एसडी कालेज ऑफ़ इन्जिनियरिंग एण्ड टैक्नोलोजी में मार्ग दर्शक ओरिएन्टेशन प्रोग्राम आयोजित

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। एसडी कालेज ऑफ़ इन्जिनियरिंग एण्ड टैक्नोलोजी में डिप्लोमा प्रथम वर्ष के छात्र-छात्राओं के लिये मार्ग दर्शक ओरिएन्टेशन प्रोग्राम आयोजित किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ ज्ञान की देवी माँ सरस्वती के समक्ष संस्थान के अधिशासी निदेशक प्रो0 (डा0) एसएन चौहान, प्राचार्य डा0 ऐके गौतम, प्रधानाचार्य (डिप्लोमा पाठ्यक्रम) डा0 पीके पुन्डीर ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित करके किया। कार्यक्रम में डिप्लोमा में नवप्रवेशित छात्र-छात्राओं ने प्रतिभाग किया।

अधिशासी निदेशक डा0 एसएन चौहान ने कहा कि जागरूकता सफलता की कुंजी है। युवाओं को तकनीकी शिक्षा के साथ-साथ मानवीय मूल्यपरक शिक्षा का दिया जाना अति आवश्यक है। युवा जब मानवीय मूल्यों के प्रति संवेदनशील एवं सजग रहेगें, तब वे एक अच्छे नागरिक, इंजिनियर, नेता, प्रशासनिक अधिकारी बन सकेगें, जिससे सारा समाज एवं राष्ट्र उत्तरोत्तर उन्नति के पथ पर बढ सकेगा। इस प्रतिस्पर्धा के युग में अनेक चुनौतियाँ है, जिनका मुकाबला मेहनत एवं सजगता से ही किया जा सकता है। समाज एवं शिक्षा का स्वरूप तेजी से बदल रहा है। उन्होंने कहा कि छात्रों को केवल उचित एवं उत्तम शिक्षा ही सफलता दे सकती है। उत्कृष्टता स्वयं सिद्व होती है। अतः उत्कृष्ट बनिये। कुशलता से किया कर्म ही योग है। डा0 चौहान ने कहा कि छात्रों को विभिन्न क्षेत्रों से तकनीकी एवं अन्य ज्ञान अर्जित करने की भूख पैदा करनी होगी। आज समाज नाॅलिज सोसाइटी की ओर बढ़ रहा है। ज्ञान ही सर्वोत्तम धन है। उन्होने कहा कि संस्थान में अध्ययन करते हुये अपने तीन वर्ष की अवधि में आपको अपना लक्ष्य सदैव याद रखना चाहिये। माता-पिता समाज व राष्ट्र के प्रति अपने दायित्वों को सदैव स्मरण रखना चाहिये। लक्ष्य के प्रति समर्पण एवं जागरूकता आवश्यक है। छात्र प्रत्येक क्षण को उपयोगी बनायें। सफलता स्वयं कदम चूमेगी।


डिप्लोमा पाठ्यक्रम के प्रधानाचार्य डा0 पीके पुन्डीर ने कालेज द्वारा छात्र-छात्राओं के हित में उठाये गये कदमों की जानकारी देते हुए कालेज परिसर में किसी भी प्रकार की रैगिंग या गैर-अनुशासनात्मक गतिविधियों को रोकने के लिये उठाये गये प्रयासों का प्रेजेन्टेशन दिया तथा छात्र-छात्राओं के मानसिक व शारिरिक विकास के लिये समय-समय पर आयोजित की जाने वाली गतिविधियों के विषय में जानकारी दी गई। उन्होंने छात्र-छात्राओं के वैयक्तिक निखार के लिये पर्सनालिटि डवलपमैंट की महत्ता पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम में कालेज के वरिष्ठ शिक्षकों का भी परिचय कराया गया तथा कालेज में आने वाली किसी भी प्रकार की समस्या से निबटने के लिये बनाई गई विभिन्न कमेटियों से परिचय कराया।
इस अवसर पर प्राचार्य डा0 एके गौतम ने छात्र-छात्राओं को अनुशासन, दूर दृष्टि, कड़ी मेहनत व ईमानदारी को सफलता की कुँजी बताते हुए अपने लक्ष्य पर केन्द्रित करने पर जोर दिया। चीफ प्राॅक्टर डा0 आरटीएस पुंडीर ने अनुशासन पर बल देते हुये कहा कि अनुशासन समस्या नही समाधान है। प्रो0 योगेश कुमार शर्मा ने आर्थिक रूप से कमजोर छात्र-छात्राओं को सरकार द्वारा दी जाने वाली स्कालरशिप के विषय में जानकारी दी। ट्रेनिंग एंड प्लेसमेन्ट आफिसर अभिषेक राय ने आगामी दिनों में प्लेसमेन्ट के लिये आने वाली कम्पनीयों के बारे में बताया तथा कालेज प्रशासन द्वारा प्लेसमेन्ट के लिये किये जा रहे प्रयासों की जानकारी दी। कार्यक्रम का संचालन इंजी0 प्रगति शर्मा ने किया।


इस अवसर पर डा0 विकास कुमार, डा0 संदीप कुमार, इं0 पुनीत गोयल, इं0 विकुल कुमार, इं0 अनुज कुमार, इं0 निलांशु गुप्ता, आशुतोष, इं0 शंशाक गोयल, इं0 सौरभ मित्तल, इं0 शुभम कश्यप, इं0 गिरधारी लाल, इं0 शिवानी कौशिक, आकांशा बंसल, इं0 आकृति शर्मा, इं0 दीपा पुन्डीर, रश्मिकपिल, मुरसलीन रहमान, राजीव कुमार, संजय, दिनेश कुमार व सोमपाल आदि उपस्थित रहे।

Related posts

Leave a Comment