यूपी बोर्ड की प्रयोगात्मक परीक्षाएं 5 फरवरी के बाद संभव

शि.वा.ब्यूरो, प्रयागराज। यूपी बोर्ड की हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट 2021 की प्रयोगात्मक परीक्षाएं फरवरी के पांच से 10 फरवरी के बीच शुरू हो सकती हैं। बोर्ड की ओर से हाईस्कूल में आंतरिक मूल्यांकन लागू होने के बाद अब बोर्ड को इंटरमीडिएट के लिए ही परीक्षक नियुक्त कर प्रदेश भर में प्रयोगात्मक परीक्षाओं को समय से कराना है। महीने भर चलने वाली प्रयोगात्मक परीक्षाओं के मार्च के दूसरे सप्ताह तक पूरी होने की संभावना है। कोरोना संक्रमण के चलते बोर्ड ने प्रयोगात्मक परीक्षाओं की तिथि आगे बढ़ाया है। प्रयोगात्मक परीक्षाओं का कोर्स भी कम किया गया है।
ज्ञात हो कि हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट की 2021 की परीक्षा में इस बार 56.03 लाख परीक्षार्थी पंजीकृत हैं। इसमें हाईस्कूल में 29.54 लाख एवं इंटरमीडिएट में 26.09 लाख छात्र-छात्राएं परीक्षा में शामिल होंगे। इससे पूर्व में प्रयोगात्मक परीक्षाएं 15 दिसंबर से शुरू होकर जनवरी तक पूरी होती थीं। अभी विद्यालयों में अभ्यास प्रैक्टिकल पूरे नहीं होने से यह फरवरी में कराने की तैयारी है। यूपी बोर्ड शासन की अनुमति के बाद पंचायत चुनाव के बाद अप्रैल-मई में बोर्ड परीक्षा कराने की घोषणा कर सकता है। यूपी बोर्ड से संबद्ध विद्यालयों में अभी तक कोर्स पूरा नहीं  हुआ है। विद्यालय भले ही प्री-बोर्ड परीक्षाएं करा रहे हैं, अभी उनके यहां कोर्स अधूरा है।

Related posts

Leave a Comment