जिला अल्पसंख्यक अधिकारी देवेंद्र राम 60 हजार रुपये की घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार

शि.वा.ब्यूरो, कुशीनगर। एंटी करप्शन गोरखपुर की टीम ने बुधवार को जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी देवेंद्र राम को साठ हजार रुपये घूस लेते हूए रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। बताया जाता है कि जांच मे अनुपस्थित पाये गये छह मदरसा शिक्षको का मामला रफा-दफा करने के लिए अल्पसंख्यक अधिकारी मदरसा के एक शिक्षक से घूस ले रहे थे तभी एंटी करप्शन की टीम ने छापा मारकर रंगेहाथ डीएमओ को धर दबोचा। पकडे गये आरोपी अधिकारी को एंटी करप्शन की टीम कोतवाली लेकर पहुची जहां कागजी औपचारिकताएं पूरा करने के बाद भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज कराकर आरोपी को अपने साथ गोरखपुर ले गयी। इसकी जानकारी होने पर डीएम भी कोतवाली पहुंचकर वस्तुस्थिति से अवगत हुए।

जानकारी के मुताबिक बीते दिनो जिले के खड्डा क्षेत्र के कोहरगड्डी स्थित मदरसा का जिला अल्पसंख्यक अधिकारी देवेन्द्र राम द्वारा निरीक्षण किया गया था। मदरसा के छह शिक्षक अनुपस्थित पाये गये थे, जिनके खिलाफ कार्रवाई करने की धौस दिखाकर डीएमओ ने साठ हजार रुपये की मांग की थी। मदरसा के सहायक अध्यापक इस्तेयाक अली की माने तो जिला अल्पसंख्यक अधिकारी देवेन्द्र राम बार-बार उनके मदरसे का निरीक्षण करने आते थे। कोई कमी नही मिलने के बाद भी प्रधानाचार्य व प्रबंधक से रुपये की मांग करते थे। पिछले दिनों उन्होंने मदरसे की जांच की थी इस दरम्यान उनको लेकर कुल छह शिक्षक अनुपस्थित पाये गये थे स्पष्टीकरण देने के बावजूद डीएमओ मामले को रफा-दफा करने के लिए प्रत्येक शिक्षक दस हजार रुपये की दर से साठ हजार रुपये की मांग कर रहे थे।

शिकायतकर्ता ने किया एंटी करप्शन से शिकायत मदरसा कोहरगड्डी के सहायक अध्यापक इस्तेयाक अली ने बताया कि डीएमओ देवेन्द्र राम द्वारा बार-बार फोन करके साठ हजार रुपये की मांग की जा रही थी पैसे न देने पर कार्रवाई की धमकी दिये जाने से तंग आकर उन्होंने इसकी शिकायत एंटी करप्शन गोरखपुर से किया। जिसको गंभीरता से लेते हुए एंटी करप्शन की टीम ने यह कार्रवाई की है। क्या है पुरा मामला कहना न होगा कि बुधवार को एंटी करप्शन की की टीम जिला मुख्यालय पहुची और जिलाधिकारी को सूचना देकर विकास भवन स्थित जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी कार्यालय के आसपास मंडराने लगी। इसी दौरान डीएमओ देवेंद्र राम जैसे ही अपने चेम्बर मे पहुंचे। टीम के सदस्यों ने शिकायतकर्ता सहायक अध्यापक इस्तेयाक अली को साठ हजार रुपये लेकर जिला अल्पसंख्यक अधिकारी देवेन्द्र राम के पास जाने के लिए इशारा किया। उसके बाद जैसे ही अल्पसंख्यक अधिकारी ने उस शिक्षक से साठ हजार रुपये अपने हाथ मे लिया वहा अगल-बगल मौजूद विजिलेंस की टीम ने डीएमओ देवेंद्र राम को रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया। घूस लेते रंगे हाथों पकडे गये जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी को एंटी करप्शन की टीम अपने साथ लेकर पडरौना स्थित कोतवाली में पहुंची, जहां उनसे पूछताछ करने के बाद टीम कागजी कार्रवाई पुरी की और आरोपी के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मुकदमा पंजीकृत कराकर आरोपी अल्पसंख्यक अधिकारी को अपने साथ गोरखपुर ले गयी। गिरफ्तार करने वाली टीम शिकायत के आधार पर एंटी करप्शन के एसपी श्रीराम सिंह के निर्देशन में और इंस्पेक्टर राजकुमार यादव की अगुवाई में टीम गठित की गई थी। गिरफ्तार करने वाली टीम में एसआई अर्जुन यादव, काशी राय, ईश्वर यादव, विदेशी प्रसाद, बलराम मिश्र, सुभाष चंद उपाध्याय, सुनील कुमार, प्रदीप कुमार यादव, कृष्ण कुमार सिंह शामिल रहे। गिरफ्तार डीएमओ को टीम अपने साथ गोरखपुर ले गई है। मै निर्दोष हू- आरोपी साठ हजार रुपये घूस लेते रंगे हाथ पकडे गये जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी देवेंद्र राम का कहना है कि मैं पूरी तरह निर्दोष हूं। साजिश के तहत मुझे फंसाया गया है। उन्होंने कहा कि विजलेंस की जांच में स्थिति साफ हो जाएगी। जांच की एक-एक बिंदुओं पर मैं विजलेंस टीम को सहयोग करूंगा

Related posts

Leave a Comment