ख़बरों का खंडन करते हुए जिला प्रोबेशन अधिकारी ने दी सफाई, कहा-नही हुआ नियमों का विचलन


शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। जिला प्रोबेशन अधिकारी ने 03 फरवरी को अमर उजाला एवं दिनांक 04 फरवरी को दैनिक जागरण में प्रकाशित खबर- “किशोर न्याय बोर्ड में बोर्ड के सामाजिक कार्यकर्ता सदस्यों को नियत बैठकों से अधिक का भुगतान किया गया है” के संबंध में बताया है कि जिला प्रोबेशन अधिकारी कार्यालय द्वारा किशोर न्याय बोर्ड के सामाजिक कार्यकर्ता सदस्यों को प्रति बैठक रूपये 1500/-उन्हीं बैठको के लिए मानदेय आहरित किया जाता है, जो बैठकों की संख्या किशोर न्याय बोर्ड के पीठासीन अधिकारी द्वारा अपने हस्ताक्षर से प्रमाणित कर जिला प्रोबेशन अधिकारी कार्यालय को उपलब्ध करायी जाती हैं। किशोर न्याय बोर्ड के पीठासीन अधिकारी द्वारा किशोर न्याय (बालको की देखरेख एवं संरक्षण) नियमावली के नियम-6 के अंतर्गत उपलब्ध करायी प्रमाणित बैठकों के आधार पर ही नियमानुसार मानदेय आहरित करने की कार्यवाही सम्पादित की जाती है। अतः जिला प्रोबेशन अधिकारी कार्यालय द्वारा किसी प्रकार भी नियमों का विचलन नही किया गया है।

Related posts

Leave a Comment