नोएडा, ग्रेनो और गाजियाबाद समेत पूरे एनसीआर की हवा फिर बिगड़ी

शि.वा.ब्यूरो, नोएडा। दो दिनों तक हालात सामान्य रहने के बाद नोएडा और गाजियाबाद समेत पूरे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में वायु प्रदूषण शुक्रवार जो तसजी से बढ़ा है। वायु प्रदूषण के मामले में शुक्रवार को गाजियाबाद शहर ‘रेड जोन में प्रवेश कर गया है। गाजियाबाद शुक्रवार को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के सर्वाधिक खराब वायु गुणवत्ता वाले शहरों में शामिल है। गाजियाबाद का वायु गुणवत्ता सूचकांक आज 320 दर्ज किया गया, जो ‘अत्यंत खराब श्रेणी में है। प्रदूषण सूचकांक ऐप ‘समीर के अनुसार शुक्रवार रात तक गाजियाबाद में वायु गुणवत्ता सूचकांक 320 दर्ज किया गया है। इसके बाद दूसरे नंबर पर ग्रेटर नोएडा रहा है। जहां वायु गुणवत्ता सूचकांक 310 दर्ज किया गया है।
समीर के अनुसार तीसरे नंबर पर नोएडा है, जहां वायु गुणवत्ता सूचकांक 302 रहा है। इसके अलावा हापुड़ में 207, फरीदाबाद 296, गुरुग्राम 276, आगरा 295, बल्लभगढ़ 270, भिवानी 329 और मेरठ में वायु गुणवत्ता सूचकांक 292 दर्ज किया गया है। गोवर्धन पूजा के दिन हुई बारिश की वजह से राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र की आबोहवा में काफी सुधार आया था। इससे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के ज्यादातर शहर ‘रेड जोन से ‘यलो जोन और ऑरेंज जोन में आ गए थे। किंतु बृहस्पतिवार से राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र की हवा फिर से दूषित होनी शुरू हो गई। यहां के कई प्रमुख शहर अब ‘रेड जोन में आ गए हैं। शून्य से 50 के बीच वायु गुणवत्ता ‘अच्छी, 51 से 100 के बीच संतोषजनक, 101 से 200 के बीच ‘मध्यम, 201 से 300 के बीच ‘खराब, 301 से 400 के बीच ‘अत्यंत खराब और 401 से 500 के बीच वायु गुणवत्ता सूचकांक ‘गंभीर श्रेणी में माना जाता है।

Related posts

Leave a Comment