आंगनबाडी कर्मचारियों ने कलेक्ट्रेट में किया प्रदर्शन

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। राज्य सरकार द्वारा किसी भी प्रकार के प्रदर्शन और हड़ताल को रोकने के लिए एस्मा लागू किया, इसके बावजूद आज आंगनबाडी कर्मचारियों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर डीएम कार्यालय पर प्रदर्शन किया और सरकार व प्रशासन पर उत्पीड़न करने के आरोप लगाते हुए ज्ञापन दिया।
महिला आंगनबाडी कर्मचारी संघ की जिलाध्यक्ष कृष्णा प्रजापति के नेतृत्व में गुरूवार को आंगनबाडी कर्मचारियों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर डीएम कार्यालय पर अपनी लम्बित मांगों को लेकर प्रदर्शन किया। कृष्णा प्रजापति ने कहा कि जब भी आंगनबाडी कर्मचारियों के द्वारा अपनी समस्याओं को लेकर जिला मुख्यालय पर आकर प्रदर्शन करते हुए अधिकारियों तक बात पहुंचाने का प्रयास किया जाता है तो प्रशासनिक स्तर पर अधिकारियों के द्वारा धमकी देकर उनको रोकने का प्रयास किया जाता है। उन्होंने कहा कि भले ही राज्य सरकार द्वारा महिलाओं के हितों को लेकर काम करने की बात कही जा रही हो, लेकिन आज तक भी आंगनबाडी कर्मचारियों के मानदेय में की गयी वृद्धि के अनुसार भुगतान नहीं किया गया है। इसके साथ ही आंगनबाडी कर्मचारियों के लिए चुनाव के समय किये जाने वाले कार्यों के लिए 120 दिन के सम्मानजनक मानदेय देने के वादा पूरा नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि आज आंगनबाडी कर्मचारियों के हितों को लेकर प्रदेश नेतृत्व के आह्नान पर प्रदर्शन किया गया है। उन्होंने विभिन्न मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा। इस प्रदर्शन में मुख्य रूप से सुधा त्यागी, संगीता भारद्वाज, फुलमेश शर्मा, रितु चौधरी, मधुबाला, चन्द्रकला, शशी बाला, गीता, कमलेश, सुशीला, अजब सिंह, रीता शर्मा, ममता प्रजापति, कुसुम आदि आंगनबाडी कर्मचारी मौजूद रहे।

Related posts

Leave a Comment