डाॅ.मिली भाटिया की पैंटिंग “मैं नारी मेरा अंतर्मन” में दिखी थी नारी सशक्तिकरण की झलक

शि.वा.रावतभाटा (राजस्थान)। डाक्टर मिली भाटिया आर्टिस्ट ने वूमेन डे पर ढेर सारी शुभकामनाएँ देते हुए कहा है कि नारी में सभी तरह की प्रतिभा का समावेश होता है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2008 में बनाई अपनी सात पेंटिंग्स में नारी के अनकहे दर्द को बखूबी उकेरा था। नारी अंतर्मन की 7 पेंटिंग की सिरीज का इंटरनैशनल वोमेन डे पर 10 साल पहले जयपुर जवाहर कला केंद्र में 8 मार्च 2011 को प्रदर्शनी में काफी सराहना मिली थी और उसका टेलिविजन पर 7 मिनट का शो भी प्रसारित हुआ था। उन्होंने कहा कि मैं नारी मेरा अंतर्मन में शीर्षक के तहत उकेरी गयी पैंटिंग्स में जिस दर्द को दर्शाया गया था, उस दर्द से औरत को निजात मिलनी ही चाहिए। यदि हम नारी को उसके दर्द से थोडी भी राहत दे सके तो मैं समझूंगी की वूमेन डे सार्थक हुआ, अन्यथा………………….वूमेन डे पर ढेर सारी शुभकामनाएँ।

Related posts

Leave a Comment