जौनपुर के मल्हनी विधानसभा उप चुनाव को लेकर सरगर्मियां बढ़ी

शि.वा.ब्यूरो, जौनपुर। मल्हनी विधानसभा उप चुनाव सत्ता पक्ष और विपक्ष से ज्यादा तनातनी भाजपा में मुखर हो रही है। भाजपा के दोनो गुटों में वर्चस्व की लड़ाई अब सड़क पर आ गयी है।
कहते हैं जब दोस्त ही दुश्मनी निभाने लगे तो दुश्मनों की जरूरत ही नहीं रहती। ऐसा कुछ हाल जनपद की मल्हनी विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव की तैयारियों के दौरान देखने को मिल रही है। भाजपा का एक पक्ष दूसरे पक्ष पर लूट-खसोट, विकास के नाम पर सरकारी धन के घोटाले का आरोप लगा रहा है। इस गु्रप के लोगों का कहना है कि ये लोग वर्ग विशेष के लोगों को उसकाकर क्षेत्र में गुंन्डा गर्दी करवा रहे हैं और इतना ही नहीं ये कमजोर लोगों की जमीन पर जबरन कब्जा करवाना, ट्रांसफर- पोस्टिंग के नाम पर अपनी राजनीति की दुकान चला रहे हैं। भ्
इसके साथ ही भाजपा प्रत्याशियों की नकली सूची के मामले में भी भारतीय जनता पार्टी को फजीहत झेलनी पड रही है। कुछ लोगों का मानना है कि यह भाजपा की ही अन्तर्कलह का नतीजा है तो कुछ इसे विरोधियों की चाल बता रहे हैं। पार्टी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से जारी विज्ञप्ती में कहा है कि सम्बन्धित चुनाव के लिए जारी प्रत्याशियों की सूची फर्जी, भ्रामक एंव असत्य है, जब तक पार्टी के आधिकारिक सोशल मीडिया साइट अथवा वेवसाइट से इसकी घोषणा न की जाए, तब तक कार्यकर्ता इस प्रकार की किसी भी सूची पर विश्वास न करें।
बता दें कि इस प्रकार की नकली सूची प्रकाशित होने का यह पहला मामला नहीं है। 2019 के लोकसभा चुनाव में भी जौनपुर लोकसभा को लेकर अन्य लोकसभा के प्रत्याशियों के साथ नकली सूची भी ठीक इसी प्रकार से पार्टी के लेटरहेड पर प्रकाशित की गयी थी। उस समय भी इन्हीं कथित प्रत्याशी का नाम प्रकाश में आया था।

Related posts

Leave a Comment