शहीद मंगल पांडे राजकीय महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय की स्वयं सेविकाओं ने पेड़ लगाओ जीवन बचाओ का संदेश दिया 

शि.वा.ब्यूरो, मेरठ। शहीद मंगल पांडे राजकीय महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना की द्वितीय इकाई के सप्त दिवसीय विशेष शिविर के चौथे दिवस की गतिविधियों का मुख्य विषय रहा पौधारोपण एवं रोजगार के अवसर। सर्वप्रथम शिविर की शुरुआत स्वयं सेविकाओं द्वारा ईश वंदना और लक्ष्य गीत  के गायन द्वारा की गई। उसके पश्चात कार्यक्रम अधिकारी डॉ मंजू रानी ने छात्राओं से रोजगार के विभिन्न अवसरों विषय पर चर्चा की।
कार्यक्रम अधिकारी डॉ मंजू रानी ने छात्राओं को बताया कि विभिन्न कक्षाओं को पास करने के उपरांत वह किस प्रकार विभिन्न नौकरियों के लिए आवेदन कर सकती हैं। उन्होंने बताया कि नौकरी में चयन न होने के बाद भी हम कोई गृह एवं लघु उद्योग को  प्रारंभ करके भी रोजगार के विभिन्न अवसर न सिर्फ अपने लिए शुरू कर सकते हैं, बल्कि दूसरों को भी रोजगार दे सकते हैं। उन्होंने बताया कि विभिन्न नौकरियों में आवेदन करना और विभिन्न संस्थानों से व्यापार और उद्योगों के लिए लोन किस प्रकार लिया जाए। तत्पश्चात  स्वयं सेविकाओं ने कार्यक्रम अधिकारी डॉ मंजू रानी के नेतृत्व में समिति के सभी सदस्यों के साथ प्राथमिक विद्यालय नूर नगर तक वृक्षारोपण संबंधी रैली निकाली और नारे लगा कर लोगों को जागरूक किया। स्वयं सेविकाओं ने प्राथमिक विद्यालय में जाकर पौधारोपण करके पौधों को बचाने का संदेश दिया। विद्यालय परिसर में छात्राओं ने नीम तुलसी जामुन एलोवेरा कनेर डेलिया इत्यादि विभिन्न प्रकार के पौधों का पौधारोपण किया। छात्राओं ने  प्राथमिक स्कूल के बच्चों को औषधीय पेड़ों के गुणों एवं महत्व के विषय में बताया।
इस अवसर पर डॉ. मोनिका चौधरी द्वारा जल संरक्षण एवं डॉ अलका चौधरी द्वारा पर्यावरण संरक्षण विषय पर व्याख्यान दिया गया, जिसमें उन्होंने विभिन्न प्रकार की गतिविधियों द्वारा जल को बचाने के उपाय बताए। उन्होंने कहा कि जितनी आवश्यकता हो उतना ही जल का प्रयोग करें, अनावश्यक रूप से जल को ना बहने दे। पीने योग्य जल स्रोतों को गंदा ना करें तथा अपने यहां प्रयोग किए गए जल को यथासंभव किसी न किसी रूप  में पुनः प्रयोग करने का प्रयास करें। अधिकाधिक वृक्षारोपण करें, प्लास्टिक और पॉलिथीन का कम से कम उपयोग करें। जहां तक हो सके रीसायकल होने वाले प्लास्टिक और पॉलिथीन का ही प्रयोग  करें। कार्यक्रम अधिकारी ने समिति के सभी सदस्यों के साथ प्राथमिक विद्यालय के स्टाफ का सहयोग हेतु आभार भी प्रकट किया।

Related posts

Leave a Comment