अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा के कोर कमिटी की बैठक रायपुर में आयोजित, सरदार पटेल क्रिकेट स्टेडियम का नाम बदलकर नरेंद्र मोदी क्रिकेट स्टेडियम करने के खिलाफ आंदोलन करने के लिए प्रस्ताव पास

कूर्मि कौशल किशोर “आर्य”, रायपुर (छत्तीसगढ़)। अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा के कोर कमिटी की आवश्यक बैठक रायपुर स्थित राष्ट्रीय अध्यक्ष नन्दकुमार बघेल के आवास पर आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता नन्दकुमार बघेल व संचालन महासभा के राष्ट्रीय महासचिव आरएस कनौजिया ने किया। बैठक में महाराष्ट्र, बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, हरियाणा और छतीसगढ़ के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

बैठक में पूर्व के सभी निर्णयों की पुष्टि के बाद गुजरात के माॅटेरा स्थित सरदार पटेल क्रिकेट स्टेडियम का नाम बदलकर नरेंद्र मोदी क्रिकेट स्टेडियम किये जाने के विरूद्ध निन्दा प्रस्ताव पारित किया गया। विचार विमर्श के बाद तय किया गया कि राष्ट्रपति को पत्र लिखकर महासभा विरोध दर्ज कराते हुए भूल सुधारने के लिए एक महीने का समय देगी, अगर एक महीने में सरकार द्वारा भूल नहीं सुधारी गई तो अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा समान राष्ट्रवादी समतावादी विचार धारा वाले संगठनों के साथ मिलकर जन आंदोलन करेगी।

इस अवसर पर अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा ने 75 सदस्यसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी समिति एवं अन्य प्रदेशों का विस्तार करते हुए सुरेन्द्र सिंह पटेल मिर्जापुर को राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष, डाॅ हेमन्त कुमार सिंह पटेल मुगलसराय को प्रदेश अध्यक्ष उत्तर प्रदेश, इकबाल सिंह पटेल उन्नाव को प्रदेश महासचिव उत्तर प्रदेश, बीपी पटेल रायपुर को प्रदेश मीडिया प्रभारी छत्तीसगढ़ नियुक्त किया गया। बैठक में बिहार, झारखंड, उडी़सा, बंगाल और तमिलनाडु के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष का भ्रमण कार्यक्रम तय किया गया।

राष्ट्रीय अध्यक्ष के भ्रमण कार्यक्रम के अनुसार बिहार दौरा 17 मार्च को रक्सौल व बेतिया, 18 मार्च को छपरा व सि़वान, 19 मार्च को मोतिहारी व मुजफ्फरपुर, 20 मार्च को सीतामढी व शिवहर तथा 21 मार्च को सरदार पटेल धर्मशाला सासाराम कूर्मि सम्मेलन को सम्बोधित करेंगे। 22 मार्च को पटना, औरंगाबाद व फतुआ, 23-24 मार्च को नालंदा, राजगीर, बिहार शरीफ। 25 मार्च को मुंगेर व बेरूसराय, 26 मार्च को लखीसराय के बाद 27 मार्च को झारखंड के रांची में, 28 मार्च को उड़ीसा, 29 मार्च को बेस्ट बंगाल के पुर्लिया, दुर्गापुर के बाद तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, आन्ध्र प्रदेश 8 दिवसीय दौरा होगा, जिसमें 01 अप्रैल को चेन्नई (तमिलनाडु), 02 अप्रैल को कोयंबटूर, 03-04 अप्रैल को केरल, 05 अप्रैल को बंगलौर (कर्नाटक), 06 अप्रैल को मैसूर ( कर्नाटक) तथा 07-0 8 अप्रैल को आन्ध्र प्रदेश का दौरा तय किया गया है।

सभा में कूर्मि समाज के विकास और मजबूती के लिए आर्थिक, सामाजिक, वैचारिक, बौद्धिक और राजनैतिक स्तर पर मजबूती के लिए गहन विचार-विमर्श किया गया। इस अवसर पर फिरकाबंदी, शाखाओं, उपजातियों की श्रेष्ठता को भुलाकर आपस में एक- दूसरे के सुख दुःख में शामिल होकर तन, मन और धन से सहयोग करने के संकल्प लिया गया। सभा में महासभा के द्वारा आगामी 5 वर्षों में 1 करोड़ सदस्य बनाने के संकल्प को पुनः दोहराया गया। इस अवसर पर नन्दकुमार बघेल, आरएस कनौजिया, कूर्मि कौशल किशोर “आर्य”, सुरेन्द्र सिंह पटेल, सुरेश निरंजन भैया जी, रितेश निरंजन, डाॅ हेमन्त कुमार सिंह पटेल, इकबाल सिंह, मनोज सिंह पटेल, डाॅ प्रसन्न पटेल, विवेक सिंह पटेल, रविन्द्र पटेल, शरद कुमार पटेल, मुकेश सिंह, सीताराम पटेल अधिवक्ता, जगदीश सिंह पटेल, मंगलेश्वर सिंह पटेल, हरिलाल पटेल, राॅयल मुर्गेश (के. मुथु कुमार,एन. बालचंद्रा, बी. नारायण, रिंकू धर्मा, जगदीप अधिवक्ता, सुनील गहशावत, पुरुषोत्तम, बीपी पटेल, संजय चंद्राकर, गोपाल वर्मा ने भी कूर्मि समाज के विकास और मजबूती के लिए अपने विचार रखें।

Related posts

Leave a Comment