कोफास-2020 में दिखाई दिया वैज्ञानिक ज्ञान व कलात्मक प्रतिभा का अद्भुद नजारा

शि.वा.ब्यूरो, लखनऊ। सिटी मोन्टेसरी स्कूल राजेन्द्र नगर (प्रथम कैम्पस) द्वारा ऑनलाइन आयोजित चार दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय कम्प्यूटर ओलम्पियाड ‘ई-कोफास-2020’ का तीसरे दिन रूस, जार्डन, बांग्लादेश, ओमान, कतर एवं भारत के प्रतिभागी छात्रों ने आज रेन्डीशन (पेपर प्रजेन्टेशन), ई-कोफास डूडल एवं काॅस्टेक (कोरियोग्राफी) प्रतियोगिताओं में अपने कम्प्यूटर ज्ञान का परचम लहराया, साथ ही कलात्मक प्रतिभा का जोरदार प्रदर्शन भी किया।

इस अवसर पर की सीएमएस के चीफ एक्जीक्यूटिव ऑफीसर रोशन गाँधी ने कहा कि इस ई-कोफास का विषय और इसे अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित करना सांकेतिक रूप से बहुत महत्वपूर्ण है। इस प्रतियोगिता में भाग लेकर छात्र कम्प्यूटर के क्षेत्र में ज्यादा बेहतर भविष्य बना सकते हैं, साथ ही साइबर नेटवर्किंक की मदद से वैश्विक समस्याओं जैसे पर्यावरण, आतंकवाद, परमाणु खतरों आदि के समाधान में भी अपना योगदान दे सकते हैं क्योंकि इन समस्याओं की कोई सीमा नहीं है और इसका समाधान विश्व एकता में ही निहित है। ‘ई-कोफास-2020’ के तीसरे दिन की प्रतियोगिताओं का सिलसिला रेन्डीशन (पेपर प्रजेन्टेशन) प्रतियोगिता से हुआ, जिसमें देश-विदेश की प्रतिभागी टीमों ने ‘न्यू होरिजन ऑफ एनर्जी एफिसिएन्सी एण्ड ई-वेस्ट मिनिमाईजेशन’ विषय पर अपनी प्रस्तुतियों के माध्यम से बेहद सारगर्भित विचार प्रस्तुत किए।

प्रतिभागियों ने बताया कि किस प्रकार तकनीकी विकास व पर्यावरण में संतुलन बनाकर विश्व मानवता का विकास सुनिश्चित किया जा सकता है। प्रतियोगिता में जुबली स्कूल, जार्डन की डायना डावरी एवं वफा इस्लाम ने ‘द वल्र्ड ऑफ ग्रीन कॅप्यूटिंग’, इण्डियन स्कूल, ओमान के आदित्य कुकरेती एवं वंशिका जैन ने ‘ग्रीन कम्प्यूटिंग – ए न्यू फ्यूचर आॅफ एनर्जी एफिसिएन्सी’ एवं सेंट ग्रेगरी हाई स्कूल, ढाका, बांग्लादेश के रफीउल आलम एवं जाबिर अल महदी समेत कुल 10 छात्र टीमो ने अपने शोध प्रस्तुत किये। इसी प्रकार जूनियर वर्ग के लिए आयोजित ‘ई-कोफास डूडल प्रतियोगिता’ में भी प्रतिभागी छात्रों ने कोफास लोगो पर आधारित सुन्दर-सुन्दर डूडल बनाये। इस प्रतियोगिता में छात्रों की रचनात्मक सोच, सृजनात्मक व कलात्मक क्षमता व कम्प्यूटर ज्ञान को परखा गया।

इसके साथ ही आज आयोजित काॅस्टेक (कोरियोग्राफी) प्रतियोगिता सभी के आकर्षण का केन्द्र रही, जिसमें छात्रों ने अपनी अभिनय क्षमता व कलात्मक प्रतिभा का नजारा प्रस्तुत किया। प्रतियोगिता का विषय था ‘इल्यूमिनेट’, जिस पर पाँच -पाँच छात्र समूह ने नृत्य व संगीत की प्रस्तुति दी। जहाँ एक ओर पठानिया पब्लिक स्कूल, रोहतक के छात्रों ने  पर्यावरण पर संवेदना जताई तो वहीं दूसरी ओर डी.पी.एस. कल्यानपुर, कानपुर के छात्रों ने सोशल मीडिया एडिक्शन विषय पर जागरूकता जगाई। इसी प्रकार, देश-विदेश के विभिन्न प्रतिष्ठित विद्यालयों की छात्र टीमों ने नृत्य प्रतिभा व हावभाव का जोरदार प्रदर्शन विभिन्न ज्वलन्त विषयों पर जागरूकता फैलाई।

Related posts

Leave a Comment