मोटेरा क्षेत्र में स्थित स्टेडियम का नाम बदलने पर उबला कुर्मी समाज, देशभर में आंदोलन की चेतावनी

शि.वा.ब्यूरो, बदायूं। गुजरात के मोटेरा क्षेत्र में स्थित स्टेडियम का नाम आधुनिक भारत के निर्माता किसानों के मसीहा लौह पुरुष भारत रत्न सरदार वल्लभ भाई पटेल के नाम पर सन 1994-95 में सरदार पटेल स्टेडियम रखा गया था, गुजरात की भाजपा सरकार द्वारा देश के महापुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल को अपमानित करते हुए 132000 दर्शकों की क्षमता वाले विश्व के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम का नाम 24 फरवरी 2021 को नरेंद्र मोदी स्टेडियम रख दिया। बड़ी अफसोस की बात यह है कि इस स्टेडियम का उद्घाटन स्वयं किया था। उक्त घटना से देशभर के कुर्मी समाज सहित सरदार पटेल समर्थक आहत हैं।

भाजपा सरकार महापुरुषों के नाम बदलकर अपनी पार्टी के जीवित नेताओं के नाम पर रख रही है, जो अत्यंत निंदनीय है भारतीय कुर्मी महासभा भाजपा सरकार और गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन के इस कृत्य का विरोध करती है और मांग करती है कि देश के श्रेष्ठतम महापुरुष सरदार बल्लभ भाई पटेल के सम्मान में उक्त स्टेडियम पटल से नरेंद्र मोदी का नाम हटाकर पुनः सरदार पटेल स्टेडियम नाम रखा जाएं, जिससे महामानव सरदार पटेल को यथोचित सम्मान प्राप्त हो सके अगर ऐसा नही होता है, तो महासभा उत्तर प्रदेश सहित संपूर्ण देश में भाजपा सरकार का पुरजोर विरोध करते हुए सरदार पटेल के सम्मान में लोकतांत्रिक तरीके से आंदोलन करेगी, जिसकी संपूर्ण जिम्मेदारी भाजपा सरकार की होगी, के संवंध मे आज भारतीय कुर्मी महासभा ने  जिलाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन सौंपा। इस मौके पर जिला अध्यक्ष कुलदीप सिंह पटेल, जिला महासचिव डीवी सिंह पटेल, महेंद्र सिंह पटेल, प्रदीप कुमार सिंह, आशीष कुमार, रवीश कुमार, प्रेमपाल सिंह, रघुवीर सिंह, मनोज राठौर एडवोकेट, सतीश चंद्र सिंह, भारत सिंह, जोगिंदर सिंह राठौर, शिवेंद्र पटेल,अक्षय कुमार, दुर्विजय, आरती राठौर एडवोकेट, विनय पटेल, दिलीप कुमार, रजनीश पटेल, भूदेव सिंह, राजपाल सिंह, हरिकिशन एडवोकेट, मुकेश सिंह पटेल, राहुल कुर्मी, शिवा कनौजिया, शिशुपाल सिंह, सर्वेश सिंह पटेल आदि लोग  उपस्थित रहे।

Related posts

Leave a Comment