शहीद मंगल पाण्डेय राजकीय महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय में किया गया साहित्यिक चोरी: समस्या और निवारण’ विषय पर वैचारिक मंथन

शि.वा.ब्यूरो, मेरठ। शहीद मंगल पाण्डेय राजकीय महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय में आज ‘मंथन’ (अकादमिक उन्नयन एवम् वैचारिक विमर्श) और शोध समिति के तत्वावधान में ‘साहित्यिक चोरी (प्लेजियारिज्म) : समस्या और निवारण’ विषय पर वैचारिक मंथन किया गया। विषय विमर्श हेतु मुख्य वक्ता के रूप में राजा महाराणा प्रताप पुस्तकालय ( केंद्रीय पुस्तकालय) चौधरी चरण सिंह के पुस्तकालय अध्यक्ष प्रो. जमाल अहमद सिद्दिकी विश्वविद्यालय रहे। प्राचार्य प्रो. दिनेश चंद की अध्यक्षता में कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। प्राचार्य ने मुख्य वक्ता डॉ. जमाल अहमद सिद्दीकी को पौधा भेंट कर उनका स्वागत किया।


डॉ. सिद्दीकी ने कहा कि प्लेजियारिज्म की जानकारी रखना केवल शोधार्थियों के लिए ही नहीं, बल्कि शोध पर्यवेक्षक तथा हर उस व्यक्ति के लिए आवश्यक है, जो अपना शोध प्रकाशित कराते हैं। डॉ. सिद्दीकी ने शोधार्थियों को शोध हेतु अच्छे व बुरे स्रोतों , रेफरेंस, पेराफ्रजिंग, प्लेग चैकर सॉफ्टवेयर, मेंडेले सॉफ्टवेयर आदि की जानकारी दी। डॉ. सिद्दीकी ने अपने व्याख्यान में प्रकरण के व्यावहारिक पक्ष के साथ साथ नैतिक पक्ष पर भी प्रकाश डाला। शोधार्थियों ने अपनी जिज्ञासाओं, समस्याओं व प्रश्नों को मंथन मंच के समक्ष रखा। डॉ. सिद्दीकी द्वारा बहुमूल्य सुझाव दिए गए व उनका समाधान किया गया।


प्राचार्य प्रो. दिनेश चंद ने डॉ. सिद्दीकी के ओजस्वी व प्रभावशाली व्याख्यान हेतु आभार व्यक्त किया तथा सभी शोधार्थियों से ईमानदारी पूर्वक शोध कार्य पूर्ण करने का आह्वाहन भी किया। कार्यक्रम का आयोजन व संचालन मंथन प्रभारी डॉ. गीता चौधरी द्वारा किया गया। कार्यक्रम के दौरान डॉ. भारती दीक्षित, डॉ. लता कुमार, डॉ. ममता सागर, डॉ. अनुजा गर्ग, डॉ. मोनिका चौधरी, डॉ. स्वर्नलता कदम, डॉ. अनीता गोस्वामि, डॉ. कुमकुम, डॉ. भारती शर्मा, डॉ. सुधा रानी सिंह, डॉ. अमर ज्योति, डॉ. अलका चौधरी, डॉ. पारुल मलिक, डॉ. आरसी सिंह, डॉ. अरविंद कुमार, डॉ. वैभव शर्मा, डॉ. पूनम भंडारी, डॉ. नरेंद्र कुमार व सभी शोधार्थी उपस्थित रहे।

मिशन शक्ति और चौरी-चौरा शताब्दी महोत्सव पर हुई चर्चा

शहीद मंगल पांडे राजकीय महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय मेरठ की राष्ट्रीय सेवा योजना की द्वितीय इकाई के सप्त दिवसीय विशेष शिविर के तीसरे दिन का प्रारंभ ईश वंदना और लक्ष्य गीत से हुआ। सर्वप्रथम कार्यक्रम अधिकारी डॉ मंजू रानी के निर्देशन में छात्राओं ने अनुशासन का महत्व जाना तथा विभिन्न विषयों पर चर्चा की जैसे कोरोना वायरस, मिशनशक्ति, चौरी-चौरा शताब्दी समारोह, फिट इंडिया अभियान एवं अन्य गतिविधियां जो आगामी दिवसों में संपन्न कराई जाएंगी। छात्रों की उपस्थिति के पश्चात समाजशास्त्र विभाग से प्रभारी डॉक्टर लता कुमार ने छात्राओं से मिशन शक्ति पर चर्चा की। उन्होंने बताया कि यह अभियान उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाया जा रहा है जो 1 वर्ष तक संचालित होगा और इस अभियान का मुख्य उद्देश्य छात्र-छात्राओं ,महिला पुरुषों के मध्य नारी सशक्तिकरण, नारी सम्मान एव्ं नारी स्वावलंबन के भाव पैदा करना तथा उन्हें नारी अधिकारों के प्रति जागरूक करना है । इसके अंतर्गत लता कुमार ने बहुत सारी हेल्पलाइन नंबरों को भी इंगित करते हुए छात्राओं को उनके अधिकारों आदि के विषय में बताया।

व्याख्यान के पश्चात इतिहास विभाग प्रभारी डॉ. अनीता गोस्वामी द्वारा छात्राओं को चौरी-चौरा शताब्दी समारोह तथा चौरी-चौरा कांड के विषय में अवगत कराया गया। उन्होंने इसके संबंध में चौरीचौरा संबंधित महत्वपूर्ण जानकारियां छात्राओं से साझा की और बताया कि यह महोत्सव सरकार द्वारा 4 फरवरी 2021 से 4 फरवरी 2022 तक संपन्न कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस वर्ष को चौरी चौरा-चोरा शताब्दी वर्ष के रूप में मनाया जाएगा । इस अभियान का प्रमुख उद्देश्य छात्र छात्राओं को चौरी-चौरा में अपनी जान गंवाने वाले शहीदों के बारे में बताना तथा उनके अमूल्य योगदान को स्मरण करना है। इसके पश्चात सभी स्वयं सेविकाओं ने शिविर स्थल की साफ सफाई की तथा झाड़ू लगाई। जलपान के उपरांत सभी छात्राओं ने नारी सशक्तिकरण पर सुंदर सुंदर पोस्टर बनाकर व स्लोगन लिखकर प्रतियोगिता में प्रतिभाग किया और नारी सशक्तिकरण के संदेश को अपनी सृजनात्मक कल्पनाओं द्वारा चार्ट पर उकेरा । अंत में डॉ. अरविंद कुमार द्वारा सावित्रीबाई फूले का महिला शिक्षा के क्षेत्र में योगदान पर चर्चा की गई। इस अवसर पर डॉ. जितेंद्र बालियान, डॉ. अरविंद कुमार, डॉक्टर राजकुमार सिंह का विशेष सहयोग रहा।

सामान्य ज्ञान पर आधारित एक क्विज़ प्रतियोगिता आयोजित 

शहीद मंगल पांडेय राजकीय महिला महाविद्यालय में आज दिनांक 19-02-2021 को रसायन विज्ञान विभाग परिषद के अंतर्गत विभाग सदस्य डॉ. अलका चौधरी और डॉ. रोशनलाल द्वारा परास्नातक छात्राओं के लिये सामान्य ज्ञान पर आधारित एक क्विज़ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। छात्राओं ने उत्साह पूर्वक प्रतियोगिता में भाग लिया। डाक्टर वैभव शर्मा और डाक्टर सुशील कुमार प्रतियोगिता के निर्णायक के रूप में पूर्ण सहयोग किया।

Related posts

Leave a Comment