नुमाईश मैदान, शहीद स्मारक एवं शुकतीर्थ में होगा चौरी-चौरा शताब्दी समारोह का भव्य आयोजन, स्वदेशी, स्वालम्बन एवं स्वच्छता होगी थीम

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर।  मुख्य विकास अधिकारी आलोक यादव ने बताया कि शासन द्वारा दिये गये निर्देशों के क्रम में जनपद में चौरी-चौरा शताब्दी समारोह का नुमाईश मैदान शहीद स्मारक एवं शुकतीर्थ स्थित शहीद स्मारक में भव्य आयोजन किया जायेंगा। उन्होंने बताया कल प्रात 8ः30 बजे से जीआईसी मैदान से प्रभात फेरी निकाली जायेगी, जो नुमाईश मैदान पर जाकर समाप्त होगी। इसी प्रकार जनपद के अलग अलग स्थानों से प्रभात फेरी निकाली जायेगी। जिसमें स्वतंन्त्रता आन्दोलन तथा अन्य देशभक्ति गीतों का प्रयोग करते हुए सुमधुर गायन किया जायेगा। जनपद के शहीद स्थलों-स्मारकों पर प्रभात फेरी के आयोजन किया जायेगा तथा शहीद स्थल पर कार्यक्रम का आयोजन कर उन्हे श्रद्वाजलि अर्पित की जायेगी। शहीद स्थलों पर प्रात सभा में पुलिस बैंड द्वारा सलामी और राश्ट्रधुन की कार्यवाही की जायेगी।

मुख्य विकास अधिकारी ने बताया कि शहीदों की मूर्तियों पर साफ सफाई व माल्यार्पण किया जायेगा। प्रात 10 बजे शहीद स्मारक नुमाईश मैदान व शुकतीर्थ में वन्देमातरम का गायन किया जायेगा। उसके पश्चात सभा स्थल पर प्रधानमंत्री  एवं मुख्यमंत्री का लाईव कार्यक्रम का प्रसारण एलईडी पर किया जायेगा। सांयकाल शहीद स्मारक पर दीप प्रज्जवलन का कार्यक्रम किया जायेगा। उन्होने कहा कि चौरी-चौरा शताब्दी समारोह धूमधाम से मनाया जायेंगा। उन्होंने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए है कि जनपद स्तर पर चौरी-चौरा की ऐतिहासिक घटना के आधार पर जनपद स्तर पर कार्ययोजना बनाकर उसका क्रियान्वयन सुनशिचित किया जाए। उन्होंने कहा कि जनपद के स्वतंत्रता संग्राम स्थलों, स्वतंत्रता सेनानियों तथा शहीद ग्रामों के विकास के लिए भी कार्ययोजना बनाई जाए। उन्होंने कहा कि इन स्थानों पर स्वावलंबन, स्वदेशी और स्वच्छता के आधार पर कार्यक्रमों का क्रियान्वयन किया जाए। चौरी-चौरा शताब्दी समारोह के आयोजन की थीम ‘स्वदेशी, स्वालम्बन एवं स्वच्छता होगी। स्वालम्बन की भावना आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश की मूल भावना है। जनपद के विभिन्न उत्पादों ओडीओपी में विशेष कार्य करने वाले उघमियों बुनकरों, महिला स्वंय सहायता समूहों, शिल्पकारों आदि को विश्वकर्मा श्रम सम्मान, कौशल विकास पुरस्कार आदि से भी प्रोत्साहित किया जायेगा। कृषकों एवं पशुपालकों को भी उल्लेखनीय कार्य के लिए सम्मानित किया जायेगा।

Related posts

Leave a Comment