आयुष्मान पखवाड़ा कल 24 मार्च तक, आशा-आंगनबाड़ी कार्यकत्री करेंगी कार्ड बनवाने में मदद

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। जनपद में कल 10 मार्च से आयुष्मान पखवाड़ा आयोजित किया जा रहा है। यह पखवाडा 24 मार्च तक चलेगा। इस दौरान आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के लाभार्थियों के आयुष्मान कार्ड बनाये जाएंगे। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 एसके अग्रवाल ने जनपदवासियों से अपील की है कि योजना के सभी लाभार्थी, जिनके आयुष्मान कार्ड नहीं बने हैं, वह आयुष्मान पखवाड़ा का लाभ उठाते हुए तुरंत अपने कार्ड बनवा लें। सभी लाभार्थियों के कार्ड निशुल्क बनाए जाएंगे। उन्होंने बताया गोल्डन कार्ड का नाम बदलकर अब आयुष्मान कार्ड कर दिया गया है।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया शासन के निर्देशानुसार जनपद में 10 से 24 मार्च तक आयुष्मान पखवाड़ा का आयोजन किया जाएगा। इस आयोजन का उद्देश्य आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एवं मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान के लाभार्थियों को शत-प्रतिशत आयुष्मान कार्ड उपलब्ध कराना है। नोडल अधिकारी राघवेंद्र सिंह ने बताया शासन से पखवाड़े के विस्तृत प्रचार-प्रसार के निर्देश दिए गए हैं। आशा-आंगनबाड़ी कार्यकर्ता कार्ड विहीन लाभार्थियों को आयुष्मान कार्ड कैंप तक लेकर पहुंचेंगी। उन्हें आयुष्मान कार्ड बनवाने हेतु प्रति कार्ड पांच रुपए और प्रति परिवार अधिकतम 10 रुपए की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। काॅमन सर्विस सेंटर की ओर से आयुष्मान कार्ड निशुल्क बनाया जाएगा। अभी तक जनपद में एक लाख से ज्यादा आयुष्मान कार्ड बनाए जा चुके हैं।
ज्ञात हो कि इस योजना में लाभार्थी परिवार को प्रतिवर्ष पांच लाख रुपये का मुफ्त हेल्थ बीमा प्रदान किया जाता है। इस योजना की मुख्य बात यह है कि यह पूरी तरह पेपर लेस तथा कैशलेस है, यानि मरीज या उसके परिवार को कोई पैसा एडवांस में सरकार या किसी निजी अस्पताल में नहीं जमा करना पड़ता है। इस योजना में शामिल होने के लिए किसी प्रकार का आवेदन करने की जरूरत नहीं पड़ती। इस योजना में भारत सरकार द्वारा 2011 की आर्थिक जनगणना के आधार पर स्वतः ही उन लोगों को शामिल कर लिया गया, जो पूर्णतः गरीब हैं, छोटे मोटे कार्य करके अपने परिवार का पालन पोषण करते हैं। कैंसर, दिल की बीमारी, किडनी और लिवर की बीमारी, डायबटीज समेत 1525 से अधिक बीमारियों का इलाज इसमें शामिल है। इन गंभीर बीमारियों का इलाज सरकारी ही नहीं बल्कि अनेक निजी अस्पतालों में भी किया जाता है। साथ ही यदि किसी को पहले से कोई बीमारी है तो उसको भी इस योजना के तहत लाभ मिलता है। पांच लाख रुपए तक निशुल्क उपचार वाली आयुष्मान भारत योजना का लाभ उठाने के लिए लाभार्थी परिवार के हर सदस्य के पास आयुष्मान कार्ड होना आवश्यक है।
जिले में नौ सरकारी व 12 निजी अस्पतालों में आयुष्मान भारत योजना के तहत उपचार की सुविधा है। सरकारी अस्पताल- ब्लाॅक स्तरीय समस्त सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, जिला अस्पताल एवं जिला महिला अस्पताल सहित कुशवाहा आई हाॅस्पिटल, आइ क्यू हाॅस्पिटल, लूथरा आई हाॅस्पिटल, हार्ट एंड इमरजेंसी सेंटर, केयर पार्टनर हाॅस्पिटल खतौली, मुजफ्फरनगर मेडिकल बेगराजपुर, शांति मदन अस्पताल, रतन सिंह हाॅस्पिटल, निर्वाल हाॅस्पिटल, गंगाराम हाॅस्पिटल, नेहरू आई हाॅस्पिटल, तनेजा हाॅस्पिटल आदि प्राइवेट अस्पताल में भी ये सुविधा उपलब्ध है।

Related posts

Leave a Comment