अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा के कार्यवाहक राष्ट्रीय अध्यक्ष नन्दकुमार बघेल का 12 दिवसीय उत्तर प्रदेश और दिल्ली दौरा 28 नवंबर तक, 24-25 नवंबर को मेरठ में

शि.वा.ब्यूरो, मुंबई। अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा के कार्यवाहक राष्ट्रीय अध्यक्ष नन्दकुमार बघेल 17 नवंबर से 12 दिवसीय उत्तर प्रदेश और दिल्ली दौरे पर हैं। अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा के 12 दिवसीय उत्तर प्रदेश और दिल्ली दौरे के संबंध में अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी के अनुसार श्री बघेल 17-18 नवंबर को प्रयागराज, 19-20 नवंबर को गोरखपुर, 20-21 नवंबर को लखनऊ, 21-22 नवंबर को झांसी, 22-23 नवंबर को मैनपुरी, 23-24 नवंबर को पीलीभीत और 24-25 नवंबर को मेरठ के बाद 25- 28 नवंबर को दिल्ली में रहेंगे।

कूर्मि कौशल किशोर आर्य ने बताया कि  महासभा के कार्यवाहक राष्ट्रीय अध्यक्ष नन्दकुमार बघेल जी का मोबाइल नं 9406206890 है। श्री आर्य ने महासभा के कार्यकर्ता और कूर्मि समाज के लोगों से अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा के कार्यवाहक राष्ट्रीय अध्यक्ष नन्दकुमार बघेल जी के समय और ऊर्जा का सदुपयोग करते हुए कूर्मि समाज के लोगों को जागरूक और संगठित करने की अपील करते हुए महासभा को उंचाईयों तक ले जाने का आह्वान किया है, ताकि महासभा और कूर्मि समाज के विकास और मजबूती को नये आयाम दिये जा सकें।

बता दें कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पिता नंदकुमार बघेल पिछले दो दशकों से सांस्कृतिक जागरूकता अभियान चला रहे हैं। इस क्रम में उन्होंने ब्राह्मण कुमार रावण को मत मारो शीर्षक से एक पुस्तक की रचना भी की है। श्री बघेल अभी हाल ही में अखिल भारतीय कुर्मी महासभा के कार्यकारी अध्यक्ष मनोनीत किये गये थे। श्री बघेल मूल रूप से मूलनिवासी के समर्थक माने जाते हैं। इसी को लेकर अभी हाल ही में अपने मुख्यमंत्री बेटे से मतभेद हो गया था और वे अपने पुत्र के खिलाफ खुलकर सामने आ गये थे। हुआ यूं था कि उनके सीएम पुत्र पूरे राज्य में राम वनगमन परिपथ का निर्माण करने का प्रयास कर रहे हैैं, लेकिन सीनियर बघेल यानी नंद कुमार बघेल ने राज्य सरकार द्वारा लगाये गये राम मंदिर के बोर्ड को गांववालों की सहायता से हटाकर बौद्ध विहार का बोर्ड लगवा दिया था तथा बुढ़ादेव आर्युर्वेद चिकित्सा अनुसंधान केन्द्र का शिलान्यास भी कर दिया था।

Related posts

Leave a Comment