शिक्षिका के साथ अभद्रता करने पर शिक्षकों में उबाल, बीईओ को दिया ज्ञापन


शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। शिक्षिका के साथ अभद्रता के खिलाफ अपने आक्रोश का इजहार करते हुए भोपा बीआरसी पर शिक्षक-शिक्षिकाओं ने खण्ड शिक्षा अधिकारी जितेन्द्र कुमार को ज्ञापन सौंपकर किया। इस अवसर पर शिक्षक संघ के ब्लाॅक अध्यक्ष ट्टषिराज सहित शिक्षक-शिक्षिकाएं, शिक्षामित्र व अनुदेशक मौजूद रहे।
खतौली ब्लाॅक में कार्यरत शिक्षक सोविन्द सिंह ने बताया कि क्षेत्र के ग्राम सिखेडा स्थित प्राथमिक विद्यालय में मजदूरों द्वारा रसोई निर्माण का कार्य किया जा रहा है। गत दिवस 4 मार्च को जिस समय महिला शिक्षक ममता शिक्षण कार्य कर रही थी, उसी समय ही गांव का ही एक युवक स्कूल में आया और शिक्षिका पर बच्चों से निर्माण कार्य कराने और पढ़ाई न कराने का आरोप लगाते हुए गाली-गलौच करने के साथ ही हाथापाई करने लगा। आरोप है कि युवक ने महिला को थप्पड़ भी मारा, जिससे उसके कानों का कुण्डल भी टूट कर गिर गया था, हालांकि कुण्डल बाद में वहीं पड़ा हुआ मिल गया था। वहां कार्य कर रहे मज़दूरों ने बामुश्किल शिक्षिका को बचाया। महिला शिक्षक ने ममता ने बताया कि उक्त युवक पहले भी अभद्रता कर चुका है। तीन पूर्व भी उसने मोबाइल फोन से शिक्षिका के फोटो खिचे थे। जिम्मेदार लोगों समझाकर करके उक्त मामले को शांत करा दिया था और मोबाइल से फोटो डिलिट करा दिये थे, लेकिन उक्त युवक ने फोटो डिलिट करने का बदला लेने के लिए आज फिर उक्त वारदात को अंजाम दिया है।


शिक्षक सोविन्द सिंह का कहना है कि आरोपी युवक मनगडन्त बाते कर रहा है। उनका कहना है कि जब विद्यालय का निर्माण कार्य मजदूरों द्वारा किया जा रहा है, ऐसे में भला कोई बच्चों से निर्माण कार्य करने के लिए क्यों कहेगा। इसके बावजूद कक्षा एक का बच्चा क्या निर्माण करेगा, यह सोचने वाली बात है। उन्होंने बताया कि आरोपी युवक षड़यंत्रकारी व शातिर है, इसलिए वह वारदात को अंजाम देने के बाद तुरन्त ही शिक्षिका की शिकायत लेकर उपजिलाधिकारी के पास पहुंच गया।
शिक्षक नेता बालेन्द्र सिंह का कहना है कि महिला शिक्षक के साथ अभद्रता को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। उन्होंने कहा कि यदि किसी को किसी शिक्षक या शिक्षिका से शिकायत है तो वह उच्चाधिकारियों से मिलकर कार्यवाही की मांग कर सकता है, लेकिन इस तरह की वारदात अपराधिक कृत्य है। उक्त वारदात के खिलाफ कल गुरूवार को ही शिक्षक नेता बालेन्द्र सिंह व संजीव बालियान के नेतृत्व में राजेन्द्र, रजनी, नीतू, पूजा, भावना, सोविन्द्र सिंह व नरेन्द्र आदि दर्जनों शिक्षक-शिक्षिकाओं ने खतौली कोतवाली पहुंचकर आरोपी के खिलाफ तहरीर दे दी थी और पुलिस ने तहरीर के अनुसार त्वरित कार्यवाही करते हुए आरोपी के भाई को हिरासत में लेकर मामले की पड़ताल आरम्भ कर दी थी। शिक्षकों का आरोप है कुछ कथित मीडियाकर्मियों ने भी इस मामले में नकरात्मक रवैया अपनाया है। आरोप है कि उन्होंने ग्रामीणों को उकसाकर बच्चों के साथ कुछ फर्जी फोटो खींचकर मामले को गलत दिशा देने का काम किया है।

Related posts

Leave a Comment