के लिए रायपुर (छतीसगढ़) आम सभा बुलाने की तिथि की घोषणा की जाएगी। तब तक जो जहां भी है अपने 126 वर्ष पुराने अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा को अक्षुण्ण बनाये रखने के लिए देश के सभी कूर्मि शाखाओं, उपजातियों के सदस्य मिलकर अपने हिस्से की भूमिका का निर्वहन करें।

राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा

Related posts

Leave a Comment