सीएमएस ने किया पौलोमी पावनी शुक्ला का सम्मान

शि.वा.ब्यूरो, लखनऊ। सिटी मोन्टेसरी स्कूल ने आज गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) ऑडिटोरियम में आयोजित एक सम्मान समारोह में अनाथ बच्चों की शिक्षा-दीक्षा एवं उनके जीवन की बेहतरी के लिए सर्वोत्कृष्ट योगदान कर लखनऊ का नाम अन्तर्राष्ट्रीय फलक पर गौरवान्वित करने वाली अपने विद्यालय की पूर्व छात्रा पौलोमी पावनी शुक्ला को सार्वजनिक तौर पर सम्मानित किया। इस कार्य हेतु पौलोनी को अभी हाल ही में फ़ोर्ब्स इंडिया 30 अण्डर 30 की विशिष्ट सूची में शामिल किया गया है। इस अवसर पर सीएमएस संस्थापक डा. जगदीश गाँधी, सीएमएस गोमती नगर कैम्पस की वरिष्ठ प्रधानाचार्य मंजीत बत्रा, सीएमएस गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) की प्रधानाचार्य संगीता बनर्जी समेत कई गणमान्य नागरिक व बड़ी संख्या में छात्र उपस्थित थे।

पौलोमी को सम्मानित करते हुए डा. जगदीश गाँधी ने कहा कि फ़ोर्ब्स इंडिया 30 अण्डर 30 की सूची में सीएमएस छात्रा का चयनित होना गर्व का विषय है। इस अवसर पर पौलोमी पावनी शुक्ला ने अपने संबोधन में कहा कि मेरी सफलता में सीएमएस का महत्वपूर्ण योगदान है, जहाँ से पढ़ाई के साथ ही मुझे अपने देश व समाज के लिए कुछ करने की प्रेरणा मिली। पौलोमी ने कहा कि उसी भावना ने मुझे गरीब व अनाथ बच्चों की मदद करने को प्रेरित किया।

ज्ञात हो कि पौलोमी पावनी शुक्ला सीएमएस गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) की अत्यन्त प्रतिभाशाली छात्रा रही हैं। पौलोमी ने वर्ष 2008-09 में 94.25 प्रतिशत अंकों के साथ आईएससी (कक्षा-12) की परीक्षा उत्तीर्ण की थी। पौलोमी पढ़ाई के साथ ही विद्यालय के सामाजिक जागरूकता के कार्यक्रमों में सदैव अग्रणी रही है। वह अपने विद्यालय की हेड गर्ल भी रही हैं। स्कूली शिक्षा के उपरान्त गरीब व अनाथ बच्चों के हित में अतुलनीय कार्य कर पौलमी ने देश की एक प्रख्यात स्वयंसेवी के रूप में अपनी पहचान स्थापित की है। वे उच्चतम न्यायालय में अधिवक्ता है और अनाथ बच्चों को शिक्षा और अधिकार दिलवाने के लिए लगातार प्रयास कर रही हैं। उन्होंने अनाथ बच्चों की दुर्दशा पर वर्ष 2015 में वीकेस्ट ऑन अर्थ – आरफन्स ऑफ़ इण्डिया पुस्तक लिखी है। पौलोमी पावनी शुक्ला वरिष्ठ आईएएस अधिकारी प्रदीप शुक्ला व आराधना शुक्ला की पुत्री हैं। विदित हो कि विश्व प्रतिष्ठित मैगजीन ‘फोब्र्स’ प्रतिवर्ष ऐसी 30 विशष्टि हस्तियों की सूची जारी करती है, जिनकी उम्र 30 वर्ष से कम है और जिन्होंने अपने क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

 

Related posts

Leave a Comment