प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजनान्तर्गत टेक्नाॅलाजी-लेड-फिशरीज डेवलपमेमन्ट इन उ0प्र0 विषय पर एक दिवसीय ऑनलाइन वेबीनार आयोजित

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। सहायक निदेशक मत्स्य आरके श्रीवास्तव ने बताया कि प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजनान्तर्गत टेक्नाॅलाजी-लेड-फिशरीज डेवलपमेमन्ट इन उ0प्र0 विषय पर एक दिवसीय ऑनलाइन वेबीनार का आयोजन मत्स्य विभाग द्वारा किया गया। इस वेबीनार का उद्घाटन डाॅ राजीव रंजन सचिव मत्स्य विभाग भारत सरकार नई दिल्ली द्वारा किया गया। सचिव भारत सरकार द्वारा वर्ष 2020 में लांच किये गये प्रधामंत्री मत्स्य सम्पदा योजना अन्तर्गत 2020-21 की योजनाओं का शुभाररभ एवं विगत चार वर्षाे मेे नीली क्रांति योजना में स्थापित इन्फ्राज्ञट्रक्चर योजनाओ आरएएस तथा मत्स्य बीज हैचरी, जो जनपद के ग्राम निरमाना एवं दतियाना में स्थापित किये गये है, उनका उद्घाटन किया गया। उन्होने इसके अतिरिक्त जनपद शामली में रियरिंग यूनिट, जो आरकेवाई योजना में रविन्द्र सिंह निवासी रेलपार शामली का फ्लैगऑन किया गया।

इस अवसर पर उ0प्र0 मत्स्य विभाग के प्रमुख सचिव भुवनेश कुमार द्वारा मत्स्य पालको को आहवाहन किया गया कि प्रदेश मे मत्स्य उत्पादन को दोगुना करने हेतु इस योजना का सतत् रूप स अपनाकर अनुदान का लाभ प्राप्त करे एवं मतस्य उत्पादकता 45-60 कुन्टल प्रति हेक्टेयर प्रति वर्ष तक ले जाने मेे मदद करे। मत्स्य विभाग के निदेशक एसके सिंह द्वारा मत्स्य पालन मे आधुनिक तकनिकी  आरएएस तथा बाॅयोफ्लाॅक योजना को अपनाकर मत्स्य उत्पादन बढाने के सम्बन्ध मे जानकारी दी गयी।
इस वेबीनार के माध्यम से विभागीय योजनाओ का लाभ ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से प्राप्त करने हेतु सहायक निदेशक मत्स्य आरके श्रीवास्तव ने आहवाहन किया तथा शामली जनपद मे विभागीय मत्स्य पालन योजनाओ मे आने वाली समस्याओ के निराकरण हेतु पवन कुमार मत्स्य विकास अधिकारी द्वारा बताया गया। सीफा, आइसीएआर भुवनेश्वर द्वारा रंगीन मछली पालन एवं ताजे मछली की झींगा पालन के सम्बन्ध मे मत्स्य पालको का प्रशिक्षण प्रदान किया गया।

Related posts

Leave a Comment