अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर विधिक साक्षरता शिविर आयोजित

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव सलोनी रस्तोगी ने बताया कि उत्तर प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण से प्राप्त कलेन्डर के अनुसार जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की ओर से कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय नगर क्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस विषय पर विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव ने महिलाओ को महिलाओ के प्रति होने होने वाले अत्याचार व भ्रूण हत्या रोकथाम के सम्बन्ध मे विस्तार से बताते हुए कहा कि हमारे संविधान में पुरूषो के समान ही महिलाओं को भी अधिकार प्राप्त है। उन्होंने कहा कि महिलाओं का देश के विकास में पुरूषो के समान योगदान है।

उन्होंने उत्तर प्रदेश राज्य द्वारा महिलाओ के सम्बन्ध में चलायी जा रही विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के बारे में विस्तार पूर्वक बताया। शिविर में बालिकाओं तथा उनके अभिभावकों को कानूनी अधिकारों की जानकारी दी गयी। उन्होंने बताया कि सशक्तीकरण के लिये अधिकारों के प्रति जागरूक होना आवश्यक है। सविंधान में दिये गये मूल अधिाकर घरेलू हिंसा अधिनियम 2005, कार्यस्थल पर महिलाओं का यौन शोषण से संरक्षण अधिनियम 2013, दहेज प्रतिषेध अधिनियम कानून तथा बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम, पी0सी0पी0एन0डी0टी0 एक्ट आदि की कानूनी जानकारी दी गयी। शिविर में उपस्थित माताओं तथा अभिभावकों से अपील की गयी कि बालक बालिकाओं को खूब पढ़ाएं तथा अपने बेटों को संस्कार दें कि वह महिलाओं का सम्मान करें। परिवार में बेटा व बेटी के लिए बराबरी का महौल हो।

इस अवसर पर बीईओ डा0 सविता डबराल, ममता शर्मा, नेहा गर्ग, शिल्पा सैनी, साईना, रजनी, मुनेश, अलका, टीना, अमन आदि के द्वारा उपस्थित महिलाओ को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करते हुए विस्तृत जानकारी दी गयी। सलोनी रस्तोगी ने अवगत कराया कि आगामी राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन 10 अप्रैल द्वितीय शनिवार को दीवानी न्यायालय परिसर व वाहृय न्यायालय बुढाना में किया जायेगा, जिसमें आपराधिक, 138 एनआई एक्ट, बैक रिकवरी, मोटर दुर्घटना प्रतिकर याचिका, टेलीफोन, बिजली एवम् पानी के बिल, वैवाहिक वाद, भूमि अधिग्रहण, राजस्व वाद, तथा सिविल वादों का निस्तारण किया जायेगा।

Related posts

Leave a Comment