डॉ.शम्भू पंवार का जन्मदिन उत्सव के रूप में मनाया

शि.वा.ब्यूरो, नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी विशिष्ठ पहचान कायम करने वाली प्रतिष्ठित संस्था राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना के राष्ट्रीय मुख्य प्रवक्ता, अंतरराष्ट्रीय अवार्डी वरिष्ठ पत्रकार व साहित्यकार डॉ.शम्भू पंवार के जन्मदिवस को संचेतना परिवार ने उत्सव के रूप में धूमधाम से मनाया। कार्यक्रम संयोजक व राष्ट्रीय प्रवक्ता शिक्षाविद व वरिष्ठ साहित्यकार डॉ.मुक्ता कान्हा कौशिक ने डॉ. शम्भू पंवार जी के व्यक्तित्व और कृतित्व को स्लाइड के जरिये बहुत ही सुंदर रूप में प्रदर्शित कर जन्मोउत्सव को यादगार बना दिया।
कार्यक्रम का शुभारम्भ पूर्णिमा कौशिक की समुधर मां सरस्वती वंदना से हुवा, स्वागत उद्बबोधन डॉ.रोहिणी डाबरे ने दिया व  साहित्यकार रेनू शब्द मुखर, जयपुर ने स्वागत गीत प्रस्तुत किया।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि विक्रम विश्व विश्वविद्यालय उज्जैन के हिंदी विभागाध्यक्ष एवं कुलानुशासक प्रोफेसर शैलेंद्र कुमार शर्मा ने कहा कि वे लोग विरल होते हैं, जो व्यापक विश्व चेतना के साथ जुड़कर क्रियाशील होते हैं। डॉक्टर शंभू पवार ऐसे ही व्यक्ति हैं। वे अनेक माध्यमों से समाज के निर्माण और सेवा में सक्रिय हैं। उन्होंने गहरे दायित्व बोध के साथ साहित्य, जनसंचार और समाज सेवा को लिया है। वे निरंतर समर्पण निष्ठा और कर्मशीलता के साथ इस दिशा में गतिशील बने रहेंगे, ऐसी मंगलकामनाएँ अर्पित करता हूँ।
विशिष्ठ अतिथति राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना के कार्यकारी अध्यक्ष शिक्षाविद डॉ शहाबुद्दीन नियाज़ मुहम्मद शेख़ ,पुणे ने कहा कि अंतर राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त पत्र कारिता के क्षेत्र में उल्लेनीय कार्य कर रहे डॉ शंभू पवार बहुआयामी व्यक्तित्व व बहुमुखी प्रतिभा के धनी है ।वे अंतर राष्ट्रीय स्तर की उपाधियां व सम्मान पाकर हिंदी पत्रकारिता को नई दिशा प्रदान कर रहे हैं। डॉ. पवार के लेखन में सरल,सफल,सार्थक व सटीकता के दर्शन होते है।
 संचेतना के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रसिद्ध साहित्यकार व शिक्षाविद ब्रजकिशोर शर्मा ने कहा डॉ शम्भू पंवारकी कर्म निष्ठा अभिनन्दनीय  है । व्यक्ति के जीवन के बाद भी उसके कर्मों की सुगंध विद्यमान  रहती है। डॉ पंवार ने सपरिवार केक काटा।तत्पश्चात डॉ मुक्ता कौशिक ने जन्मदिवस गीत एवं श्रीमती रुली सिंह ने डॉ पंवार के जीवन पर विडियो स्लाइड प्रदर्शन किया।राष्ट्रीय महासचिव डॉ प्रभु चौधरी ने डॉ पंवार के व्यक्तित्व पर प्रकाश डाला। संगोष्ठी में राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ. रश्मि चौबे व श्रीमती लता जोशी ने मधुर आवाज में गीत सुनाया। साहित्यकार व लेखिका डॉ. निक्की शर्मा”रश्मि” मुम्बई ने डॉ पंवार सरल,सह्रदय व निर्भीक लेखनी के धनी बताया।  समारोह की अध्यक्ष सुवर्णा जाधव मुम्बई ने कहा कि डॉ. पंवार लोकतंत्र के मजबूत स्तम्भ मीडिया का दायित्व निष्ठा व ईमानदारी से निर्वहन कर रहे है।
 इस अवसर पर डॉ. शम्भू पंवार की पत्नी कमलेश, पुत्र शुभम, पुत्रवधु ज्योति अभिषेक व  प्रिया अंकित पंवार,पु त्री सुमन ओम महावर, पवन पंवार ने भी विचार प्रस्तुत किये। अन्त में डॉ शम्भू पंवार ने अपने जन्मदिवस को यादगार बनाये जाने पर राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना व समारोह में उपस्थित समस्त पदाधिकारियों का आभार व्यक्त किया। संगोष्ठी का संचालन राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ. मुक्ता कौशिक ने एवं आभार राष्ट्रीय महासचिव डॉ. प्रभु चौधरी ने माना।

Related posts

Leave a Comment