चार केंद्रों पर होगा कोविड-वैक्सीनेशन, चयनित टीकाकरण केंद्रों पर पहुंची वैक्सीन

शि.वा.ब्यूरो, मुज़फ्फरनगर। कोरोना वायरस (कोविड-19) के खिलाफ लड़ाई में अब एक कदम और आगे बढ़ने जा रहा है। जनपद में शनिवार (16 जनवरी) से कोरोना टीकाकारण का अभियान शुरू हो रहा है। पहले चरण में स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को कोविड का टीका लगाया जाएगा। इसके लिए जिले में वैक्सीन की पहले खेप गुरुवार को पहुंच चुकी है। पुलिस-प्रशासन की कड़ी निगरानी में शुक्रवार को वैक्सीन चार चयनित केंद्रों पर भिजवा दी गयी है।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) प्रवीण चोपड़ा ने बताया प्रथम चरण में वैक्सीनेशन 16 जनवरी से शुरू हो जाएगा, जिसके लिए गुरुवार को 14620 डोज प्राप्त हुई। इनको कड़ी निगरानी में चारों केंद्रों पर पहुंचा दिया है। वैक्सीनेशन के लिए विभाग ने पूरी तैयारी कर ली है। वैक्सीन की सुरक्षा के लिए 24 घंटे पुलिस द्वारा सुरक्षा प्रदान की जा रही है। इसके साथ ही टीका लगाने के दौरान सभी निर्धारित प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा। वैक्सीन लगाए जाने वालों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कस को सबसे पहले टीका लगाया जाएगा।
अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. राजीव निगम ने बताया कि वैक्सीनेशन का प्रथम चरण सुबह 9 बजे से शुरु हो जाएगा। इसका शुभारंभ जनप्रतिनिधि के द्वारा किया जाएगा। जिले में 11672 लोगों को वैक्सीनेशन करने का लक्ष्य रखा गया है। वैक्सीनेशन के लिए जिले में बनाए गए चार केंद्रों, मखियाली, खतौली, जानसठ और चरथावल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) पर भिजवा दिया गया है। सर्व प्रथम कोविड वैक्सीन की डोज प्राइवेट और सरकारी स्वास्थ्य कर्मियों को दी जाएगी। प्रत्येक टीकाकरण केंद्र पर एक दिन में 100 लोगों का वैक्सीनेशन किया जाएगा। टीकाकरण में पूरी सावधानी बरती जाएगी। हर टीकाकरण केंद्र पर तीन कमरों की व्यवस्था की गई है। पहला कमरा वेटिंग रूम होगा। दूसरे कमरे में टीकाकरण किया जाएगा। टीकाकरण के बाद संबंधित व्यक्ति को तीसरे कमरे में तीस मिनट तक रुकना होगा, ताकि अगर कोई साइड इफेक्ट हो तो फौरी तौर पर उसका निदान किया जा सके। हालांकि, वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित है। फिर भी पूरी तरह एहतियात बरती जाएगी। इसमें स्वास्थ्य विभाग की टीमों को पूरी तरह प्रशिक्षित किया जा चुका है।
वैक्सीन को निर्धारित तापमान यानि 2 से 8 डिग्री सेल्सियस पर रखा गया है। यह अभियान के रूप में चलेगा। अभियान को पोर्टल के जरिये  चलाया जाएगा। कहां और किस दिन कितने स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगाया जाएगा, यह सब पोर्टल तय करेगा।

Related posts

Leave a Comment