मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी का दावा: अभी जनपद में बर्ड फ्लू का कोई मामला नहीं

शि.वा.ब्यूरो, मुज़फ्फरनगर।  मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि जनपद में बर्ड फ्लू का कोई मामला अभी प्रकाश में नहीं आया है। उन्होंने कहा कि सतर्कता के दृष्टिगत मुर्गी पालकों को बायोसिक्योरिटी संबंधी उपाय एवं साफ सफाई मुर्गी फार्म को कीटाणु रहित रखने हेतु पशुपालन विभाग के माध्यम से निर्देश भी दिए गए हैं। क्षेत्रीय वन अधिकारी को भी वन्य एवं प्रवासी पक्षियों का क्षेत्रीय पशु चिकित्सा अधिकारी से समन्व्य कर सर्विलांस हेतु निर्देशित किया गया है।

मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि राजकीय पशु चिकित्सालय सदर पर कंट्रोल रूम स्थापित कर रैपिड रिस्पांस टीमों का गठन कर लिया गया है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी को भी मेडिकल सहायता हेतु आरआरटी के गठन करने एवं औषधियों की समुचित व्यवस्था रखने हेतु निर्देशित किया गया है। पशुपालन विभाग द्वारा उसका कार्य निरंतर किया जा रहा है तथा पशु चिकित्सा अधिकारियों द्वारा सतत निगरानी रखते हुए पूर्ण सावधानी एवं सतर्कता बरती जा रही है। उन्होने कहा कि किसी भी क्षेत्र में पक्षियों की भारी संख्या में यदि मृत्यु परिलक्षित होती है तो तुरंत 131-2440636 या 9412472920 पर सूचना दे सकते हैं। मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि एहतियात के तौर पर शासन द्वारा संपूर्ण उत्तर प्रदेश राज्य को नियंत्रित क्षेत्र घोषित करते हुए जीवित पक्षियों को राज्य में आयात किए जाने को 24 जनवरी तक प्रतिबंधित कर दिया गया है। उन्होंने यह भी बताया कि 70 डिग्री पर चिकन एवं अंडे को उबालकर सेवन किया जा सकता है। पशु चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि जनपद में अभी तक बर्ड फ्लू का कोई मामला पक्षियों में प्रकाश में नहीं आया है। उन्होने कहा कि आम जनता से अपील है कि किसी भ्रम या भ्रांति में आकर वह वातावरण में भय उत्पन्न न होने दें किसी भी स्थिति को नियंत्रित करने हेतु प्रशासन एवं संबंधित विभागों के पास समुचित एवं पर्याप्त मात्रा में साधन उपलब्ध है। प्रभागीय निदेशक वानिकी सूरज कुमार ने बताया हैदरपुर वेटलैंड में भी बर्ड फ्लू से संबंधित कोई मामला प्रकाश में नहीं आया है।

Related posts

Leave a Comment