आदर्श शिक्षक रत्न राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त शिक्षक आरपी आनन्द ने किया साहित्य दर्शन ई पत्रिका का ऑनलाइन विमोचन

शि.वा.ब्यूरो, भवानीमंडी। साहित्य दर्शन ई पत्रिका के अंक-13 का ऑनलाइन विमोचन बतौर मुख्य अतिथि आदर्श शिक्षक रत्न राष्ट्रीय पुरस्कार से हाल ही में सम्मानित हुए शिक्षक रामप्रीत आनंद ने किया। ऑनलाइन विमोचन समारोह में विशिष्ट अतिथि सुप्रसिद्ध गीतकार राकेश थावरिया, कवयित्री राजेश चौरसिया, विशेष सानिध्य बाल कवयित्री शुभांगी शर्मा, डॉ. गीता दुबे व वर्तिका शर्मा रहे।
इस अवसर पर मुख्य अतिथि रामप्रीत आनंद ने कहा कि साहित्य दर्शन का यह अंक म्हारो रंगीलो राजस्थान में सभी रचनाकारों ने उत्कृष्ट रचनाएं लिखकर कर परिषद का गौरव बढ़ाया है। विशिष्ट अतिथि राजेश चौरसिया ने कहा कि यह अंक राजस्थान की महिमा मंडित केट राजस्थान की रँगीली विशेषताओं से एक सुन्दर रंगोली का निर्माण करता है। विशेष सानिध्य अतिथि कवयित्री डॉ. गीता दुबे ने कहा कि साहित्य दर्शन ई – पत्रिका का त्रयोदश “म्हारों रंगीलो राज स्थान विशेषांक ” देश के महान सांस्कृतिक, ऐतिहासिक, गौरवशाली धरोहर के अनुपम राज्य राजस्थान को समर्पित है। यह विशेषांक अपनी श्रेष्ठतम रचनाओं  में राजस्थान के शौर्य, त्याग, बलिदान, संस्कृति, ऐतिहासिक धरोहर एवं आत्मीय आतिथ्य एवं रीति परम्पराओं के विविध रंगों को समेटे कालजयी संकलन है। इसमें 18 रचनाकारों की राजस्थान की शौर्य गाथाओं एवं गौरवशाली परम्पराओं को अभिव्यक्त करती श्रेष्ठतम रचनाऐं है। उन्होंने कहा कि राजस्थान की गौरवमय सांस्कृतिक परम्परा को जीवंत करती हर रचना वंदनीय है, सभी रचनाओं की भाषा शैली सहज, सरल एवं विषयानुकूल है। इस विशेषांक के साथ अ.भा.सा.प. भवानीमंडी द्वारा साहित्य सृजन के माध्यम से राजस्थान को विश्व पटल पर सम्मानित किया गया है। उन्हीने शानदार अनूठे विषय के लिये परिषद् एवं  डॉ.राजेश शर्मा जी को बधाई भी दी।

Related posts

Leave a Comment