प्राथमिक विद्यालय ग्राम छपरा में विधिक साक्षरता शिविर आयोजित

शि.वा.ब्यूरो,  मुजफ्फरनगर। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव सलोनी रस्तोगी ने बताया कि उत्तर प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण से प्राप्त कलेन्डर के अनुसार जनपद न्यायाधीश व जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष राजीव शर्मा के निर्देशन में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की ओर से प्राथमिक विद्यालय ग्राम छपरा थाना छपार, ब्लाक पुरकाजीमें निःशुल्क विधिक सहायता एवम् मौलिक अधिकार व कर्तव्य बाल भिक्षा वृत्ति, अनुसूचित जाति जनजाति के हितार्थ चलायी कल्याणकारी योजनाओं के विषय पर विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव ने कहा कि समस्त नागरिकों को हमारे संविधान निर्माताओ ने एक ऐसे देश व राज्य व्यवस्था की संकल्पना की है, जिसमें किसी भी व्यक्ति के साथ जाति, धर्म, लिंग, जन्मस्थान आदि के आधार पर कोई भेद न हो।
सलोनी रस्तोगी ने कहा कि हमारा संविधान हम सभी पर कत्र्तव्य अधिरोपित करता है कि जाति धर्म के भेदभाव से ऊपर उठकर हम सभी भाइचारे कीभावना को सशक्त बनाएं। ईश्वर ने हम सभी को समान बनाया है। यदि हम सभी का कोई धर्म है, तो वह है मानव धर्म। यदि हम सभी की कोई जाति है, तो वह है मानव जाति। उन्होेने कहा कि संविधान जाति धर्म का भेद किये बिना सभी को समानता का अधिकार प्रदान करता है। अनुसूचित जाति व जनजाति को संविधान अनुच्छेद 14,15,16,17,19,21,23,25,32, में विभिन्न मूल अधिकार प्राप्त किये गये है। उन्होने बताया कि अनुसूचित जाति व जनजाति (अत्याचार निवारण ) अधिनियम 1989 के तहत एस.सी.एस.टी. के साथ अत्याचार करने, जाति सूचक शब्दों का प्रयोग करने पर दण्ड का प्राविधान किया गया है।


जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव सलोनी रस्तोगी ने बताया कि बाल भिक्षावृत्ति को रोकने के लिए यह आवश्यक है कि माता पिता सहित सभी सर्तक रहे। बच्चों को यह समझाये किसी अपरिचित व्यक्ति के बातो में न आये या उसके कहने पर उसके साथ न जाये। यदि कोई व्यक्ति किसी बच्चें को भिक्षावृत्ति कराने के उददेश्य से व्यपहरण करता है तो धारा 363ए भा0द0संहिता तथा धारा 76 किशोर न्याय अधिनियम में कारावास व एक लाख रूपये अर्थ दण्ड तक का प्राविधान है। यदि कोई व्यक्ति आर्थिक कारण से मुकदमें की पैरवी करने में असमर्थ है, तो उसे जिला विधिक सेवा प्राधिकरण में आवेदन देने पर निः शुल्क अधिवक्ता उपलब्ध कराया जायेगा।
सामाजिक कार्यकर्ता बीना शर्मा द्वारा महिला हैल्प लाईन नम्बरो के बारे में बताया गया तथा कहा गया कि हमें अपने बेटों व भाईयों को शिक्षित करने की आवश्यकता है कि वे महिलाओं व बालिकाओं का सम्मान करें, उनके द्वारा गरीब लोगो को कम्बल भी वितरित किये गये। कोविड -19 करोना वायरस के बारे मे जानकारी देते हुए जागरूक किया गया। शिविर में संजीव कुमार, निशि कुमार, रेणू रानी, शिवा रानी, अनीसूदीन सहायक अध्यापक, रामकली, रूकमणी, शिला शर्मा, राजेन्द्र आदि मुख्या रूप से उपस्थित रहें।

Related posts

Leave a Comment