राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना ने डॉ.मुक्ता कौशिक का जन्मदिन उत्सव के रूप में मनाया

डॉ. शम्भू पंवार, नई दिल्ली। विचार भाव और कला के माध्यम से सामाजिक रूपांतरण  के लिए प्रतिबद्ध संस्था राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना की छतीसगढ़ इकाई द्वारा प्रसिद्ध साहित्यकार
लेखक, शिक्षाविद एवं संचेतना की राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ मुक्ता कान्हा कौशिक (रायपुर) का जन्मदिन उत्सव के रूप में मनाया गया। समारोह शुभारंभ साहित्यकार पूर्णिमा कौशिक की सरस्वती वंदना से हुआ। इस अवसर पर राष्ट्रीय उप महासचिव लता जोशी मुम्बई ने स्वरचित स्वागत गीत प्रस्तुत किया। महिला इकाई की महासचिव डॉ. रश्मि चौबे ने डॉ कौशिक के सम्मान में स्वरचित रचना सुनाई-
सखी में ओर तुम,
टेढ़ी मेडी समांतर रेखा सी लगती है मुझे,
बीच मे ज्ञान की गंगा बहती हो जैसे।।
दीपाली कौशिक की पंक्तिया–
मुस्कुराने की वजह तुम हो
गुनगुनाने की वजह तुम हो।।
को सब ने बहुत  पसंद किया। डॉ.मुक्ता कौशिक के गाने की पंक्तिया-
ओ करम खुदाया है,
मुझे तुमसे मिलाया है,
तुमसे मिलकर ही तो,
 मुझे जीना आया है।। 
 की शानदार प्रस्तुति देकर सभी को मंत्र मुग्ध कर दिया।
समारोह के मुख्य अतिथि संचेतना के कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ शहाबुद्दीन नियाज मोहमद शेख ने कहा डॉ मुक्ता अपने नाम के अनुरूप मुक्त है। ये साहित्य, शिक्षा, विचार व संचालन सभी क्षेत्र में अत्यंत कुशल, परिपक्व, अद्भुत व सराहनीय है। विशिष्ठ अतिथि व मुख्य राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ. शम्भू पंवार ने डॉ. मुक्ता कौशिक के व्यक्तित्व और कृतित्व पर बोलते हुए कहा कि उन्होंने साहित्य, लेखन व शिक्षा  के माध्यम से राष्ट्र की जो अप्रितम सेवा कर रही है वो अतुलनीय है। संचेतना की मुख्य कार्यकारी अध्यक्ष सुवर्णा जाधव ने कहा
डॉ. मुक्ता कौशिक बहुआयामी व्यक्तित्व की धनी है। विभिन्न समारोहों में उनकी स्वतंत्र शैली का दर्शन होता है। संचालक पूर्णिमा कौशिक ने डॉ. मुक्ता कान्हा कौशिक के जीवन वृत को स्लाइड शो के जरिये बहुत ही खूबसूरत अंदाज़ में दिखाया तथा डॉ. शहाबुद्दीन शेख़ की दो नवासिया माहिरा और मायेशा का भी जन्म दिन उत्सव का स्लाइड शो भी दिखाया गया।
राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष डॉ. शैल चंद्रा छत्तीसगढ़, महिला इकाई की अध्यक्ष डॉ. शिवा लोहरिया जयपुर, राष्ट्रीय उपमहासचिव डॉ. आशीष नायक धमतरी, सुरेश चंद्र शुक्ल ओस्लो ,डॉ परवीन बाला, डॉ. निक्की शर्मा मुम्बई, डॉ. ममता झा, दीपाली कौशिक, ज़िया खान व ज़ैद खान पुणे सहित अनेक महानुभावों द्वारा डॉ. मुक्ता कौशिक को जन्मदिन की बधाई देते हुए उज्जवल भविष्य की कामना की। डॉ. आशीष नायक ने डॉ. मुक्ता कौशिक के जीवन परिचय से अवगत कराया। समारोह का संचालन पूर्णिमा कौशिक ने किया।

Related posts

Leave a Comment