पौधा रौपने के साथ ही उसका संरक्षण भी जरूरी, यूपी में 30 करोड़ पौधे लगाने का लक्ष्य निर्धारित


शि.वा.ब्यूरो, लखनऊ। प्रदूषण नियंत्रण और पर्यावरण संतुलन के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने बड़ा निर्णय लेते हुए वर्ष 2021-22 में 30 करोड़ पौधे लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। इस कार्यक्रम में नगर पंचायत, नगर पालिका, नगर निगम, विकास खंड, एनएसएस, स्वयंसेवी संस्थाओं को भी शामिल किया जाएगा। 10.80 करोड़ पौधे वन विभाग और 19.20 करोड़ पौधे अन्य विभाग रोपित करेंगे। सरकारी अधिसूचना के अनुसार वृक्षारोपण के लिए जन आंदोलन 2021 के नाम से अभियान चलाया जायेगा। जानकारों के अनुसार वर्ष 2020-21 में योगी सरकार ने 25 करोड़ पौधे लगाए थे, इससे पूर्व वर्ष 2019-20 में 22 करोड़ पौधे लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। वर्ष 2018-19 में 9.16 करोड़ और 2017-18 में 6 करोड़ पौधे लगाने का लक्ष्य था।
जानकारों ने वृक्षारोपण के अभियान जन आंदोलन 2021 की सराहना करते हुए सरकार को रौपे गये पौधों की सुरक्षा का भी ध्यान रखने की मुकम्मल व्यवस्था बनाने की नसीहत दी है। उनका मानना है कि वर्ष 2017-18 के 6 करोड़, वर्ष 2018-19 के 9.16 करोड़ व वर्ष 2019-20 के 22 करोड़ पौधों की बात का ध्यान करें तो अभी तक 35 करोड़ पौधों के साथ ही पूर्व में रौपे गये पौधों की गणना करें तो उत्तर प्रदेश पूरी तरह से हरित प्रदेश बन जाना चाहिए था और इंच भर जमीन भी पौधा रौपने के लिए नहीं बचनी चाहिए थी, लेकिन संरक्षण की मुकम्मल व्यवस्था नहीं होने के कारण आज भी उत्तर प्रदेश हरियाली को तरस रहा है और सरकार को पौधा रोपण के लिए अभियान चलाकर पौधे रौपने के लिए लक्ष्य निर्धारित करना पड़ रहा है। जानकार बताते हैं कि पौधा रौपना जितना जरूरी है, उतना ही जरूरी रौपे गये पौधे का संरक्षण करना भी है।

Related posts

Leave a Comment