विरेन्द्र सिंह रावत ने खेल नीति 2020 में मह्त्वपूर्ण सुझाव को सम्मलित हेतु उत्तराखंड के खेल मंत्री, खेल सचिव व स्पोर्ट्स डायरेक्टर को पत्र भेजा

शि.वा.ब्यूरो, देहरादून। नैशनल फुटबाल कोच और क्लास वन रेफरी, 7 अंतराष्ट्रीय, 23 राष्ट्रीय और 20 स्टेट अवार्ड से सम्मानित देहरादून फुटबाल अकैडमी संस्थापक अध्यक्ष और हेड कोच विरेन्द्र सिंह रावत ने खेल नीति 2020 में मह्त्वपूर्ण सुझाव को सम्मलित हेतु उत्तराखंड के खेल मंत्री, खेल सचिव व स्पोर्ट्स डायरेक्टर को पत्र भेजा है। अपने पत्र में श्री रावत ने कहा है कि उत्तराखंड के मूल निवासी खिलाड़ी, कोच और रेफरी को ही प्राथमिकता दी जाए और खिलाडियों के साथ-साथ एनआईएस एवं अनुभवी कोच को सरकारी नौकरी दी जाए।

श्री रावत ने कहा है कि जो खेल की टीम बने, वो पूरे साल भर केवल खेल पर ही अभ्यास करे और अधिक से अधिक प्रतियोगिता खेले। खेल की कोई भी टीम स्टेट, नैशनल और ऑल इंडिया स्तर की प्रतियोगिता हो, उसमे बेह्तरीन खिलाडी, कोच और रेफरी रखे और स्टेट एसोसिएशन के साथ मिलकर सामंजस्य बनायें, जिससे उत्तराखंड की टीम नैशनल और इंटरनेशनल स्तर पर पदक जीत सके। उन्होंने अपने पत्र में कहा है कि उत्तराखंड पुलिस की एक मात्र टीम है, जो उत्तराखंड मे बेह्तरीन प्रदर्शन विगत 20 वर्षो से कर रही है। खेल कोटे के तहत, भविष्य मे खिलाडियों, कोचों की भर्ती करे, जिससे पुलिस टीम नैशनल और इंटरनेशनल स्तर पर और बेह्तरीन प्रदर्शन करे। खेल का कोई भी नैशनल और इंटरनेशनल का कैम्प हो तो कम से कम एक महीने का हो और चुने हुए बेह्तरीन खिलाड़ी का कैम्प अनुभवी कोच के द्वारा हो जब टीम अनुभवी कोच को सौपी जाए तो उसमे कोई भी दख़ल अंदाजी ना करे। स्टेट एसोसिएशन को भी सख्त दिशा-निर्देश दिए जाए। जो खिलाड़ी, कोच और रेफरी सरकारी विभाग या गैर सरकारी विभाग में बेह्तरीन प्रदर्शन करे, समय समय पर उनका प्रमोशन भी किया जाए।
विरेन्द्र सिंह रावत ने उत्तराखंड के खेल मंत्री, खेल सचिव व स्पोर्ट्स डायरेक्टर से कहा है कि उत्तराखंड हित और देश हित में उपरोक्त 6 बिन्दू और पूर्व मे दिए गए 26 बिंदुओं को अमल में लाया जाए तो खेल नीति 2020 आने वाले उत्तराखंड के लिए बेह्तरीन खेल हब होगा। श्री रावत ने आशा व्यक्त की, कि 14 अक्तूबर को केबिनेट की बैठक मे बेह्तरीन खेल नीति पर मोहर लगेगी, जिससे आने वाले खिलाड़ी, कोच और रेफरी का उचित भविष्य बनेगा और साथ ही साथ राज्य खेल फुटबाल का भी उचित विकास होगा।

Related posts

Leave a Comment