श्री राम ग्रुप ऑफ़ कालेजेज के सभागार में खेलों इंण्डियाः एक आदर्श खेल गांव की अवधारणा विषय पर एक संगोष्ठी आयोजित

शि.वा.ब्यूरो, मुज़फ्फरनगर। आज श्री राम ग्रुप ऑफ़ कालेजेज के सभागार में स्पोटर्सः ए वे ऑफ़ लाइफ एवं आईएमटी गाजियाबाद द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित खेलों इंण्डियाः एक आदर्श खेल गांव की अवधारणा विषय पर एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया, जिसके मुख्य अतिथि स्पोटर्सः ए वे ऑफ़ लाइफ गाजियाबाद और खेल शोध केंद्र आईएमटी गाजियाबाद के अध्यक्ष डा कनिष्क पांडेय रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री राम ग्रुप ऑफ़ कालेजेज के संस्थापक चेयरमैन एवं स्पोटर्सः ए वे आफ लाईफ के संरक्षक डा0 सुभाष चंद्र कुलश्रेष्ठ ने की। सेमिनार के मुख्य अतिथि डा0 कनिष्क पांडेय ने आदर्श खेल गांव की अवधारणा पर बोलते हुए कहा कि इस योजना की पहल बहादुरपुर और खेड़ी विरान को आदर्श खेल गांव बनाने और देश के प्रत्येक गांव में खेल संस्कृति को बढ़ावा देने तथा गांवों में छुपी खेल प्रतिभाओं को खेल संसाधन एवं मंच प्रदान करने के उद्देश्य से 16 जनवरी 2020 को शुरू की गई थी। इस कार्ययोजनाओं की प्राथमिकताओं पर बोलते हुए डा0 पांडेय ने बताया कि गांव में इस कार्ययोजना को तीन चरणों में क्रियान्वित किया जा रहा है, जिसमें सबसे पहले लोगों में खेलों के प्रति जानकारी एवं जागरूकता को बढ़ाने के लिए इससे संबंधित बुकलेट का वितरण किया गया साथ ही खेलों का भी आयोजन किया गया, जिसमें तकरीबन 750 खिलाड़ियों ने प्रतिभाग किया गया तथा डोर-टू-डोर सर्वे कर लोगों को खेलों के प्रति प्रोत्साहित किया, जिससे गांव के रहने वाले परिवार अपने बच्चों को खेलों से जुड़ने के लिए प्रोत्साहित करें। उन्होंने कहा कि खेलों का मनुष्य के व्यक्तित्व एवं चरित्र निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका है। साथ ही खेलों के माध्यम से बच्चों में नैतिक मूल्यों व अनुशासन का भाव विकसित होता है तथा बड़ों का आदर सम्मान जैसे गुण भी विकसित होते हैं। उन्होंने कहा कि इस योजना का दूसरा उद्देश्य यह है कि खेलों के माध्यम से गांव का हर बच्चा खिलाडी बनने के साथ-साथ अच्छा नागरिक बनें तथा राष्ट्र निर्माण में अपनी महत्ती भूमिका निभाए। उन्होंने इस योजना के तीसरे चरण के उद्देश्यों का जिक्र करते हुए कहा कि बच्चों की खेल प्रतिभा को मंच प्रदान करना इस योजना का तीसरा और मूल उद्देश्य है। जिसके माध्यम से बेहतर प्रदर्शन के आधार पर खेल प्रतिभाओं का चयन कर उन्हें आर्थिक सहयोग के साथ-साथ मूलभूत खेल सुविधाओं को उपलब्ध कराया जाता है। 

 

 

 

 

 

 

इस अवसर पर श्रीराम ग्रुप ऑफ़ काॅलेजेज़ के चेयरमैन डा0 सुभाष चंद्र कुलश्रेष्ठ ने कहा कि बहादुरपुर और खेड़ी विरान को आदर्श गांव बनाने की दिशा में कार्य करते हुए श्रीराम ग्रुप ऑफ़ काॅलेजेज़ की तरफ से गांव के बच्चों को विश्व स्तरीय खेल संसाधनों एवं सुविधाओं को उपलब्ध कराने के लिए दृढ़ संकल्प है। उन्होंने कहा कि स्पोटर्स कल्चर को प्रोत्साहित करने से गांव के बच्चों में जहां खेल के प्रति रूझान बढेगा साथ ही व्यक्तित्व में भी विकास होगा। उन्होंने कहा कि खेलों के माध्यम से  व्यक्ति को मानसिक संतोष एवं नव ऊर्जा प्राप्त होती है। जिंदगी की भाग-दौड़ एवं व्यस्त जीवन शैली को खेलों के माध्यम से संतुलित कर जीवन में लक्ष्य प्राप्ति को सुगम बनाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि 16 जनवरी 2020 को शुरू की गई इस पहल की वर्षगांठ आगामी 16 जनवरी 2021 को खेलों पर विचार गोष्ठी का आयोजन कर बनाने की योजना है। सेमिनार के विशिष्ट अतिथि प्रो0 मुन्ना मिश्रा ने कहा कि इस योजना के तहत खिलाडियों की प्रतिभा को ध्यान में रखते हुए उन्हें बेहतर मंच के साथ-साथ डाइट प्लान भी तैयार किया जाएगा, जिससे खिलाडी की कद-काठी, वजन एवं मैदान पर किए गए अभ्यास को घ्यान में रखते हुए पोषक आहार से संबंधित योजना पर कार्य किया जाएगा। जिसमें हर बच्चे का हेल्थ डाइट कार्ड भी बनाए जाने की योजना है। साथ ही उन्होंने कहा कि जिस प्रकार शिक्षा का अधिकार मौलिक अधिकारों के अंतर्गत आता है ठीक उसी प्रकार खेल के अधिकार को भी मौलिक अधिकारों में शामिल किया जाना चाहिए। जिससे देश में खेल संस्कृति का विकास होगा एवं प्रतिभाओं को भी मंच मिलेगा साथ ही अन्तर्राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिताओं में भारत की संभावनाएं बढेगीं। उन्होंने कहा कि आमतौर पर हर मोर्चे पर शिक्षा के सामने खेल को कमतर ही आंका जाता है। लेकिन खेल हमारे सोचने समझने की शक्ति को दोगुना करता है। अतः सभी को इस बात से अवगत कराने की जरूरत है कि खेलोगें कुदोगे तो बनोगे खराब पढागें लिखोंगे तो बनोगे नबाव वाली खेलों के प्रति नाकारात्मक मानसिकता को दूर कर खेलों के प्रति अपनी सोच बदलनी चाहिए।  

 

 

कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि शुधांशु हेड, आईटीसेल, स्पोटर्स ए वे आफ लाइफ ने पावर पाईट प्रजेंटेशन के माध्यम से विचार रखते हुए कहा कि खेल से संमबंधित विद्यार्थियों की सम्पूर्ण जानकारियों एवं सूचनाओं- जैसे उनका स्वास्थय, वजन, डाईटप्लान, व्यवहार, अनुशासन, उपस्थिति आदि का संकलन कर एक पोर्टफालियो तैयार कर रोजाना अपडेट किया जाएगा। जिससे समय-समय पर विधार्थियों के शारीरिक , बौद्धिक, सामाजिक, व्यवहारिक एवं खेल में प्रदर्शन के आधार पर विश्लेषण किया जाएगा। इस अवसर पर श्रीराम गर्ल्स काॅलेज के गृह विज्ञान विभाग की अध्यक्ष डाॅ0 श्वेता राठी व प्रवक्ता सोफिया अंसारी ने खिलाड़ियों के पोषक आहार से संबंधित विषय पर प्रजेंटेशन के माध्यम से बताया कि विभाग द्वारा भविष्य में इस विषय पर एक सर्वे का आयोजन किया जाएगा जिसमें एमएससी फूड एण्ड न्यूट्रीशियन की छात्राओं द्वारा व्यक्तिगत रूप से गांव के प्रत्येक बच्चे एवं खिलाड़ी का पोषक आहार स्तर का विश्लेषण कर उनके लिए डाइट चार्ट से संबंधित सुझाव प्रस्तुत किया जाएगा। जिससे खिलाडियों को सही शारीरिक विकास एवं ऊर्जा प्राप्त कर खेलोें में बेहतर प्रदर्शन कर सकें। इस अवसर पर श्रीराम काॅलेज के निदेशक डा0 आदित्य गौतम, बहादुरपुर खेडी विरान के ग्राम प्रघान राधेश्याम, शारीरिक शिक्षा विभाग के विभागाध्यक्ष प्रमोद कुमार, कनुप्रिया, अंकित धारीवाल, एवं कार्यक्रम संयोजक भूपेंद्र कुमार आदि उपस्थित रहे।

Related posts

Leave a Comment