थाना इंचार्ज बिजेन्द्र भड़ाना डिप्टी एसपी पर भारी, सीओ ने बताया अपनी जान का खतरा, लगाये गम्भीर आरोप

शि.वा.ब्यूरो, गाजियाबाद। लोनी के पूर्व डीएसपी राजकुमार पांडेय ने लोनी थाना इंचार्ज बिजेंद्र भड़ाना पर गंभीर आरोप लगाए हैं। डीएसपी राजकुमार पांडेय ने थाना प्रभारी बिजेंद्र भड़ाना को रेपिस्ट तक बता डाला है। डीएसपी राजकुमार पांडेय ने ऑडियो जारी करके अपना दर्द बयां किया है। उन्हांेने आरोपी थाना प्रभारी से अपनी जान को खतरा भी बताया है। सोशल मीडिया पर वायरल पर संज्ञान लेते हुए आला अफसरों द्वारा नियुक्त जांच अधिकारी ने बताया कि उक्त मामले में श्री पाण्डेय द्वारा अभी तक अपनी शिकायत के बारे में उन्हें कोई साक्ष्य या लिखित बयान नहीं दिया है। जांच अधिकारी के अनुसार उनके जनपद में तीन वर्ष का कार्यकाल पूरा होने के बाद महोबा के लिए किया उनका ट्रांसफर पूरी तरह व्यवस्था के तहत रूटीन है।
जनपद महोबा में स्थानान्तरित हो चुके लोनी के पूर्व डीएसपी राजकुमार पांडेय ने जारी अपनी ऑडियो में कहा कि थाना प्रभारी ने उन्हें जेल भेजने की धमकी दी थी। इस मामले को उच्च अधिकारियों के संज्ञान में कई बार मामला डाला गया, लेकिन आज तक कोई कार्यवाही नही हुई है। डीएसपी राजकुमार पांडेय अपने वायरल ऑडियो में अपना परिचय और उप्लब्धियों बताते हुए कहते है कि मैं पूर्व क्षेत्राधिकारी राजकुमार पांडेय सीओ, लोनी गाजियाबाद, मैंने यहां सीएए के आंदोलन से लेकर जब सारे जहां से अच्छा हिन्दोस्तां हमारा गीत चला और 1 लाख से ज्यादा की भीड़ थी। मैंने 2 दिन तक लगकर पूरी भीड़ को नियंत्रित किया। भीड़ में घुसकर अपनी जान की भी परवाह नहीं की। फरवरी लास्ट में हुए दिल्ली दंगों में 15 दिन बॉर्डर पर कैंप किया। सब्जी मंडी में आग लगने पर छत से कूद कर उसे बुझाया। दिल्ली पुलिस कमिश्ननर श्रीवास्तव ने भी वेलडन सीओ CO भी कहा था। उन्होंने कहा कि हम लोगों ने उत्तर प्रदेश के प्रवेश द्वार लोनी के पास भड़के दंगे से 8-10 दिन तक लगातार प्रदेश की रक्षा की, इसके बावजूद मेरे साथ दुर्व्यवहार किया गया और मेरी एक बात नहीं सुनी गई।
इसके साथ ही एक तलाकशुदा पीड़ित महिला ने मीडिया से रूबरू होकर लोनी थाना प्रभारी बिजेन्द्र भड़ाना पर गम्भीर आरोप लगाते हुए बताया कि न्याय की गुहार लगाने थाना पहुंचने पर सहायता करने के नाम पर आरोपी थाना प्रभारी ने अश्लील हरकत की है।

Related posts

Leave a Comment