श्रीराम काॅलेजमें बैकिंग जागरूकता पर एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित


शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। श्रीराम काॅलेज में वाणिज्य संकाय के विद्यार्थियों के लिए पंजाब नेशनल बैंक के सहयोग से एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में पंजाब नेशनल बैंक के मुख्य प्रबन्धक प्रदीप अरोरा व विपणन अधिकारी शैलेश चैहान के द्वारा संयुक्त रूप से वाणिज्य संकाय के छात्रों को बैंकिंग कार्यक्रमों की महत्वपूर्ण जानकारी दी। वाणिज्य संकाय द्वारा आयोजित इस एक दिवसीय कार्यशला का उद्देश्य छात्रों के व्यवहारिक व तकनीकी ज्ञान में वृद्धि के साथ-साथ बैंकिंग के क्षेत्र में भविष्य बनाने के लिए विषय से रूबरू कराना रहा। कार्यक्रम का मंच संचालन वाणिज्य विभाग की शिक्षिका गरिमा सिंह द्वारा किया गया।
कार्यशाला का उद्घाटन मुख्य अतिथियों के द्वारा दीप प्रज्जवलित करके किया गया । इसके बाद श्रीराम काॅलेज के निदेशक डा0 आदित्य गौतम, श्रीराम काॅलेज के डीन एकेडमिक्स डाॅ0 विनीत कुमार शर्मा, श्रीराम काॅलेज के वित्त नियंत्रक प्रविन्द्र कुमार, वाणिज्य विभाग के विभागाध्यक्ष डा0 सौरभ मित्तल द्वारा सामूहिक रूप से कार्यशाला के वक्ताओं का स्वागत करते हुए पुष्पगुच्छ सप्रेम भेंट किये गये।


इस अवसर पर सर्वप्रथम मुख्य प्रबन्धक प्रदीप द्वारा बैंकिंग कार्यक्रम की विस्तृत रूप से जानकारी दी गई। अपनी विलक्षण प्रतिभा के धनी पंजाब नेशनल बैंक के मुख्य प्रबन्धक के द्वारा बैंक लोन व बैंक की सुविधा का लाभ कैसे उठाया जाये आदि के विषय में जानकारी देते हुए बताया कि किस प्रकार हम अपने कार्यो को सरलतम रूप दे सकते है।
शैलेश चैहान ने बताया कि भरतीय बैंकिंग व्यवस्था किस प्रकार से कार्य करती हैं। उन्होने भारतीय बैंकिग व्यवस्था के सबसे बडे बैंक आरबीआई के विषय पर प्रकाश डाला तथा बैंको की श्रेणियों के विषय में बताया गया। इसके पश्चात शिक्षा लोन, जिसकी आवश्यकता किसी भी छात्र को पड सकती है, के विषय में पी0पी0टी0 के माध्यम से पीएनबी के अंतर्गत पीएनबी प्रतिभा, पीएनबी सरस्वती व पीएनबी उडान आदि स्कीम के विषय में बताया। उन्होने बताया कि कैसे लोन के लिये आवेदन किया जाता है, लोन लेने के लिये विद्यार्थियों के लिये क्या-क्या सुविधायें हैं, पीएनबी की विभिन्न योजनाओं की पात्रता क्या है। इसके बाद बैंकिंग जागरूकता के बारे में अभिभावकों को बताया गया कि गृह ऋण किस प्रकार लिया जाता है, इसके क्या उददेश्य है। कार लोन किस प्रकार लिया जाता है आदि को भी समझाया। वर्कशाप के आयोजन द्वारा छात्रों में कैरियर के प्रति रूझान जाग्रत हुआ जिससे बैंक के क्षेत्र में अपना लक्ष्य रखने वाले छात्रों को दिशा-निर्देश प्रदान किये गये। कार्यक्रम के अंत में अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंट किये गये।


वाणिज्य विभाग के विभागाध्यक्ष डा0 सौरभ मित्त्ल ने बताया कि समय-समय पर विभाग द्वारा इस प्रकार के कार्यक्रम छात्रों के ज्ञान वृद्धि के लिये आयोेजित कराये जाते है, जिससे उनका मनोबल बढता है। कार्यक्रम में वाणिज्य संकाय के प्रवक्ता डा0 एमएसखान, मुकेश चैहान, पूजा रघुवंशी, पूनम शर्मा, गरिमा सिंह, श्वेता गर्ग, नैना बंसल आदि का सराहनीय योगदान रहा।

Related posts

Leave a Comment