शहीद मंगल पाण्डे राजकीय महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय कोविड-19 पर पोस्टर प्रतियोगिता आयोजित

शि.वा.ब्यूरो, मेरठ। शहीद मंगल पाण्डे राजकीय महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय के जन्तुविज्ञान विभाग में प्राचार्य डॉ. दिनेश चंद के संरक्षण में स्नातक स्तर की छात्राओं के मध्य एक पोस्टर प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसमें छात्राओं ने कोविड- 19 से संबंधित विषय पर सुंदर और प्रभावपूर्ण पोस्टर बनाए। प्रतियोगिता में 50 छात्राओं ने प्रतिभाग किया। प्रतियोगिता का संचालन विभाग प्रभारी डॉ. सत्य पाल सिंह राणा, डॉ. कुमकुम व डॉ. नरेंद्र कुमार ने किया। प्रतियोगिता में समाज शास्त्र विभाग प्रमुख डॉ. लता कुमार, राजनीति शास्त्र विभाग प्रमुख डॉ. अनुजा गर्ग व वनस्पति विज्ञान विभाग के डॉ. वैभव शर्मा ने निर्णायक की भूमिका में रहते हुए आंकलन छात्राओं के चित्रांकन और प्रस्तुतीकरण एव व्याख्यान के आधार पर किया, जिसमें प्रथम स्थान पर माहेनूर व कुमकुम सिंह, द्वितीय स्थान पर नमरा महक व संगीता तथा तृतीय स्थान पल्लवी वर्मा व मुस्कानने प्राप्त किया। सेमिनार के अंत में प्राचार्य डॉ दिनेश चंद द्वारा समस्त छात्राओं को स्नातक स्तर पर काविड 19 से बचाव व वैक्सीन की विशेषता बताई।

राष्ट्रीय सेवा योजना प्रथम इकाई के सप्तदिवसीय विशेष शिविर का दूसरा दिन

शहीद मंगल पाण्डे राजकीय महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय के तत्वाधान में देवी अहिल्या बाई इंटर कॉलेज लिसाड़ी में चल रहे राष्ट्रीय सेवा योजना प्रथम इकाई के सप्तदिवसीय विशेष शिविर के दूसरे दिन शिविर का प्रारंभ स्वयं सेविकाओं द्वारा श्रमदान के पश्चात लक्ष्यगीत “उठे समाज के लिए उठे उठे, जगे स्वराष्ट्र के लिए जगे जगे से” प्रारंभ हुआ। लक्ष्य गीत के पश्चात स्वयंसेवीकाओं ने गेरू एवं चूने से शिविर स्थल के सारे गमलों को एवं बड़े वृक्षों के तनों को रंगा। तत्पश्चात दिव्या, सपना, पारुल, बुशरा, कोमल, नेहा, श्वेता व मानसी आदि ने गेरू से बहुत ही प्रेरणादायक एवं लोगों को जागरूक करने वाले “सारे काम छोड़ दो सबसे पहले वोट दो, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, तीन लक्ष्य स्वस्थ-शरीर मन व सभ्य समाज, कोरोना भागेगा इंडिया जीतेगा, स्वच्छ भारत स्वस्थ भारत, वृक्ष लगाओ धरती बचाओ, जल ही जीवन है, दो गज दूरी बहुत है जरूरी” आदि स्लोगन दीवारों पर लिखे। टोली नंबर 1 मदर टेरेसा टोली ने समिति के साथ मिलकर सभी स्वयं सेविकाओं के लिए भोजन की व्यवस्था की तथा सभी स्वयंसेवकों ने सामाजिक दूरी का ध्यान रखकर सभी कार्य संपन्न किए।

प्राचार्य प्रोफेसर डॉक्टर दिनेश चंद ने छात्राओं के इस कार्य के लिए बहुत ही प्रशंसा की। शिविर का द्वितीय सत्र बौद्धिक सत्र रहा, जिसमें वाणिज्य विभाग के डॉक्टर विकास कुमार ने छात्राओं को रोजगार के विभिन्न अवसरों के विषय में बहुत महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की। डॉक्टर आवेश कुमार द्वारा छात्राओं को बैंक की कार्यप्रणाली बताया कि विभिन्न प्रकार के फॉर्म कैसे भरे जाएं तथा ड्राफ्ट कैसे बनवाया जाता है। उन्होंने आरटीजीएस एनईएफटी एवं डिजिटल फ्रॉड, सुमंगला योजना तथा केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं के बारे में बहुत ही विस्तार से छात्राओं को बताया। कार्यक्रम का संचालन कार्यक्रम अधिकारी डॉक्टर स्वर्ण लता कदम के ने किया।  इस अवसर पर डॉ. ममता सागर, डॉ. उमाशंकर प्रसाद, डॉक्टर आरसी सिंह, डॉक्टर शालिनी वर्मा, डॉक्टर पारुल मालिक, डॉक्टर नरेंद्र कुमार, डॉक्टर विकास कुमार, डॉक्टर रंजन कुमार व मनोज कुमार का विशेष योगदान रहा।

कला एवम् शिल्प प्रदर्शनी व क्राफ्ट प्रतियोगिता आयोजित 

महाविद्यालय प्रांगण में आज थीम बेस्ट लिटरेरी फेस्ट के अन्तर्गत स्वदेशी वस्तुओं से निर्मित कला एवम् शिल्प प्रदर्शनी व क्राफ्ट प्रतियोगिता का आयोजन किया, जिसमें महाविद्यालय की छात्राओं ने बढ़ चढ़ कर प्रतिभागिता की। छात्राओं ने स्वदेशी वस्तुओं से विभिन्न आकर्षक व उपयोगी सामान बनाए, जिनमें छात्राओं द्वारा बान व सूत से बनाई गई चप्पलें, नारियल से बनाया गया पर्स, कार्ड बोर्ड से बनाई गई चाबी स्टैंड, अखबार से बनाई गई साईकिल, वॉल हैंगर, ताइवान लेडी तथा मिट्टी से बनाया गया ऊंट विशेष आकर्षण का केंद्र रहे।
प्राचार्य डॉ. दिनेश चंद्र ने छात्राओं द्वारा बनाई गई सभी स्वदेशी वस्तुओं व प्रदर्शनी का निरीक्षण किया तथा सभी प्रतिभागियों के कार्यों की सराहना की। तत्पश्चात प्राचार्य द्वारा प्रतियोगिता का परिणाम घोषित किया गया। घोषित परिणाम के अनुसार श्रेया भसीन प्रथम, खुशबू गर्ग द्वितीय तथा पूजा व प्रिया तृतीय स्थान पर रहीं। प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में डॉ. राधा रानी व डॉ. कुमकुम उपस्थित रहीं। कार्यक्रम के आयोजन में समिति के सदस्यों डॉ. भारती दीक्षित, डॉ. उमा शंकर प्रसाद, डॉ. अमर ज्योति व डॉ. रंजन कुमार का विशेष योगदान रहा। प्रदर्शनी के निरीक्षण हेतु डॉ. अनुजा गर्ग, डॉ. गीता चौधरी, डॉ. आरसी सिंह, डॉ. अनीता गोस्वामि, डॉ. राकेश कुमार, डॉ. पारुल मलिक, डॉ. आवेश कुमार, डॉ. राजकुमार, डॉ. नरेंद्र कुमार, डॉ. अरविंद कुमार, डॉ. शरद पंवार, डॉ. नीता सक्सेना तथा महाविद्यालय के अन्य प्राध्यापक उपस्थित रहे।

Related posts

Leave a Comment