श्रीराम काॅलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग में टैक फेयर-2021 आयोजित

शि.वा.ब्यूरो, मुज़फ्फरनगर। राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के अवसर पर श्रीराम ग्रुप ऑफ़ काॅलेजेज की इकाई श्रीराम काॅलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग में इनोवेशन एण्ड टैक्नोलाॅजी इन इण्डिया थीम पर “टैक फेयर-2021“ कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें विभिन्न जिलों से आए 55 काॅलेजों के 2045 विद्यार्थियों ने लगभग 212 से अधिक माॅडल्स के साथ प्रतिभागिता की। कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि कुलपति शोभित विश्वविद्यालय मेरठ प्रो0 रंजीत सिंह, कुलपति महर्षि दयानन्द सरस्वती विश्वविद्यालय अजमेर प्रो0 आरपी सिंह, श्रीराम ग्रुप ऑफ़ काॅलेजेज़ के चेयरमैन डा0 एससी कुलश्रेष्ठ, श्रीराम काॅलेज के निदेशक डाॅ0 आदित्य गौतम, श्रीराम काॅलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग के निदेशक डा0 आलोक गुप्ता, श्रीराम काॅलेज की प्राचार्य डा0 प्रेरणा मित्तल एवं श्रीराम काॅलेज ऑफ़ फार्मेसी के निदेशक डाॅ0 गिरेन्द्र गौतम द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर किया गया।


मिडिया प्रभारी रवि गौतम ने बताया कि टैक फेयर 2021 को दो भागो- विज्ञान प्रदर्शनी एवं टैकनोवेव में बांटा गया था। विज्ञान प्रदर्शनी को  वर्ग ए और वर्ग बी में विभाजित किया गया। वर्ग ए में कक्षा 9 एवं 10 के विद्यार्थियों को शामिल किया गया तथा वर्ग बी में कक्षा 11 एवं 12 के विद्यार्थियों को सम्मिलित किया गया। प्रदर्शनी में कई जिलों से आए काॅलेजों के बालवैज्ञानिकों ने प्राकृतिक संसाधन, अंतरिक्ष, ऊर्जा-प्रबंधन, आपदा प्रबंधन, विज्ञान और समाज, नाभिकीय विज्ञान, स्वास्थ्य व पर्यावरण आदि विषयों पर क्रियाशील एवं अक्रियाशील माॅडल्स प्रस्तुत किए। इसमें “ए वर्ग“ के क्रियाषील माॅडल्स में प्रथम पुरस्कार के लिए मोहसीन रजा व तुषार को मल्टीप्रपज ड्रोन के लिये चयन किया गया जो हाॅली चाइल्ड पब्लिक इंटर काॅलेज जदौडा से है। द्वितीय पुरस्कार एसडी पब्लिक स्कूल, मुजफ्फरनगर के अर्नव, नंदनी गर्ग, नीनि अग्रवाल द्वारा बनाये गये ग्रीन पाॅवर हाऊस प्लांट को दिया गया। तृतीय पुरस्कार आदर्श इंटर काॅलेज तलेहडी बुजूर्ग, सहारनपुर के राहुल, मनीष, विनीत, अतुल को वैक्यूम क्लिनर माॅडल के लिये दिया गया।

रवि गौतम ने बताया कि ए वर्ग की ही अक्रियाषील माॅडल्स की श्रेणी में प्रथम पुरस्कार देवी उमरा कौर वैदिक इंटर काॅलेज शामली के दीपाली, आकांक्षा, रूपल को क्लिन इंनवायरमेंट माॅडल के लिये दिया गया। द्वितीय पुरस्कार के0के0 पब्लिक स्कूल खतौली, मुजफ्फरनगर के अभिषेक, अनिकेत, मुकूल को न्यूकलर साइंस माॅडल के लिये दिया गया। तृतीय पुरस्कार आरडी इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल, तलहेडी बुजूर्ग, सहारनपुर के इकरा, आकांक्षा, नव्या को इलैक्ट्रिक पाॅवर सिस्टम माॅडल के लिये दिया गया। रवि गौतम ने बताया कि “बी वर्ग“ के क्रियाषील माॅडल्स में प्रथम पुरस्कार एसडी पब्लिक स्कूल मुजफ्फरनगर के शिवानी, गरिमा, नन्दनी को वेस्ट मैनेजमेंट माॅडल के लिये दिया गया। द्वितीय पुरस्कार इस्लामिया इंटर काॅलेज मुजफ्फरनगर के सुवेब, मौ0 आदिल, अब्दुल कादिर, अब्दुल खारिद को वायरलैस माॅडल के लिये दिया गया। तृतीय पुरस्कार कल्याणकारी इंटर काॅलेज जग्गाहेडी मुजफ्फरनगर के आँचल, श्रेया और सुहानी को एनर्जी मैनेजमेंट माॅडल के लिये दिया गया।

रवि गौतम ने बताया कि “बी वर्ग“ की ही अक्रियाषील माॅडल्स की श्रेणी में प्रथम पुरस्कार श्रीके0के0 इंटर काॅलेज मुजफ्फरनगर के विद्यार्थियों लवीश और हिमांशु को मैथमेटिक्स माॅडल के लिये दिया गया। द्वितीय पुरस्कार हाॅली चाइल्ड पब्लिक स्कूल जदौडा मुजफ्फरनगर के आरम्भ, करिना, हिमांशु, को वुहान चाइना लैब माॅडल के लिये दिया गया। तृतीय पुरस्कार आरके इंटर काॅलेज शामली के पंकज कुमार, विकास कुमार, अभिषेक कुमार, रजत, केशव को साइंस एंड सोसाइटी माॅडल के लिये दिया गया। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम के दूसरे भाग टैकनोवेव में लेन गेमिंग, पोस्टर मेकिंग, प्रजेंटेशन मेकिंग, टाइपिंग मास्टर, बैस्ट आउट ऑफ़ वेस्ट तथा क्वीज आदि प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। जिसमें लेन गेमिंग प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार आदित्य कुमार एवं आकाश चैधरी ने प्राप्त किया। द्वितीय पुरस्कार आदर्श द्विवेदी एवं शिवांश बंसल को दिया गया। तृतीय पुरस्कार कुलदीप राजपूत एवं अंशुल सिंह को दिया गया। पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार अरमान और हिमांशु प्रजापति सरस्वती विद्या मंदिर इंटर काॅलेज के विद्यार्थियों को दिया गया। द्वितीय पुरस्कार लाला जगदीश प्रसाद सरस्वती इंटर काॅलेज के सागर कल्याण एवं भावना जोशी ने प्राप्त किया। तृतीय पुरस्कार न्यू हाॅलिजन पब्लिक स्कूल की मानसी नागर को दिया गया। प्रजेंटेशन मेकिंग प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार न्यू हाॅलिजन पब्लिक स्कूल की प्रिया गुप्ता ने प्राप्त किया। द्वितीय पुरस्कार डीएस पब्लिक स्कूल के उज्जवल ने प्राप्त किया। तृतीय पुरस्कार न्यू हाॅलिजन पब्लिक स्कूल की अनुष्का भटनागर ने प्राप्त किया। टाईपिंग मास्टर प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार डीएस पब्लिक स्कूल के उज्जवल, द्वितीय पुरस्कार स्काटिस इंटर स्कूल की गार्गी शर्मा तथा तृतीय पुरस्कार डीएस पब्लिक स्कूल के तरूण को मिला।


रवि गौतम ने बताया कि बैस्ट आउट ऑफ़ वेस्ट प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार कबूल कन्या इंटर काॅलेज के शोहेब खान तथा एलिस ने प्राप्त किया। द्वितीय पुरस्कार गोल्डन पब्लिक स्कूल मुजफ्फरनगर की कुंजन शर्मा एवं संस्कृति शर्मा को दिया गया। तृतीय पुरस्कार जनता कन्या इंटर काॅलेज शिवपुरी खतौली की मंतसा एवं सानिया ने प्राप्त किया। क्विज़ प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार प्रगति सीनियर सैकेण्ड्री स्कूल के अब्दुल कादिर ने प्राप्त किया। द्वितीय पुरस्कार श्रीकेके इंटर काॅलेज के हिमांशु ठाकुर और तृतीय पुरस्कार प्रगति सीनियर सैकेण्ड्री स्कूल और सावेज जुंग को मिला।

कार्यक्रम के समापन अवसर पर मुख्य अतिथि अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) अमित कुमार ने विजेताओं की प्रशंसा करते हुए कहा कि बालवैज्ञानिकों के उत्कृष्ट प्रदर्शन से परिलक्षित होता है कि देश का भविष्य उज्जवल है और वह दिन दूर नहीं जब भारत विज्ञान और तकनीकी क्षेत्र में दुनिया का नेतृत्व करेगा। उन्होंने कहा कि ऐसे आयोजनों से विद्यार्थियों की परिकल्पना क्षमता का विकास होता है। जिसके माध्यम से भविष्य में आगे चलकर बाल वैज्ञानिक देश और मानवता के हित में नए आविष्कार करने के लिए प्रेरित होंगे। श्रीराम ग्रुप ऑफ़ काॅलेजेज़ के चेयरमैन डा0 एससी कुलश्रेष्ठ ने कहा कि पुरस्कार जीतना ही महत्वपूर्ण नहीं है, बल्कि ऐसी प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग करना उससे भी ज्यादा महत्वपूर्ण है। विद्यार्थियों द्वारा तैयार किए गए माॅडल इतनी उच्चस्तरीय रचनात्मकता से ओत-प्रोत थे कि हमारे लिए विजेताओं का चयन करना काफी कठिन था। उन्होंने कहा कि श्रीराम ग्रुप ऑफ़ काॅलेजेज़़ बाल वैज्ञानिकों की प्रतिभा को निखारने वाले कार्यक्रमों का समय-समय पर आयोजन करता रहता है।


श्रीराम काॅलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग के निदेशक डा0 आलोक गुप्ता ने कहा कि इस वर्ष पिछले साल के मुकाबले अधिक संख्या में विद्यार्थियों ने प्रतिभाग किया है, जिससे पता चलता है कि नई पीढ़ी विज्ञान और तकनीक के क्षेत्र में अपना करियर बनाने के लिए काफी उत्साहित है। उन्होंने कहा कि विज्ञान में चिंतन, तर्क, प्रयोग तथा परीक्षण के बिना किसी बात को सत्य नहीं माना जाता। बाल वैज्ञानिकों के माॅडल यह संदेश देते हैं कि प्रयोग के बाद उनमें निहित सिद्धांतों को भी समझना जरूरी है। यदि विद्यार्थी रूचि लेकर प्रयोग करेंगे तो उनसे कुछ न कुछ अवश्य सीखने को मिलेगा। विभिन्न इंटर काॅलेजों से आए हुए विद्यार्थियों ने बढ़-चढ़कर रंगारंग कार्यक्रमों में भी प्रतिभाग किया और अतिथियों ने प्रतिभागियों को नकद पुरस्कार भी प्रदान किया एवं कार्यक्रम के बीच-बीच में लकी ड्रा का भी आयोजन किया गया और विजेताओं को पुरस्कृत भी किया गया।


इस अवसर पर श्रीराम ग्रुप ऑफ़ काॅलेजेज़ के निदेशक डा0 आलोक गुप्ता एवं डीन एकेडमिक साक्षी श्रीवास्तव कार्यक्रम काॅर्डिनेटर कनुप्रिया, नीतू सिंह, रूपल मलिक, ई0 रोहताश सिंह, ई0 अर्जुन सिंह, ई0 पवन कुमार गोयल, डा0 मोहित शर्मा, आर्किटैक्ट अश्वनी कल्याणी, डा0 सुभाष यादव, ई0 पवन कुमार, ई0 पीयुष चौहान, अजय चौहान, पाॅलिटैक्निक प्रधानाचार्य डा0 रविन्द्र कुमार सैनी, ई0 आशीष कुमार, ई0 आलिम जैदी, एवं अन्य संकाय सदस्य उपस्थित रहें।

Related posts

Leave a Comment