विरोध के बाद मंत्री कपिल देव ने कंपनी बाग में रुकवाया आईपीएस प्लांट का काम

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। शहर के कंपनी बाग में जल निगम द्वारा सीवरेज से जुड़े आईपीएस प्लांट के निर्माण को लेकर पिछले दो दिन से चल रहे विरोध के बाद आज एक बार फिर से नागरिकों का गुस्सा फूट पडा। निर्माण कार्य जारी रहने के विरोध में नागरिकों ने जमकर हंगामा किया। नगरपालिका चेयरमैन ने भी विरोध कर रहे नागरिकों के बीच पहुंचकर प्लांट के निर्माण का विरोध किया। हंगामे की सूचना पाकर एसडीएम सदर भी फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। बाद में मंत्री कपिल देव अग्रवाल के साथ नागरिकों तथा एसडीएम सदर की फोन पर वार्ता हुई, जिसके बाद फिलहाल प्लांट निर्माण का कार्य रोक दिया गया है। अधिकारियों ने नुमायश मैदान में प्लांट के निर्माण के लिए सर्वे कराने की बात कही है।
कमला नेहरू वाटिका (कंपनी बाग) में जल निगम द्वारा सीवरेज से जुड़े आईपीएस प्लांट का निर्माण कराया जा रहा है, इसके विरोध में पिछले दो दिनों से बाग में घूमने वाले सैकड़ों नागरिक विरोध दर्ज कर रहे हैं। बुद्धवार को जब कंपनी बाग में प्लांट के लिए जगह चिन्हित की गई तभी सैंकडों लोग इसके विराध में प्रदर्शन पर उतर आए। लोगों के विरोध के बाद विभागीय अधिकारियों तथा ठेकेदार द्वारा काम बंद करने का आश्वासन दिया गया, लेकिन नागरिकों के वहां से जाते ही आईपीएस प्लांट के निर्माण का कार्य जोर-शोर से शुरू कर दिया गया। निर्माण कार्य जारी रहने पर गुरुवार को फिर से नागरिकों में रोष व्याप्त हो गया। नागरिकों ने इस संबंध में मंत्री कपिल देव अग्रवाल तथा अन्य जनप्रतिनिधियों को भी अवगत कराकर आईपीएस प्लांट के निर्माण का कार्य तत्काल रुकवाने की अपील की।


नागरिकों के एक प्रतिनिधिमंडल ने जल निगम के अधिकारियों, नगर पालिका परिषद चेयरमैन अंजू अग्रवाल तथा जिलाधिकारी के नाम ज्ञापन देकर प्लांट का निर्माण कार्य तत्काल रुकवाने तथा इसे कंपनी बाग से नुमाइश कैंप अथवा अन्य स्थान पर स्थानांतरित किए जाने की मांग की। चेयरमैन अंजू अग्रवाल ने प्रतिनिधिमंडल को बताया कि वह भी कंपनी बाग में आईपीएस प्लांट लगवाने के विरोध में है। उन्होंने इस संबंध में जिलाधिकारी को भी पत्र लिखकर इस प्लांट को राइफल क्लब के सामने अथवा नुमाइश ग्राउंड में स्थानांतरित किए जाने की मांग की है, ताकि इसके कारण कंपनी बाग में घूमने वाले नागरिकों के स्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रतिकूल प्रभाव को रोका जा सके। प्रतिनिधिमंडल ने अपर जिलाधिकारी आलोक कुमार को भी इस संबंध में ज्ञापन सौंपा था। इसके बाद भी जब निर्माण कार्य जारी रहा तो लोगों के सब्र का बांध टूट गया और सैंकडों की तादाद में कंपनी बाग में घूमने वाले लोगों ने प्लांट पर खडा होकर विरोध दर्ज कराया। प्रदर्शन करने वालों में बडी संख्या में महिलाएं भी शामिल रहीं। इस बीच नगर पालिका चेयरमैन अंजू अग्रवाल ने भी मौके पर पहुंचकर नागरिकों की मांग का समर्थन किया तथा अधिकारियों से बात कर प्लांट का निर्माण कार्य रोकने के लिए कहा। उन्होने कहा कि प्लांट का निर्माण कार्य नगरपालिका की अनुमति के बिना कराया जा रहा है और नगर पालिका इसका निर्माण रोकने के लिए हरसंभव कदम उठाएगी। हंगामे की सूचना पाकर एसडीएम सदर पुलिस अधिकारियों व फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। चेयरमैन ने उनसे भी निर्माण कार्य रुकवाने के लिए कहा मगर एसडीएम ने इससे सहमत नहीं दिखे। इस पर चेयरमैन ने नागरिकों को भरोसा दिलाया कि वह नागरिकों के साथ हैं ओर प्लांट का निर्माण किसी भी दशा में नहीं होने दिया जाएगा। प्लांट के निर्माण को लेकर घंटों हंगामे की स्थिति बनीं रही।


बाद में नागरिकों ने मंत्री कपिल देव अग्रवाल से फोन पर वार्ता कर उन्हें पूरे मामले से अवगत कराया। मंत्री कपिल देव व अधिकारियों के बीच इस सबंध में वार्ता हुई, जिसके बाद एसडीएम ने प्लांट निर्माण के लिए नुमायश मैदान में सर्वे कराने की बात कही, साथ ही प्लांट के निर्माण का कार्य भी रोक दिया गया। नागरिकों ने इस पर हर्ष व्यक्त करते हुए कहा कि उन्हें भरोसा है कि मंत्री कपिल देव व चेयरमैन अंजू अग्रवाल नागरिकों के हित में प्लांट को नुमायश कैंप में स्थानांतरित कराएंगे। विरोध करने वालों में जिला बार संघ के पूर्व महासचिव प्रदीप मलिक, अमरीश चौधरी, अरविन्द कुमार, शैलेन्द्र मलिक, अमित कुमार, जितेन्द्र चौधरी, बिट्टू, चौधरी नवीन सेठ एडवोकेट, शरणवीर सिंह तोमर, नवाब सिंह, प्रदीप चौधरी, अर्जुन, युद्धेश मित्तल, दिवाकर शर्मा, सईद अहमद, जीशान, सरदार खान, राशिद, शारिक, अब्बास, सरवर, अतुल हसन एडवोकेट, हीरा भाई, सरदार शौरण सिंह आदि सहित सैंकडों लोग व महिलाएं मौजूद रहीं।

Related posts

Leave a Comment