श्री राम कॉलेज में राष्ट्रीय सेवा योजना का सात दिवसीय विशेष शिविर आरम्भ

शि.वा.ब्यूरों, मुज़फ्फरनगर। श्री राम कॉलेज की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के सात दिवसीय विशेष शिविर का शुभारंभ आज लक्ष्य गीत के माध्यम से गांव बहादरपुर खेड़ी विरान में किया गया। शिविर में स्वयंसेवकों ने स्पोर्ट्स ए वे ऑफ लाइफ नामक संस्था के साथ मिलकर गांव में खेल-जागरूकता के साथ-साथ स्वच्छता एवं अन्य सामाजिक मुद्दो के प्रति जागरूकता रैली निकाली तथा लोगों को नैतिक कर्तव्यो से अवगत कराया। इसके पश्चात स्वयं सेवकों ने विद्यालय के प्रांगण में श्रमदान से साफ-सफाई की और वहां प्रशिक्षित छात्रों एवं खिलाड़ियों को साफ-सफाई के महत्व को समझाया एवं स्वच्छता का संदेश फैलाया।


शिविर में आज के मुख्य अतिथि गांव में चल रहे स्पोर्ट्स ए वे ऑफ लाइफ नामक संस्था के अध्यक्ष डॉ0 कनिष्क पांडेय ने बताया कि यहां हम सैकड़ों गरीब बच्चों को निशुल्क खेल प्रशिक्षण देकर भारत को अच्छे खिलाड़ी देने का प्रयास कर रहे हैं। जिन बच्चों का खेल में ज्यादा मन लगता है और वे इसमें अपना केरियर बनाना चाहते हैं तो हमें उनको प्रोत्साहित करना चाहिए और उनका पढ़ाई के साथ-साथ खेलों के प्रति रुचि के निर्माण में भी सहायता करनी चाहिए, क्योंकि खेल कई तरीकों से हमारे जीवन को सुखद एवं उन्नत बनाने का काम करता है। उन्होंने कहा कि आजकल पहले की तुलना में खेलों को काफी महत्व दिया जा रहा है। खेल कई तरह से हम सभी को लाभ पहुंचाते हैं। यह मानसिक कौशल और एकाग्रता के साथ ही सामाजिक और वार्तालाप संवाद कौशल को सुधारने में भी मदद करता है, हमें कई बीमारियों से बचाता है और मोटापे को दूर करने में सहायक होता है। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही खेल हमारे अंदर सकारात्मक विचारों को लाने का काम भी करते हैं। साथ ही स्वयंसेवकों ने गांव के बच्चों में नैतिक शिक्षा का भी प्रसार किया और उसे जीवन में अपनाने के लिए प्रेरित किया।


स्पोर्ट्स ए वे ऑफ लाइफ संस्था के संरक्षक डॉ0 एससी कुलश्रेष्ठ ने बताया कि जीवन में जितना आवश्यक खेल होता है उतनी ही आवश्यक स्वच्छता होती है, क्योंकि दोनों का उददेश्य मानव शरीर को स्वस्थ रखना होता है और खेल मनुष्य के आज को तो बेहतर बनाता ही है साथ ही उनके भविष्य का बेहतर निर्माण भी करता है। उन्होंने कहा कि खेल हमारे अंदर अनुशासन के साथ-साथ देशभक्ति की भावना भी जागृत करते हैं। यह व्यक्ति की मानसिक और शारीरिक शक्ति को तो सुधारने में मदद करता ही है साथ ही सामाजिकता का भी भाव पैदा करता है। श्रीराम काॅलेज की प्राचार्य डा0 प्रेरणा मित्तल ने कहा कि हम जानते हैं कि पूरा विश्व अभी भी वैश्विक महामारी कोरोना से जूझ रहा है, इसलिए हमें इस गांव के सभी बच्चों में नैतिक शिक्षा एवं स्वास्थ संबंधी शिक्षा के प्रसार के साथ-साथ शारीरिक दूरी और मास्क है जरूरी का संदेश भी प्रत्येक जन जन तक पहुंचाना है।
शिविर में राष्ट्रीय सेवा योजना कार्यक्रम अधिकारी अंकित कुमार, शारीरिक विभाग प्रवक्ता डॉ अब्दुल अजीज खान, भूपेंद्र कुमार, खेल प्रशिक्षु सरिता एवं हितेंद्र तथा स्वयंसेवक भास्कर, हरीश पाल, हर्षित, विशाल, तेजस्विनी, तनवी शर्मा, विशाल कुमार, श्वेता, ताबिश, स्नेहा पांडे, फराज अहमद, अमन त्यागी, अभय कुमार तथा अजय कुमार इत्यादि का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

Related posts

Leave a Comment