DM सेल्वा कुमारी जे ने दिए आवारा पशुओं व निराश्रित गौवंश को रखने व खाने का स्थायी व अस्थायी प्रबन्ध करने के निर्देश

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर।  जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने आज जिला पंचायत सभागार में जनपद स्तरीय अनुश्रवण मूल्यांकन एवं समीक्षा, गौसरंक्षण तथा पशु क्रूरता निवारण समिति के सदस्यों व अधिकारियेा के साथ निराश्रित/ बेसहारा गौवंश हेतु स्थायी/अस्थायी गौवंश आश्रय स्थल की प्रगति की समीक्षा करते हुए एसडीएम व अधिशासी अधिकारियों को निर्देश दिये कि निराश्रित गोवंश सडकों पर घूमते हुए नही दिखने चाहिएं। उनके रहने खाने की पूर्ण व्यवस्था कराई जाये। संचालित गोवंश आश्रय स्थल पर संरक्षित किये गये पशुओं की संख्या, संरक्षित गोवंश के लिए चारा एवं पानी की क्या व्यवस्था है उसकी सूचना उपलब्ध कराई जाये। जिलाधिकारी ने कहा कि अगर निराश्रितम गौवंश घूमते हुए दिखाई दे तो सम्बन्धित क्षेत्र के एसडीएम व अधिशासी अधिकारी, बीडीओ उनको आश्रय स्थल पर छुडवाये।


जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि गौवंश आश्रय स्थलों पर हरे चारे, भूसे शेड व स्वच्छ पानी का पूर्ण प्रबन्ध होना चाहिए। उन्होने कहा कि गावों में मनरेगा के अन्तर्गत काउ शेड बनाये जाये। ग्रामवासियों केा इसके लिए प्रेरित किया जाये। उन्होने कहा कि जानसठ रोड, नई मण्डी क्षेत्र के आप पास के निराश्रित गौवंशों केा गौशाला, गौआश्रय स्थल में भिजवाया जाये।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी आलोक यादव, एसडीएम, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी एमपी सिंह सहित बीडीओ, अधिशासी अधिकारी व पशु चिकित्साधिकारी उपस्थित थे।

Related posts

Leave a Comment