पीएम स्वनिधि योजना की शिथिलता पर DM की बैंकर्स को फटकार, कहा- सभी बैंक 5 मार्च से पहले ऋण वितरण कैम्प का आयोजन कर पात्रों को ऋण का वितरण करेे

शि.वा.ब्यूरो,  मुजफ्फरनगर। जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने कहा कि लाॅकडाउन के पश्चात केंद्र सरकार द्वारा रेहड़ी-पटरी वालों को अपना काम नए सिरे से शुरू करने के लिए प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि नाम से एक योजना शुरू की हुई है। इसे प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना भी कहते हैं। उन्होने कहा कि इस योजना के तहत सड़क किनारे छोटा-मोटा काम करने वाले लोगों को 10,000 रुपये का लोन मुहैया कराया जाता है। जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे आज विकास भवन सभागार में प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना की समीक्षा कर रही थी।

उन्होने समीक्षा के दौरान बैकों द्वारा प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना में बरती गई शिथिलता पर कडी फटकार लगाई। उन्होने निर्देश दिये कि 02 दिन के अन्दर सभी अपूर्ण कार्य पूर्ण करते हुए आख्या उपलब्ध कराई जाये। उन्होने कहा कि पात्रों के आवदेनों का परीक्षण कर उन्हे ऋण उपलब्ध कराने की कार्यवाही की जाये। उन्होने कहा कि यह सरकार की महत्वकांक्षी योजना है, जिसमें लाॅकडाउन में ढील देने के बाद सड़क किनारे रेहड़ी-पटरी लगाने वालों को अपनी आजीविका और रोजगार दोबारा शुरू करने के लिए किफायती दर पर काम करने लायक कर्ज मुहैया कराया जाता है। उन्होंने निर्देश दिये कि इस कार्य में किसी भी प्रकार की कोई शिथिलता बर्दाश्त नही की जोयगी। उन्होने कहा कि शिथिलता बरतने वाले के विरूद्व कार्यवाही की जायेगी। उन्होने निर्देश दिये कि पात्रों के बैंक खाते खोले जाये। सभी बैंक इस पर विशेष घ्यान दे। उन्होने कहा कि सभी बैंक 5 मार्च से पहले ऋण वितरण कैम्प का आयोजन कर पात्रों को ऋण का वितरण कराना सुनिश्चत करेेगे।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी आलोक यादव, अपर जिलाधिकारी प्रशासन अमित सिंह, नगर मजिस्ट्रेट अभिषेक सिंह, एलडीएम सहित सभी ईओ व बैकों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Related posts

Leave a Comment