निर्विवाद उत्तराधिकार खतौनी में दर्ज किये जाने हेतु चल रहे विशेष अभियान के अन्तर्गत नोडल अधिकारी ने ग्राम अन्तवाडा में ग्राम वासियों के साथ किया संवाद, नागिन नदी के जीर्णोद्वार के कार्याे व  गन्ना तौल क्रय केन्द्र का किया निरीक्षण

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। जनपद की नोडल अधिकारी व गाजियाबाद विकास प्राधिकरण की उपाध्यक्ष कंचन वर्मा ने निर्विवाद उत्तराधिकार (विरासत) खतौनी में दर्ज कराये जाने के विशेष अभियान के अन्तर्गत आज ग्राम अन्तवाडा में खुली बैठक कर ग्रामवासियों के साथ सीधा संवाद कर अभियान व योजनाओं की जानकारी दी। उन्होने ग्रामवासियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि उ0प्र0 शासन के निर्देशानुसार निर्विवाद उत्तराधिकार (विरासत) खतौनी में दर्ज कराये जाने का विशेष अभियान चलाया जा रहा है। उन्होने कहा कि 30 दिसम्बर तक राजस्व/तहसील अधिकारियों द्वारा भ्रमण कर राजस्व ग्रामों में प्रचार-प्रसार तथा खतौनियों को पढा जायेगा तथा लेखपाल द्वारा विरासत हेतु प्रार्थना पत्र प्राप्त कर उन्हें ऑनलाइन भरा जायेगा।


नोडल अधिकारी ने आज चीनी मिल खतौली के गन्ना तौल क्रयकेन्द्र जानसठ बी एवं मकसूदाबाद का औचक निरीक्षण किया तथा उपलब्ध अभिलेखो एवं पंजिकाओं को देखा। इसी के साथ किसानों से बात कर फीडबैक लिया गया। निरीक्षण के समय नोडल अधिकारी क्रयकेन्द्र पर व्यवस्थाओं से सन्तुष्ट नजर आई। उपस्थित किसानों ने ई.आर.पी. व्यवस्था की प्रशंसा की तथा अवगत कराया कि इस व्यवस्था के अन्तर्गत किसानों की समस्याओ का त्वरित गति से निस्तारण हो रहा है। इस व्यवस्था से पूर्व कई-कई दिन बाद किसानों की समस्याओं का समाधान होता था परन्तु अब किसानों अपनी समस्या विभागीय वेबसाईट ब्ंदमनचण्पद अथवा ई-गन्ना ऐप पर दर्ज करा सकते है जो स्वतः सम्बन्धित समिति अथवा चीनी मिल मे पहूंच जाती और तत्काल कृषक की समस्या का समाधान हो रहा हैं। इसके अतिरिक्त टोल फ्री नम्बर 18001213203 तथा 18001035823 पर भी किसानों की समस्या का समाधान हो रहा है।


इसके पश्चात नोडल अधिकारी ने ग्राम अन्तवाडा मे स्थित नागिन नदी के उद्गम स्थल का निरीक्षण किया और नदी पर मनरेगा के अन्तर्गत मेढ बन्दी व नदी की सफाई का निरीक्षण किया। बीडीओ खतौली ने बताया कि नागिन नदी ग्राम अन्तवाडा से निकल कर खतौली ब्लाक के 10 ग्राम पंचायत से होते हुए 20 किमी तक जाती है। नोडल अधिकारी द्वारा नदी के जीर्णोद्वार से सम्बन्धित कार्याे को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिये तथा तकनीकी रूप सिंचाई विभाग से भी सहभागिता करायी जाये तथा उनके पास उपबल्ध नक्शे  से भी सहायता ली जाये ताकि नदी के जीर्णोद्वार कार्य को सुगंमता से करने मे मदद मिल सके।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आलोक यादव, एसडीएम खतौली, बीडीओ खतौली सहित सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित थे।

Related posts

Leave a Comment